100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

मेरा प्रिय अध्यापक निबंध | Essay on My Favourite Teacher in Hindi Language

मेरा प्रिय अध्यापक निबंध | Essay on My Favourite Teacher in Hindi Language: विद्यालय वर्तमान शिक्षा के केंद्र हैं. जहाँ शिक्षार्थी शिक्षा ग्रहण करने जाते हैं. शिक्षा शिक्षकों के द्वारा दी जाती हैं. वे ही हमारे भावी जीवन का निर्माण कर हमें सुनागरिक बनाते हैं. शिक्षक हमारे लिए सम्मानीय हैं. वे हम पर बहुत उपहार करते हैं. इसलिए उनको गुरु का सम्मान दिया जाता हैं. और उन्हें गोविन्द से भी ऊँचा माना गया हैं. संत कबीर ने कहा है कि

गुरु गोविन्द दोऊ खड़े काके लागू पाय
बलिहारि गुरु आपने गोविन्द दियो मिलाय,

प्रिय शिक्षक- मैं राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में पढ़ता हूँ. हमारे विद्यालय में ग्यारह अध्यापक हैं. वैसे तो हमारे विद्यालय के सभी अध्यापक विभिन्न विषयों के ज्ञाता और परिश्रमी हैं, पर जिस शिक्षक ने मुझे विशेष रूप से प्रभावित किया है वे हैं श्री संजीव कुमार जी. ये अपनी विशेषताओं के कारण हमारे प्रिय अध्यापक हैं.

मेरे प्रिय शिक्षक की विशेषताएं- मेरे प्रिय शिक्षक मेरे विषयाध्यापक के साथ साथ कक्षाध्यापक भी हैं. वे हमारी कक्षा को हिंदी विषय पढाते हैं. उनके पढ़ाने का ढंग इतना सरल और रोचक हैं. कि सभी शिक्षार्थी उनकी बात को बड़े ध्यान से सुनते और ग्रहण करते हैं. पूरी कक्षा अनुशासित और प्रसन्नचित होकर पढ़ती हैं. केवल पढाने में ही नहीं अपितु अन्य व्यक्तिगत गुणों के कारण भी वह मेरे प्रिय शिक्षक हैं.

वे सादा जीवन उच्च विचार के पोषक हैं. विद्यालय और कक्षा में नियमित रूप से समय पर आना, शिक्षार्थियों के साथ पुत्रवत स्नेह करना, ईमानदारी और परिश्रम के साथ पढ़ाना, गरीब छात्रों की सहायता करना, हमेशा सत्य बोलना, दूसरों के साथ मधुर व्यवहार करना आदि अनेक ऐसे गुण हैं जो हमें प्रभावित करते हैं. इनके साथ ही वे पढ़ाने के अलावा विद्यालय के अन्य सहशैक्षिक कार्यक्रमों में भी अपना उत्तरदायित्व आगे बढकर हमेशा निभाते हैं. यही कारण है कि सभी शिक्षक, शिक्षार्थी यहाँ तक कि प्रधानाध्यापक भी उन्हें सम्मान की दृष्टि से देखते हैं.

उपसंहार- मेरे प्रिय शिक्षक योग्य, परिश्रमी, स्नेही, कर्मठ, ईमानदार, अनुशासनप्रिय एवं व्यवहारकुशल हैं. पूरा विद्यालय ही नहीं बल्कि पूरा कस्बा उन्हें सम्मान की दृष्टि से देखता हैं मेरी आकांक्षा है कि वे हमें अगली कक्षा में भी पढ़ाए और अपने आदर्श गुणों के कारण हमारे प्रिय शिक्षक बने रहे.
आशा करता हूँ दोस्तों आपकों essay on importance of teacher in hindi & adarsh shikshak essay in hindi का यह लेख अच्छा लगा होगा. यदि यह निबंध पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे