100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

पुलिस पर निबंध Essay on police In Hindi

नमस्कार साथियों आज हम पुलिस पर निबंध Essay on police In Hindi पढ़ेगे. छोटी कक्षाओं के स्टूडेट्स के लिए पुलिस समाज रक्षक विषय पर सरल भाषा में यहाँ निबंध दिया गया हैं. हम उम्मीद करते हैं यह आपकों बहुत पसंद भी आएगा.

पुलिस पर निबंध Essay on police In Hindi 

हमारा देश विश्व के सबसे सुरक्षित देशो में गिना जाता है. देश की सुरक्षा के अनेक प्रकार होते है. पर प्रमुख रूप से देश की सुरक्षा दो रूप से होती है. पहला बाह्य सुरक्षा तथा दूसरा आंतरिक सुरक्षा हमारे देश में बाह्य सुरक्षा का जिम्मा सैनिको के पास है. वही आंतरिक जिम्मा पुलिस के पास होता है. 

देश के लिए दोनों सुरक्षा का होना आवश्यक है. पुलिस देश की आंतरिक व्यवस्था पर नियंत्रण बनाते है. पुलिस देश को शांति प्रदान करती है.पुलिस के होने से ही हम आज सुरक्षित है. व्यक्तियों के आपसी विवाद को निपटाने का कार्य पुलिस प्रशासन का होता है.

देश के आंतरिक मामलों को निपटाना तथा आंतरिक शांति बनाये रखना तथा देश में हो रहे अपराधो को रोकने में पुलिस अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है. देश के प्रत्येक व्यक्ति का अधिकार है. कि वह अपने संकट में पुलिस की सहयता ले सकता है. और आज के समय में प्रत्येक दिन अनगिनत ऐसे मामले होते है.

हमारे देश का प्रथम कर्तव्य है. कि वह अपने प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा प्रदान करें.इसलिए देश के प्रत्येक नागरिक को अपनी सुरक्षा के अधिकार प्राप्त है.  आज के समय में भी लोग कानूनों की पालना करते है. उसका कारण पुलिस ही है. पुलिस अपने बल के आधार पर कानूनों का पालना कराती है. 

पुलिस के बिना आज का हम एक शांत प्रशासन की उम्मीद भी नहीं कर सकते है. आज हमारे देश का प्रत्येक नागरिक कानूनों का सम्मान करता है. तथा अनुशासन युक्त जीवन जीता है. इसके पीछे का कारण हमारे देश की पुलिस है. पुलिस को अधिकार होते है. 


वे अपराधी को सजा दे सकते है. आज हर जगह पुलिस की जरुरत पड़ती है. चाहे कोई चुनाव के मामले हो या फिर कोई अभियान सभी जगह अनुशासन बनाये रखने तथा शांति बनाये रखने के लिए पुलिस अहम भूमिका अदा करता है.


मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है. समाज में होने वाले आपसी विवादों को शिकायत भी पुलिस करती है. तथा उन्हें न्याय दिलाती है. पुलिस बनाना आसन काम नहीं है. पुलिस बनने के लिए कड़ी से कड़ी ट्रेनिंग को पार करता पड़ता है. पुलिस की नौकरी पाना ही मुश्किल नहीं है. बल्कि पुलिस की नौकरी करना भी मुश्किल होता है. इन्हें 24 घंटे बिना आराम ड्यूटी देनी होती है. इन्हें किस समय तथा कहाँ जाना है. ये भी इन्हें मालूम नहीं होता है.


समाज में हो रहे अपराधो  चोरी, डैकती, हत्या, दंगे,लूटमार,अधिकारों का हनन आदि परस्थिति में पुलिस लोगो की सहायता करता है. तथा अपराधियों को सजा दिलाता है. इन्हें बड़े से बड़े खूंखार अपराधियों को पकड़ना होता है. कई बार तो अपराधियों के जाल में फंसकर पुलिस वालो को अपनी जान भी गवानी पड़ती है. पर कई बार ये जब बड़े अपराधी को कोर्ट तक पहुंचा देते है. तो इनको सम्मान दिया जाता है.


जो लोग पुलिस में होते है. वे कई महीनो तक घर नहीं जा पाते है. हर समय अपने प्राणों को दांव पर लगाकर देश के नागरिको की सुरक्षा करते है. समाज के लिए पुलिस भगवान के समान होती है. ये हर समय समाज को सहायता प्रदान करती है. पुलिस समाज सेवी होते है.

''हम हर काम के लिए पुलिस को कोसते है,

पर जब दुविधा हो तो पुलिस को ही खोजते है.''

अधिकांश पुलिस वाले बहुत ईमानदार होते है. तथा हर कार्य को ईमानदारी साथ तथा निस्वार्थ भाव के करते है. पर कुछ पुलिस वाले अपने लालच को पूरा करने का प्रयास करते है. जनता को लुटेरो से तो बचाते है. पर समाज को खुद लुट जाते है. कुछ बुद्धि भ्रष्ट पुलिसवालों की वजह से पुरे पुलिस प्रशासन को कलंग लगती है. इसलिए इस प्रकार के पुलिस जो रिश्वत लेकर कार्य करते है. या किसी अपराधी को छोड़ देते है. ऐसे पुलिसवालों के खिलाफ हमे कदम उठाने चाहिए. तथा जो इस प्रकार की हरकत करे. उसे निलंबित किया जाए. तभी हमारा समाज सुरक्षित तथा शांति से अपना जीवन जी पायेगा.


यदि पुलिस प्रशासन नहीं होता तो आज हमारे देश में आजरकता का फैलाव बढ़ा होता और हर व्यक्ति कानूनों का उलंघन करता. कोई व्यक्ति किसी भी व्यक्ति को निर्भय होकर मरता और इस प्रकार समाज  के लोग एक-दुसरे के दुश्मन बन जाते. पर हम भाग्यशाली है. कि हमारे देश में मजबूत पुलिस प्रशासन है. और इसी कारण हमारे देश में अपराधो की संख्या बहुत कम हो रहे है. सड़को पर ट्राफिक जाम को पुलिस संभालती है. तथा राजनेताओ की रैलियों में शांति बनाने का कार्य भी पुलिस प्रशासन ही करती है. 


कानूनों की सुरक्षा व्यवस्था पुलिस ही करती है. कानूनों का निर्माण पुलिस नहीं करती पर पुलिस के बिना कानून अधूरे होते है. जब कानूनों की सुरक्षा न हो तो कानूनों का कोई महत्व नहीं होता है. इसलिए कानूनों के लिए पुलिस बहुत महत्वपूर्ण होता है. कई बार लोग सरकार पर गुस्सा करते है. और बड़े-बड़े अभियान तथा हड़ताल चलाकर सरकार का विरोध करते है. और कई बार इस समय लोग कई कार्य ऐसे भी करते है. जिससे सरकार को काफी नुकसान का सामना करना पड़ता है. इस समय में लोगो को समझा बुझाकर हड़ताल या अभियान पर काबू पाना पुलिस का कर्तव्य होता है.


समाज में होने वाले सामाजिक भेदभाव के आधार पर हो रहे अपराधो को पुलिस रोकने का प्रयास करती है. और जब लोग भेदभाव को ज्यादा बढ़ावा देते है. इस स्थिति में पुलिस उन्हें गिरप्तार भी कर सकती है. पुलिस के होते समाज में हिंसा नहीं हो सकती है. जो भी होगा. पुलिस की उपलब्धता में होगा. और पुलिस कभी-भी बुरा कार्य नहीं करेगी. जिससे समाज या देश को कोई हानि हो.


जो लोग ट्रैफिक नियमो का पालन नहीं करते है. हेलमेंट नहीं पहनते है. शिट बेल्ट का प्रयोग नहीं करते है. आदि अनेक यातायात के नियमो का उलंघन करने वाले व्यक्ति  पर पुलिस जुर्माना लगा सकती है. इस प्रकार पुलिस यातायात के नियमो के लिए भी सहायक है. आज देश में अधिक जनसंख्या होने के कारण कई बार लोगो को न्याय नहीं मिल पाता है. इस पर लोग पुलिस पर भड़कते है.


अपने जीवन में पुलिस बहुत महत्वपूर्ण होती है. पुलिस हमारी प्रत्येक समस्या में हमारी सहायता करती है. पुलिस हमेशा सतर्क और सावधान रहती है. किसी भी स्थान पर सबसे पहले पुलिस पहुंचती है. आपातकाल के समय में पुलिस अपनी जान को जोखिम में डालकर सभी की सहायता करते है.


पुलिस से ही अपराधो पर अंकुश लगाया जा सकता है.पर ज्यो-ज्यो देश की सुरक्षा मे पुलिस की ज़िम्मेदारी बढ़ रही है। ज्यो-ज्यो पुलिस मे भ्रष्टाचार बढ़ रहा है। आज तकरीबन 60 प्रतिशत पुलिस भ्रष्ट होती है। इसी कारण लोग पुलिस पर विश्वास नहीं करते है। और ताने भी मारते है। इस स्थिति से पुलिस को उभरने के लिए ईमानदारी के साथ कार्य करना होगा। यदि पुलिस की स्थिति यहीं रही तो ये हमारे और हमारे समाज के लिए बहुत भयानक होने वाला है। लोगो को लुटेरो,चोरो और हत्यारो से ज्यादा भाय पुलिस पर होगा।


पुलिस का देश के विकास मे महवपूर्ण योगदान होता है। पुलिस का कर्तव्य है। कि वह देश कि आंतरिक व्यवस्था को शांति पूर्ण बनाए रखे। देश मे हो रहे अपराधो पर पूर्ण रूप से रोक लगाए तथा अपराधियो को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए जिससे अपराध करने से लोग मे भय बना रहे। और इसी प्रकार हमारा समाज हमारा देश अपराधो से मुक्त होगा। जब देश की आंतरिक व्यवस्था उच्च रहेगी। तो निश्चय ही देश मे प्रगति होगी।

प्रिय दर्शको आज का हमारा लेख पुलिस पर निबंध Essay on police In Hindi आपको कैसा लगा कामें मे अपनी राय दें। यदि पसंद आया तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करें।