100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

मेरी सहेली पर निबंध | Short Essay On Meri Saheli In Hindi

मेरी सहेली पर निबंध | Short Essay On Meri Saheli In Hindi: नमस्कार दोस्तों आज के निबंध में आपका स्वागत है.यहाँ मेरी प्रिय सहेली पर भाषण, निबंध, अनुच्छेद दिया गया है. सरल भाषा में लिखे गये इस निबंध को पढ़ते हैं.

Short Essay On Meri Saheli In Hindi

जीवन में मित्रों यारो सखी सहेलियों का अपना अलग ही महत्व हैं. इनके बिना जीवन बेरंग का प्रतीत होता हैं. हम जीवन में कई लोगों से मिलते हैं कई सहेलियाँ बनाते है मगर कुछ प्रिय सहेली खास होती हैं. मेरी बेस्ट फ्रेंड टीना हैं. जो हमारे घर के पास ही रहती हैं. मेरे और टीना के बीच कई सारी समानताएं जिसके कारण वह मुझे बेहद प्रिय हैं. हम दोनों एक ही स्कूल की एक ही क्लास में पढ़ते है इस कारण हमारा आना जाना भी साथ होता हैं.

घर आने के बाद मैं और टीना हमारे घर की छत पर जाकर साथ ही पढ़ती एवं खेलती हैं. हमारी दोनों की समझ कुछ एक जैसी ही हैं. हमेशा एक दूसरे के सुख दुःख में हाथ बंटाती हैं यह एक सच्ची सहेली का दायित्व भी हैं. हमारे बीच काफी हंसी मजाक एवं मस्ती भी चलती रहती हैं. 

हमारी स्कूल की कई लड़कियों के साथ मेरी अच्छी मित्रता हैं, मगर बहुत सी लड़कियाँ केवल अपने स्वार्थ तक ही दोस्ती निभाती है. मगर मेरी और टीना की यारी में स्वार्थ की कोई गुंजाइश नहीं है. हम दोनों मध्यमवर्गीय परिवार से हैं नित्य साथ साथ बैठती है साथ ही खाना पीना एवं घूमना होता हैं. मेरी प्रिय सहेली टीना की एक आदत जो मुझे बहुत अच्छी लगती है वह है उसका शांत स्वभाव. वह बहुत कम बोलती है सुशिल एवं स्पष्टवादी लडकी हैं.

बिना मतलब के किसी से बात या झगड़ा नहीं करती है इसलिए कक्षा की सभी लड़कियाँ उसका सम्मानम करती हैं. हमारी क्लास की सबसे होशियार स्टूडेंट मेरी सहेली ही हैं जो कमजोर साथियों की मदद करने में भी नहीं हिचकिचाती हैं. गहन लग्न एवं मेहनत के दम पर वह हर साल कक्षा में प्रथम स्थान हासिल करती हैं इस कारण सभी शिक्षिकाएं भी उसे पसंद करती हैं.

टीना के पिता किराने के छोटे व्यापारी है जो हमारे ही मोहल्ले में एक दूकान चलाते है उनकी माँ गृहणी है उसके एक छोटा भाई भी है जो पांचवी कक्षा में पढ़ता हैं. टीना एक आदर्श लडकी है जिसकी अच्छी आदते तथा व्यवहार उसके चरित्र को महान बनाते हैं. वह मेरी सबसे पसंदीदा सहेली होने के कारण हमारे बीच बहुत कम व्यक्तिगत रहस्य रह जाते हैं हम दुसरे को अच्छी तरह जानते हैं.

मेरी सहेली एक होशियार स्टूडेंट्स के साथ ही कबड्डी की अच्छी खिलाड़ी भी हैं, वे एक बार राज्य स्तरीय पर चुनी जा चुकी हैं. जब भी हमारी स्कूल में कबड्डी के खेल का आयोजन होता हैं वह बड़ी शिद्दत से खेलती है तथा सभी के दिलों को जीत लेती हैं. उसने कबड्डी में कई ट्रोफी एवं पदक भी जीते हैं. टीना माता पिता व बड़ो की आज्ञा का पालन करती है तथा उनका सम्मान भी करती हैं. शिक्षकों को सम्मान देती है सभी से प्रेमभाव से बात करती है इस कारण वह हमारी कक्षा की मोनिटर भी हैं.

टीना गणित में अच्छी पकड़ रखती हैं वह गणित के सवालों को हल करने में अन्य साथियों की मदद करती हैं. परीक्षा के दिनों में हम दोनों साथ बैठकर ही परीक्षा की तैयारी करती हैं. मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा हैं मैं भगवान को टीना के रूप में एक अच्छी सहेली देने के लिए धन्यवाद देती हूँ.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे