100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

ताजमहल पर निबंध Essay on Taj Mahal in Hindi

 ताजमहल पर निबंध Essay on Taj Mahal in Hindi

भारत एक ऐसा देश है। जिसमे जगह-जगह पर ऐतिहासिक स्थल बने हुए है। जिसमे एक नाम ताजमहल का भी आता है। ये महल आगरा [उत्तरप्रदेश] मे स्थित है। ये महल देश की आन-बान तथा शान को दर्शाता है। इसे प्रेम का प्रतीक भी कहते है। इसके आस-पास का क्षेत्र स्वर्ग के जैसा दिखता है। इसे बनाने मे सफ़ेद संगमरमर का उपयोग किया गया है।  ये बहुत विशाल क्षेत्र मे फैला हुआ है। 

प्रस्तावना

ताजमहल भारत का सबसे  ऐतिहासिक महल माना जाता है। यह महल दुनिया को 7 आश्चर्यों मे महत्वपूर्ण जगह रखता है। इसकी बनावट इतनी खूबसूरत है। कि लोग इसे देखने विदेशो से यहा तक आते है। इस महल के आस-पास के सभी पेड़-पौधो तथा पालतू जानवरो को भी सजाया जाता है। तथा इसके पीछे एक बहुत बड़ी नदी भी है। ये नदी बहुत खूबसूरत है। तथा यात्री इस नदी के जल को पीते है।

ताजमहल का निर्माण कब, किसने व क्यों कराया?

ताजमहल का निर्माण शाहजहां द्वारा 1631 ई० मे किया गया था। कहा जाता है। कि इस महल का निर्माण शाहजहां द्वारा उनकी रानी मुमताज महल की याद मे किया गया था। मुमताज महल मुगल सम्राट की सबसे विख्यात रानी थी।

मुमताज महल ने 14 बच्चो को जन्म दिया। 14वें बच्चे को जन्म देने के बाद उनकी मृत्यु हो गयी थी।शाहजहां सबसे ज्यादा प्यार उनकी तीसरी रानी मुमताज महल से करता था। इसलिए उन्होने मुमताज महल की याद मे इस महल का निर्माण कराया था। ये महल मुमताज महल की मकबरा के रूप मे बनाया गया था।

ताजमहल की सुंदरता

ताजमहल तथा उनके आस-पास का वातावरण बहुत ही आकर्षित करता है। इस महल की सुंदरता देखते ही बनती है। सूर्य की किरणों के साथ बहुत ज्यादा चमकदार तथा रंग-बिरंगा बान जाता है। यह महल ताजमहल आगरा मे यमुना नदी के किनारे बचा हुआ एक भव्य महल है।

 इसमे कई प्रकार की शाही कलाकृतियों बनाई गई है। इस महल के आस- पास मे घास तथा पेड़-पौधे इस महल की सुंदरता को और भी बढ़ावा देते है। इस महल मे फव्वारे लगे हुए है जो कि इस महल की कब्र मे प्रवेश करते है।

ताज महल का निर्माण करने मे बीस वर्ष का समय लगा था। ये महल यमुना नदी के किनारे बचा हुआ एक भव्य महल है। ये महल आगरा फोर्ट से तीन किलोमीटर दूरी पर स्थित है। इस महल के सफ़ेद संगमरमर पर कुरानों की आयतें लिखी गयी है। इस महल मे एक संग्रालय बना हुआ है। जिसमे मुगल हथियारो को रखा करते थे। इस महल के चरो और पेड़-पौधो की पंक्तिया है। जो कि इस किले की शोभा बढ़ाते है।

पर्यटन

ताजमहल भारत का सबसे शानदार ऐतिहासिक महल है। इसे देखने विदेश से प्रत्येक वर्ष 15-30 लाख लोग आते है। तथा इस महल की महिमा गाते है। और इस महल का प्रसार-प्रचार करते है। यह महल भारत मे ही नहीं बल्कि पूरे विश्व मे अपनी सुंदरता के लिए विख्यात है।

 इस महल को देखने सबसे ज्यादा लोग शीत ऋतु मे आते है। ये महल लोगो को आश्चर्यचकित करने वाले किलो मे से एक है। इस किले के दक्षिण मे एक छोटी बस्ती है। उसे ताजगंग तथा मुमताजगंज के नाम से भी जानते है। इस किले मे आप अपने खाने-पीने की सामाग्री को साथ मे ले सकते है। 

मीनार 

ताजमहल के चारो कोनो पर मीनार बने हुए है। ये प्रत्येक मीनार 40 मीटर ऊंचाई का बना हुआ है। ये मीनार ताजमहल की शौभा को और भी बढ़ाते है।  इन मीनार पर कमलाकर कलश का निर्माण भी किया गाय है। वर्तमान मे ये मीनार बहुत जयद झुके हुए है। जिससे ये कभी-भी गिर सकती है। हम आशा करते है। कि ये महल को किसी भी प्रकार  की क्षति न पहुंचाए।

ताजमहल की संरचना तथा प्रारूप

ताजमहल का निर्माण विश्व के अलग-अलग हिस्सो से चुन-चुन कर कारीगरों द्वारा इस महल का निर्माण किया गया था। मुगलो द्वारा बनाए गए सभी महलो मे लाल पत्थर का प्रयोग किया गया था। परंतु इस महल के निर्माण मे सफ़ेद संगमरमर का प्रयोग किया गया है। तथा इसमे 28 पत्थरो का भी उपयोग किया गया है।

इस महल की सौंदर्यता को बढ़ाने के लिए नक्काशी तथा हीरो का इस्तेमाल किया गया है। इस महल को बनाने मे 20 कारीगरों ने बीस वर्ष का समय लिया था। इस महल मे शाहजहाँ तथा उनकी तीसरी पत्नी मुमताज महल की मकबरा बनाई गयी है।

इस महल का निर्माण करने मे लगभग 2000 कारीगरों ने अपना योगदान दिया था। शाहजहाँ ने इस महल का निर्माण करने के बाद सभी कारीगरों के हाथ काट दिये थे। शाहजहाँ का उद्देश्य था। कि ताजमहल के जैसा कोई और महल न बनें।  

उपसंहार

ताजमहल भारत का ही नहीं बल्कि विश्व का सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल माना जाता है। ये विश्व के 7 अजूबों मे से एक है। इसकी गणना सात अजूबो मे 2007 मे कि गई थी। ये महल यमुना नदी के दाहिने तट पर स्थित है। इसका प्रवेश द्वारा बहुत ही विशाल तथा चमकदार है। ताजमहल एक अदभूत रचना है। ताजमहल भारत सरकार के लिए आय का प्रमुख साधन है।