100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

Essay On Pradhan Mantri ujjwala Yojana In English & Hindi Language

Hello Dear Students Here Is Essay On Pradhan Mantri ujjwala Yojana In English & Hindi Language For School Students Short Essay Paragraph Info About PMUY Scheme In English And Hindi Given Blow.

Essay On Pradhan Mantri ujjwala Yojana In English

Pradhan Mantri ujjwala Yojana is an ambitious social welfare scheme of the NDA government. it was launched on 1st May 2016 from ballia in utter Pradesh. under this scheme, the government aims to provide LPG connections to BPL households in the country.

the scheme is aimed at replacing the unclean cooking fuel mostly used in rural India with the clean and more efficient LPG. the stated objective of the program is providing 50, 0000, 000 LPG connections to women families below the poverty line.

as of 8 November 2016 one million LPG connections had been completed. some of the objectives of the scheme are empowering women and protecting their health, reducing the serious health hazards associated with cooking based on fossil fuel.

reducing the number of deaths in India due to unclean cooking fuel and preventing young children from acute respiratory illnesses caused due to indoor air pollution by burning fossil fuel.

a total budgetary allocation of Rs 8,000 crore has been made by the government for the implementation of the scheme over three years. the scheme will be implemented using the money saved in LPG subsidy through the give it up campaign.

the government has already allocated Rs 2000 crore for ujwala yojana implementation for the financial year 2016-17, within the financial year 2016-17 the government has distributed LPG connections to about 2 crores BPL families.

it is expected that the target will be achieved easily and before time. the scheme has given respect and regard to women of BPL households and women of rural areas.

in Rajasthan, LPG connections have been given to 17 lakh families. according to information, more than one crore consumers have given up LPG subsidy and many more are expected to follow suit.

Essay On Pradhan Mantri ujjwala Yojana In Hindi Language

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना एनडीए सरकार की एक महत्वाकांक्षी सामाजिक कल्याण योजना है। इसे 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया से लॉन्च किया गया था। इस योजना के तहत, सरकार का लक्ष्य देश में बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है.

इस योजना का उद्देश्य साफ-सुथरे और अधिक कुशल एलपीजी के साथ ग्रामीण भारत में इस्तेमाल होने वाले अशुद्ध खाना पकाने वाले ईंधन की जगह लेना है। कार्यक्रम का घोषित उद्देश्य गरीबी रेखा के नीचे महिला परिवारों को 50, 0000, 000 एलपीजी कनेक्शन प्रदान कर रहा है।

8 नवंबर 2016 तक एक मिलियन एलपीजी कनेक्शन पूरे हो चुके थे। योजना के कुछ उद्देश्य महिलाओं को सशक्त बनाना और उनके स्वास्थ्य की रक्षा करना, जीवाश्म ईंधन पर आधारित खाना पकाने से जुड़े गंभीर स्वास्थ्य खतरों को कम करना है.

अशुद्ध खाना पकाने के ईंधन के कारण भारत में होने वाली मौतों की संख्या को कम करना और छोटे बच्चों को तीव्र श्वसन रोगों के कारण जीवाश्म ईंधन को जलाने से इनडोर वायु प्रदूषण के कारण होता है।

तीन वर्षों में योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा कुल 8,000 करोड़ रुपये का बजटीय आवंटन किया गया है। एलपीजी सब्सिडी में बचाए गए धन का उपयोग कर इसे अभियान के माध्यम से लागू किया जाएगा.

सरकार ने वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए उज्ज्वला योजना के कार्यान्वयन के लिए पहले ही 2000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं, वित्तीय वर्ष 2016-17 के भीतर सरकार ने लगभग 2 करोड़ बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन वितरित किए हैं।

यह उम्मीद की जाती है कि लक्ष्य आसानी से और समय से पहले हासिल किया जाएगा। योजना में बीपीएल परिवारों की महिलाओं और ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को सम्मान और सम्मान दिया गया है।

राजस्थान में, 17 लाख परिवारों को एलपीजी कनेक्शन दिए गए हैं। जानकारी के अनुसार, एक करोड़ से अधिक उपभोक्ताओं ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी है और कई और लोगों को सूट का पालन करने की उम्मीद है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे