100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

कलम पर निबंध Essay On Pen In Hindi

कलम पर निबंध Essay On Pen In Hindi 

आज के जमाने मे हर व्यक्ति को कल्म की जरूरत होती है। यहा तक कि अनपढ़ लोग भी इसका प्रयोग करते है। कलम लिखने के काम आती है। हमे कुछ भी लिखने के लिए कलम की जरूरत होती है। कलम को अँग्रेजी भाषा मे पेन कहते है। इसलिए हम भी अपने पूर्वजो की तरह अंगेजों के पेन शब्द का प्रयोग करते है। 


कलम की धार तलवार की धार से कम नहीं होती है। कलम मे स्याही भरी होती है। तथा इसका मुंह (निप ) लोहे का मजबूत बना होता है। क्योकि लिखते समय इसी मुंह से लिखा जाता है। कलम अनेक अलग-अलग रंगो के होते है। कलम का रंग उसमे डाली गई। स्याही पर निर्भर करती है। जैसी स्याही होगी। वैसा ही कलम चलेगी। किसी भी लिखित चीज को सुरक्षित रखने के लिए आज भी कलम का प्रयोग किया जाता है। 


कलम का प्रयोग प्राचीन समय से किया जा रहा कलम से एक राजा दूसरे राजा को पत्र लिखकर भेजता था। प्राचीन समय मे अधिकांश ग्रंथो को कलम द्वारा लिखा गया है। तथा राजा किसी भी प्रकार की घोषणा को पत्र पर लिखकर भेजता था।


कलम हमारे से लेकर मृत्यु तक हमारे काम आती है। कलम से खुशी दुख जन्म मृत्यु का पैगाम लिखा जाता है। ये लिखने का सबसे सरल तथा साधारण साधन है। इसे वर्तमान मे उपलब्ध कीबोर्ड तथा माउस भी नहीं हरा सकते है। ये पारंपरिक उपकरण है। इसलिए आज के डिजिटल युग के लेखन के उपकरण इसके आगे न के बराबर है। 


आज भी लोग कलम से कहानी, कविता, जीवनी, खोज, गीत, प्रयोग, थीसिस, शोध पत्र,प्रतिज्ञ पत्र आदि का लेखन करते है। यहा तक कि कलम से वकील द्वारा व्यक्ति को मौत की सजा भी सुनाई जाती है। परंतु वकील व्यक्ति को मौत को सजाए मौत के पत्र पर हस्ताक्षर करने के बाद उस कलम को तोड़ देता है। 


इसका कारण ये होता है। कि वकील ये नहीं चाहता कि किसी व्यक्ति को मौत की सजा देने पर जिस कलम से हस्ताक्षर किए जाते है। उस कलम का प्रयोग अन्य किसी कार्य के लिए न हो इसलिए वे कलम का निप तोड़ देते है। कलम अलग-अलग व्यक्तियों के लिए अलग-अलग भूमिका अदा करती है।


जब ये डॉक्टर के हाथ मे होती है। तो ये मरीज को ठीक करने की औषधि देकर व्यक्ति की जान बचाती है। वही यही कलम जब जज के हाथ मे होती है। तो मुजरिम को मौत घाट उतार देती है। यानि इसके अनेक प्रयोग है। कलम लिखित संचार का प्रमुख साधन है। कलम से हर दस्तावेजो पर हस्ताक्षर किए जाते है। बिना हस्ताक्षर कोई भी कार्य की पुष्टि नहीं की जा सकती है। इसलिए कलम सुरक्षा का महत्वपूर्ण साधन है। प्रत्येक कानूनी दस्तावेज़ पर कलम से ही हस्ताक्षर किये जाते है। कलम से हर बच्चा अपना अध्ययन का कार्य करता है। कलम से ही शिक्षक बच्चो अध्यापन कराते है।


कलम अनेक प्रकार के होते है। कई कलामो से पढ़ाई की जाती है। कई कलामो से शिक्षक बच्चो को पढ़ाते है। जिसमे- रीड पेन, डुबकी पेन, फव्वारा पेन,स्याही पेन,निब पेन, बॉल प्वाइंट कलम, मार्कर पेन, जेल पेन, रोलर,बॉल पेन आदि कलम है। कलम से लोग अपना व्यवसाय भी करते है। लोग ठेला लगाकर कलम बेचते है। तथा अपनी जीविका चलाते है। आज के जमाने मे अनेक नए-नए कलामो का आविष्कार किया जा रहा है। नए-नए कलम रह-बिरंगे कलामो को देखकर लोग और भी आकर्षित होते है।


इसका दैनिक जीवन मे बहुत उपयोग है। इसके बिना आज का जीवन अधूरा है। प्राचीन समय मे फव्वारा पेन ही पाया जाता था। जिसकी हर समय मरम्मत करनी पड़ती थी। इसलिए लोगो ने ऐसा पेन बनाया जिसकी मरम्मत की जरूरत ना पड़े। और आज हम जिस पेन का प्रयोग करते है। उस पेन की हमे बिलकुल मरम्मत नहीं करनी पड़ती है। एक पेन कुछ दिन ही चलता है। उसके बाद हम उसे कचरा पात्र मे फेंक देते है। इस नवीनतम पेन से कचरा बढ़ता जा रहा है। हर रोज लाखो की संख्या मे लोग पेन को फेंककर नया पेन खरीद लेते है। 


भारत मे हर शहर मे पैनो का निर्माण किया जाता है। हमारे देश मे सबसे ज्यादा वितरण सेलो कंपनी के पैन का होता है। ये पैन की कंपनी भारत की कंपनी है। और ये दुनिया की सबसे शानदार कंपनी है। इस कंपनी मे अनेक किस्म के नए-नए पैन बनाए जाते है। व्यक्ति के पास हर समय कलम का होना बहुत आवश्यक है।


हमारे प्राचीन साहित्य का लेखन कलम द्वारा ही किया गया था। कलम का आविष्कार आज से लगभग 5 हजार वर्ष पूर्व  ईराक मे श्रीगणेश जी ने अपने दाँतो से कलम का प्रथम बार निर्माण किया था। जिसके बाद कलम की उत्पति हुई। पढ़ने-लिखने मे बच्चो का सबसे श्रेष्ठ मित्र कलम ही होती है। आज सभी कार्य कागजो पर कलम की सहायता से ही लिखे जाते है। कलम के बिना साफ कागज का कोई महत्व नहीं होता है। पर कलम भी अकेली कुछ नहीं कर सकती है। कलम को चलाने के लिए स्याही की जरूरत होती है। 


कलम के कारण ही आज हम प्राचीन ग्रंथ तथा साहित्य को पढ़ पाते है। यदि उस समय कलम नहीं होती तो शायद आज हमे ये ग्रंथ या साहित्य नहीं मिल पाते। कलम से ही प्राचीन लेखको ने लेखन का कार्य किया तथा बड़ी-बड़ी किताबे लिखी जो कि हमारे लिए आज भी ज्ञान का बहुत बड़ा साधन है। धीरे-धीरे कलम की जगह पैन का प्रयोग शुरू हुआ। तथा आज हम सब पैन का ही प्रयोग करते है। 


हमारे जीवन मे कलम बहुत ही महत्वपूर्ण है। कहा जाता है। कि ''कलम की धार तलवार की धार से भी तेज होती है'' इसलिए हमे कलम सोच-समझकर ही चालानी चाहिए। कई बार ये कलम मौत का कारण भी बन जाती है। इसलिए कलम का प्रयोग अच्छे कार्यो के लिए करें। जिससे कलम तथा हमारा सभी का मान-सम्मान बना रहें।


उम्मीद करता हूँ, दोस्तो आज का हमारा लेख,निबंध,अनुच्छेद,पैराग्राफ कलम पर निबंध- Essay on Pen in Hindi आपको पसंद आया होगा। आज के ये लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट मे अपनी राय दें। तथा इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करें।