100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

पश्चिम बंगाल पर निबंध Essay on West Bengal in Hindi

मेरा राज्य पश्चिम बंगाल पर निबंध Essay on West Bengal in Hindi-नमस्कार दोस्तों आज हम भारत के एक और महत्वपूर्ण राज्य तथा पूर्वी भारत की शान पश्चिम बंगाल के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे.

पश्चिम बंगाल पर निबंध Essay on West Bengal in Hindi

पश्चिम बंगाल पर निबंध Essay on West Bengal in Hindi
पश्चिम बंगाल भारत का एक एक पूर्वी राज्य है. बंगाल की सीमा पांच राज्यों से लगती है. जो ओडिशा, झारखंड, सिक्किम, असम, बिहार है. साथ ही इसकी सीमा तीन देशो से भी लगती है. जो कि नेपाल, भूटान तथा बांग्लादेश से लगती है.

इस राज्य की स्थापना 26 जनवरी 1950 को की गई थी. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता है. जो देश का तीसरा सबसे सुंदर शहर है. जिसका हर रंग निराला है. इसे सिटी ऑफ़ जॉय के नाम से जानते है. ये शहर हुगली नदी के किनारे बसा हुआ है.

कोलकाता भारत का सबसे बड़ा व्यवसायिक स्थल माना जाता है. 1772 से 1911 तक इस शहर को भारत की राजधानी माना जाता था. ये व्यवसयिक क्षेत्र में काफी समृद है.

इस राज्य के लोग स्वाभिमान, निष्ठावान तथा दिलेर है. जो भारतीय संस्कृति का अनुसरण करते है. इस राज्य के लोग अपनी भाषा की रक्षा के लिए कई बार संघर्ष कर चुके है.

बंगाल को भारत का सबसे बुद्धिमान राज्य माना जाता है. गोपाल कृष्ण गोखले ने कहा कि जो आज बंगाल सोच रहा है. वो एक साल बाद पूरा भारत सोचेगा. यानी गोखले ने बंगाल को सबसे श्रेष्ठ बताया है.

इस राज्य का क्षेत्रफल 88,853 वर्ग किमी है. बंगाल क्रांतिकारियों और देशभक्तों की भूमि रही है. यहाँ एक से बढ़कर एक वक्ताओ ने जन्म लिया है. इस राज्य का देश में विलय सबसे बड़ी सफलता थी.

बंगाल एक बड़ा पूर्वी भाग था. जिस पर अनेक युद्ध हुए. इस भूमि पर अनेक शासको ने शासन किया. जिस कारण इसे कई बार लुटा गया. ये हमेशा से खजाना रहा है. इसके लिए देश सबकुछ करने को तैयार रहता था.

जब देश की आजादी हुई. उस समय बंगाल को जातीय व्यवस्था के आधार पर दो भागो में विभाजित कर दिया गया. जिसमे पूर्वी भाग को मुस्लिम लीग तथा पश्चिम बंगाल को हिन्दू लीग का बंगाल बना दिया.

बंगाल जैसे प्रान्त को धर्म के आधार पर दो भागो में विभाजित करने के बाद पूर्वी बंगाल यानी मुस्लिम लीग वाला बंगाल बांग्लादेश बन गया. तथा पाकिस्तान को धर्म के आधार पर अलग करने के कारण पूर्वी बंगाल को भी पाकिस्तान में शामिल किया गया.

पश्चिम बंगाल में वर्तमान समय में साक्षरता दर काफी मजबूत है, जो अन्य राज्यों से बेहतर है. साथ ही यहाँ प्रति व्यक्ति आय भी काफी बेहतर है. यहाँ के लोगो के लिए व्यवस्था भी काफी अच्छे ढंग से की गई है.

इस राज्य में 23 जिले है. जो कि निम्न है-
  1. दार्जिलिंग
  2. जलपाईगुड़ी
  3. कूचबिहार
  4. उत्तर दिनाजपुर
  5. दक्षिण दिनाजपुर
  6. मालदा
  7. बीरभूम
  8. मुर्शिदाबाद
  9. पूर्व बर्धमान
  10. नदिया
  11. पुरुलिया
  12. बांकुड़ा
  13. हुगली
  14. उत्तर 24 परगना
  15. पूर्व मेदिनीपुर
  16. हावड़ा
  17. कोलकाता
  18. दक्षिण २४ परगना
  19. पश्चिम मेदिनीपुर
  20. अलीपुरद्वार
  21. कलिम्पोंग
  22. झाड़ग्राम
  23. पश्चिम बर्धमान
नृत्य इस राज्य की प्रमुख विशेषताओं में से एक है. इस राज्य के लोग नृत्य में निपुण है. दुर्गा पूजा जैसे पर्व पर लगातर लम्बे समय तक लोग नृत्य करते है. यहाँ सभी धर्मो के लोग मिल झूलकर रहते है.

इस राज्य में 70 प्रतिशत हिन्दू तथा 29 प्रतिशत के करीब मुस्लिम लोग रहते है. सभी मिलकर त्यौहार मनाते है. तथा सभी उत्सव में भाग लेते है. पश्चिम बंगाल में धार्मिकता के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाता है.

पश्चिम बंगाल देश का एकमात्र ऐसा राज्य है. जहा हिन्दू धर्म को मुस्लिम धर्म के साथ विवाह करने तथा मुस्लिम को हिन्दू के साथ विवाह करने की स्वतंत्रता है. इस उदहारण से हम आपसी प्रेम को समझ सकते है.

पश्चिम बंगाल का मुख्य खेल क्रिकेट तथा फुटबाल है. इस राज्य से अनेक खिलाडी हुए है. जिन्होंने देश का नाम कमाया है. उनमे से एक है. भारतीय टीम के पूर्व कप्तान दादा सौरव गांगुली जो कि पश्चिम बंगाल से है.

कुछ महान व्यक्ति जो इस राज्य से है. उनमे सुभाष चंद्र बोस स्वामी विवेकानंद, रविंद्रनाथ टैगोर, किशोर कुमार जगदीश चंद्र बोस, ममता बनर्जी तथा रामकृष्ण परमहंस आदि प्रमुख थे.

बंगाल में अनेक कवि तथा साहित्यकार हुए. जिन्होंने अपने लेखन से सभी को प्रभावित किया. जिसमे देश का राष्ट्रगीत रचयिता तथा राष्ट्रगान रचयिता भी इसी राज्य से है.

भारत ही नहीं बल्कि अनेक देशो का राष्ट्रगान रवीन्द्रनाथ द्वारा लिखा गया था. टैगोर पहले नोबोल पुरस्कार प्राप्त करने वाले व्यक्ति बने. रवीन्द्रनाथ के गीतों को संगृहीत कर रखा गया है.

रविन्द्रसंगीत नामक ग्रन्थ में रवीन्द्रनाथ के सभी गीत आज भी लोगो द्वारा खूब पढ़े जाते है. तथा पसंद किये जाते है. इनका लेखन संस्कृति को काफी प्रभावित करता है.

पश्चिम बंगाल के कुछ पर्यटन स्थल

हिमालय की गोदी में बसा ये राज्य दक्षिण में बंगाल की खाड़ी से जुदा हुआ है. ये राज्य अपनी सांस्कृतिक और कला के लिए काफी प्रसिद्ध है. इस राज्य में अनेक स्थल है. जो सभी को अपनी ओर आकर्षित करते है.

कोलकाता शहर-ये शहर इस राज्य की राजधानी के साथ साथ इस राज्य का सबसे अच्छा पर्यटन स्थल भी है. यहाँ अनेक जगह है, जो आपको शांतिपूर्ण जीवन तथा प्रकृति की अनूठी पराक्रम दिखने को मिलता है.

सिलीगुड़ी- इस स्थान पर भारत के श्रेष्ठ रेलवे स्टेशनों में से एक हिल स्टेशन बना हुआ है. जो काफी मनोरंजक तथा भव्य है. ये नर्मदा नदी के तट पर बसा हुआ है. ये एक छोटा गाँव है, पर पर्यटन की दृष्टि से काफी अच्छा स्थल है.

सुंदरबन- ये पार्क दुनिया के विशालकाय वनों में गिना जाता है. इसमें अनेक प्रजाति के जानवर आपको देखने को मिलेंगे. जिसमे यहाँ रॉयल बंगाली टाइगर भी यहाँ पाया जाता है. इस पार्क की महता के कारण इसे विश्व धरोहर में शामिल किया गया है.

यहाँ आप रॉयल बंगाली टाइगर के साथ हिरन और अन्य जानवरों को देख सकते है. ये यहाँ का सबसे अच्छा पर्यटन स्थल है. शीत ऋतू से पहले और गर्मी ऋतू से बाद में यहाँ यात्रा का सबसे अच्छा समय रहेगा.

हावड़ा- ये शहर हुगली नदी के तट पर बसा हुआ है. ये शहर परिवहन का प्रमुख केंद्र माना जाता है. इस शहर का प्राकृतिक दृश्य दिल को छू जाता है. हुगली नदी पर बना ब्रिज आकर्षण का प्रमुख साधन है.

गंगा सागर- ये पश्चिम बंगाल का प्रमुख धार्मिक स्थल है. ये बंगाल की खाड़ी के पास स्थित है. ये एक द्वीप है, जो गंगा नदी द्वारा बना है. यहाँ लोग स्नान कर पूण्य प्राप्त करते है. इस जगह से गंगा नदी बंगाल की खाड़ी में प्रवाहित होती है.

ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख पश्चिम बंगाल पर निबंध Essay on West Bengal in Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.