100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

short essay on ambedkar jayanti in hindi | अम्बेडकर जयंती पर निबंध

short essay on ambedkar jayanti in hindi अम्बेडकर जयंती पर निबंध: भारत ही नहीं दुनियां भर में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर का नाम बड़े सम्मान व आदर के साथ लिया जाता हैं. वे भारत में महापुरुष थे आज के लोकतांत्रिक भारत के निर्माण में उनका अहम किरदार था. आज हम अम्बेडकर जयंती पर संक्षिप्त निबंध यहाँ जानेगे.

short essay on ambedkar jayanti in hindi

अंबेडकर जयंती निबंध : भारत के महान कानूनी ज्ञाता, दलितों के मसीहा तथा संविधान के निर्माता डॉ भीम राव रामजी अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को मध्यप्रदेश के मऊ में हुआ था. दलित परिवार में जन्में बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर के जन्मदिन 14 अप्रैल को ही अम्बेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता हैं. इनके पिताजी का नाम रामजी मालोजी सकपाल तथा माताजी का नाम भीमाबाई था. 

जब वे पिछड़े दबे समुदाय के लोगों के सर्वमान्य नेता बने तो इन्हें लोगों ने बाबा साहेब की उपाधि दी. भारत के आजादी के दौर में सबसे बड़े कानूनी जानकार के रूप में सामने आए. वे भारतीय समाज में उच्च जाति एवं निम्न जाति के मध्य के सामाजिक भेदभाव के विरोधी थे. जीवनभर अम्बेडकर ने सामाजिक समानता के लिए कार्य किया.

जब 1947 में भारत स्वतंत्र हो गया तब इन्हें नेहरु केबिनेट में कानून मंत्री का पद दिया गया. वे भारतीय संविधान निर्मात्री सभा के अध्यक्ष थे. इन्ही के नेतृत्व में सम्पूर्ण भारतीय संविधान का प्रारूप तैयार हुआ और इसके निर्माण का कार्य पूरा हुआ. दुनिया अम्बेडकर को सदी का सबसे बड़ा समाज सुधारक, दलित उद्धारक कानूनी विशेष्यज्ञ के रूप में स्मरण करती हैं.

उन्होंने आजीवन भारत की पूर्ण निष्ठा से सेवा की, राष्ट्र ने अम्बेडकर को सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया. हर साल 14 अप्रैल के दिन देशभर में अम्बेडकर जयंती को धूमधाम से मनाया जाता हैं. सरकारी एवं सामुदायिक स्तर पर कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं. इस अवसर पर उनकी प्रतिमा पर पुष्पमाला अर्पित की जाती हैं शहर, गली में उनकी शोभा यात्राएं निकाली जाती हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे