100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

मेरा सपना पर निबंध Essay on My Dream in Hindi

सपना पर निबंध Essay on My Dream in Hindi- हर व्यक्ति अपने जीवनं में कुछ न कुछ बनना चाहता है. हर व्यक्ति अपना एक लक्ष्य निर्धारित करता है. जिसे सपना कहते है. आज हम मेरे सपने के बारे में जानेंगे.

मेरा सपना पर निबंध Essay on My Dream in Hindi

हर आदमी का अलग-अलग सपना होता है। सभी खुद को सबसे बेहतर बनने का सपना होता है। सपना वो नहीं होता जो हम सोते वक्त रात मे देखा करते है। सपने वे होते है जो निद उड़ा देते है।
मेरा सपना पर निबंधEssay on My Dream in Hindi
निबंध – 1

किसी ने कहा है कि डर गए समझो मर गए। डर के आगे अपने सपनों को नहीं त्यागना चाहिए। सपने देखना अच्छी बात है। जब भी सपना देखे पूरे दिल के साथ बड़ा तथा हमारे लिए उपयोगी सपना देखे सपना देखने के साथ उसे पूरा करने का प्लान भी बनाना आवश्यक है।

सपना किसी का भी देखो बुरा नहीं देखना चाहिए। दूसरों के बुरे सपने देखने, से दूसरे का नहीं बल्कि खुद का बुरा होता है. अच्छा सपना जीवन को अच्छा बना देता है. इसलिए अच्छे सपने देखे.

मेरा सपना

सभी लोगो कि तरह मैंने भी एक सपना देखा है।देश की सेवा करना चाहता हूँ। मै खूब पढ़ाई तथा मेहनत करके मै भारतीय फौज मे जाना चाहता हूँ। और देश की तन,मन और धन के साथ सेवा करना चाहता हूँ। देश के लिए मै कुछ भी करना चाहता हूँ।

मै देश की सेवा के लिए खुद की कुर्बानी भी दे सकता हूँ। देश के लिए जान दे भी सकता हूँ और ले भी सकता हूँ। मै जब भी सोशियल साइट्स या बाकी एप हर जगह भारतीय फौज को बहुत सम्मान तथा ढेर सारा प्यार मिलता है।

मै देश की सेवा करना सबसे बड़ा धर्म मानता हूँ।मै ईमानदारी से देश की रक्षा करना चाहता हूँ। देश मे बैठे गद्दारो को मै सबसे पहले मे उन्हे भागना चाहूँगा। देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा करना हम देशवाशियों का धर्म ही नहीं बल्कि कर्तव्य भी है।

मै मेरे करियर मे ऐसा काम करना चाहता हूँ। जिससे मेरा और मेरे गाँव का सम्मान हो। हमारी तस्वीरे किताबों मे छपे और आगे आने वाली पीढ़िया भी पढ़ कर कुछ देश की सेवा मे योगदान देंवे। मै हर समय ये सपना देखता हूँ।

किसी ने मेरे देश के लिए बहुत अच्छी पंक्तिया लिखी है।
'देश हमें देता है सब कुछ, हम भी तो कुछ देना सीखें।
पथिकों को तपती दुपहर में, पेड़ सदा देते हैं छाया,
सुमन सुगंध सदा देते हैं, हम सबको फूलों की माला,
औरों का भी हित हो जिसमें, हम ऐसा कुछ करना सीखें।'

निबंध – 2 (400 शब्द)

बालकपन मे बच्चे अपना लक्ष्य बना लेते है।वे एक लक्ष्य निर्धारित कर उस पर जान ज़ौक़ देते है। कि मुझे क्या बनना है और उसके बारे मे सपने देखने शुरू कर देते है। जब से वो अपने आप को सफल बनाने के लिए हर रोज सपने देखते है।

तथा खूब मेहनत करके अपने लक्ष्य को पाने का प्रयास करना शुरू का देंगे तो वह अपने लक्ष्य को आसानी से पार कर सकता है। हालांकि लोग अपना लक्ष्य पाने के बाद खुद की  औकात भूल जाते है। 

जीवन में कुछ बनने का लक्ष्य
हर किसी का अपना सपना उसे सफलता तक ले जाता है। परन्तु हर समय मेरी एक बात याद रखना अपने लक्ष्य को पाने के लिए उस पूर्ण रूप से विश्वास होना जरूरी होता है। 

जब मै नौ साल का था तब से मैंने  लेखक बनने का अपना सपना देखा था।तब छोटी-सी आयु मे मुझे कहानिया लिखना बहुत अच्छा लगता था। मै मेरे खाली समय मे कहानिया लिखा करता था।

तब से मेरे दिल मे लेखक बनने का सपना जाग उठा मुझे अब केवल लेखक ही बनना है।और लेखक बनकर मुझे किताबे छापनी है। और कई बड़ी-बड़ी कहानिया लिखनी है। और देश के लिए कई सारी कविताए भी लिखकर मुझे मेरा उद्धार करना है।
 
मेरा ये सपना मेरे दिल मे लेखक बनने की आग को जलता रहा मैंने फैसला कर लिया की मुझे लेखक बनना है। जैसे-जैसे मै बड़ा हुआ। मैंने ज्यादा मेहनत शुरू कर दी तब मुझे लगने लगा कि मै लक्ष्य के करीब हूँ।

मैंने खूब मेहनत कि और आज मै एक लेखक के रूप मे विद्यमान हूँ। मेरी गणना आज शीर्ष लेखको मे कि जाती है। मै लेखक के साथ अच्छा गायन भी करता हूँ। मैने कई बार खुद कविताए लिखकर गायी है। मै हर वार्षिक उत्सव मे भाग लिया करता था।   

स्वास्थ्य और फ़िटनेस के लक्ष्य

मानव जीवन मे स्वास्थ्य ही सबसे महत्वपूर्ण होता है। जब हमारा स्वास्थ्य ठीक नहीं होगा तो हम कुछ भी नहीं कर पाते है। हम स्वस्थ होंगे तो हमे रोज कि दिनचर्या को समय पर पूरा कर पाएंगे।

हमे अपने स्वस्थ एव सुखी जीवन जीने के लिए सपने देखने चाहिए। सपने देखने से हमारा शरीर शांत हो जाता है। शरीर मे शांति बनी रहती है। इसलिए सबसे पहले अपने स्वास्थ्य कि देखभाल सबसे महत्वपूर्ण होती है। 

निबंध-3 (600  शब्द)

हमे अपने सपने को प्राप्त करने के लिए अल्पकालिक और दीर्घकालिक दो प्रकार के लक्ष्य को बनाना चाहिए। जिससे हम अपने लक्ष्य की और आसानी से बढ़ सकें। हमे अपने जीवन मे कुछ अलग करने के लिए एक कदम उढ़ाना होगा और उस पर अपने सम्पूर्ण जीवन को लगा देना चाहिए। अपने जीवन मे केवल एक ही लक्ष्य होना चाहिए। 

हमे अलग-अलग सपने बनाकर उनके पीछे भागने से कोई फायदा नहीं होता है। बल्कि हमारा समय बर्बाद होता है। हमे अपने सपने के बारे मे कोई भी संकोश नहीं करना चाहिए। अपने सपने मे कभी-भी ऐसा नहीं सोचना चाहिए। कि ये कार्य असंभव है। ये नहीं हो सकता है।

इस संसार मे ऐसा कोई लक्ष्य नहीं हो जो प्राप्त नहीं होता है। मेहनत करने पर हमे अपना लक्ष्य आवश्य ही मिलता है। इसमे देर लग सकती है। परंतु अपने सपने से रहित नहीं रह सकते हमे अपने लक्ष्य की और आगे बढ़ते हुए। मेहनत करनी चाहिए।

हमे अपने सपने के बीच मे आने वाली सम्पूर्ण बाधाओ को नजरंदाज करते हुए अपने कार्य पर ध्यान देना चाहिए। क्योकि ऐसा कोई भी कार्य नहीं जिसमे मेहनत या बाधाओ का समाना नहीं करना पड़ता है। हर लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कठोर मेहनत करनी पड़ती है।

हमे अपने लक्ष्य को बनाने से पहले से पूर्व हजारो बार सोचना चाहिए। अपने लक्ष्य को बनाने के लिए हमारे आत्मविश्वास, जोश, जुनून तथा उसे प्राप्त करने की एक आग होनी चाहिए। हमे अपना सपना किसी की देखा-देखी के आधार पर नहीं करनी चाहिए। क्योकि जो हमारी योग्यता होती है। 

जिसमे हमे आनंद आता है। जो हमारे लिए उपयोगी होता है। जो हमारे लिए उचित होता है। हमे वही लक्ष्य बनाना चाहिए। जिस लक्ष्य को प्राप्त करने का जुनून हमारे अंदर होता है। उसे ही अपना भविष्य बनाना चाहिए। सपना हमारा सम्पूर्ण जीवन भविष्य होता है।

हमे अपने लक्ष्य को बनाने के बाद कोई भी दूसरे लक्ष्य के बारे मे नहीं सोचना चाहिए। एक बार लक्ष्य बना लिया फिर उसमे पीछे नहीं हटना चाहिए। अपने लक्ष्य को बीच मे छोड़कर दूसरा लक्ष्य बनाना उचित नहीं होता है। तथा ये हमारे लिए कायरता होती है।

निष्कर्ष
अपने सपने को साकार करने के लिए ईमानदारी सच्ची तथा निष्ठा के साथ आगे बढ़ना चाहिए। अपने इस लक्ष्य के लिए किसी कि आत्मा को ठेस न पहुंचाए।

ये भी पढ़ें
उम्मीद करता हूँ। दोस्तों आज का हमारा यह लेख मेरा सपना पर निबंध Essay on My Dream in Hindi आपकों पसंद आया होगा, यदि आपके लिए आज का हमारा लेख सपना प्रेरणादायक था। तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।