100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

बकरी पर निबंध short essay on goat in hindi

बकरी पर निबंध essay on goat in hindi

 भारत मे कई पालतू जानवरो को पाला जाता है। जिसमे बकरी एक है। बकरी एक पालतू तथा बहूपयोगी पशु है। जिसको दूध तथा मांस के उद्देश्य से पाला जाता है। बकरी एक छोटी पालतू पशु है। इसका मूल्य तथा खर्चा कम आता है। जिसके कारण बकरी को प्रत्येक परिवार पाल सकता है। इसका खर्चा कम होने के कारण हमारे देश मे ही नहीं बल्कि पूरे संसार मे सबसे ज्यादा बकरियो को पाला जाता है। 

परिचय 
एक शाकाहारी पशु है। इसकी 100 से भी ज्यादा प्रजातीय पायी जाती है। भारत मे इसकी 20 प्रजातीय पायी जाती है। बकरी का शरीर बहुत छोटा होता है। बकरी का रंग निश्चित नहीं होता है। इसका रंग काला, सफ़ेद, पीला तथा बैंगनी हो सकता है। इसके बाल बाजार मे बिकते है। ये झुंड मे रहना पसंद करती है। 

बकरी के  एक मुंह होता है। जिससे ये खाना खाती है। इसके दो कान होते है। ये बहुत तेजी से सुन सकती है। इसके एक नाक होती है। जिससे ये श्वास लेती है। इसके चार पैर होते है। इसके पैर बहुत मजबूत होते है। अपने पैरो पर ये चलती है। इसके एक पुंछ होती है। तथा दो थन होते है। जिससे दूध निकालने का कार्य किया जाता है।
    
खान-पान 
बकरिया पेड़ो के सूखे पत्ते, पौधो की टहनीय, घास तथा चारा खाती है। हमारे यहा पर हम खेजड़ियों से लुंग लाकर खिलाते है। ये इसे भी खा लेती है। इसे पिलाने के लिए पानी मे डाला डालना पड़ता है। ये साफ पानी का सेवन करती है। ये बहुत ही अच्छे स्वभाव की होती है। ये किसी के साथ बुरा व्यवहार नही करती है। हमारे घर मे 5 बकरिया भी है। जिसकी हम खूब सेवा करते है। जिसका हमे ये हर दिन प्रत्येक बकरी 5 लीटर दूध देती है। मुझे मेरी बकरिया बहुत अच्छी लगती है।

किसानो के लिए उपयोगी 
बकरियो का पालन-पोषण गाँव मे किसानो द्वारा ज्यादा किया जाता है। किसानो के लिए यह उनकी जीविका बन चुकी है। ये बहुत उपयोगी पालतू पशु है। ये वर्ष मे दो बार मेमने  को जन्म देती है। इसके बच्चो की संख्या निश्चित नहीं होती है। इसके दूध से व्यापार किया जा सकता है। ये प्रत्येक दिन को 4-5 लीटर दूध देती है। इसके दूध की चाय सबसे अच्छी बनती है। आज सभी चाय पीते है। इसलिए ज़्यादातर लोग इस उदेश्य से बकरी को पालते है।  बकरी  मरने के बाद भी हमारे लिए उपयोगी होती है। इसके सिंग तथा खाल बहुत उपयोगी माने जाते है।  
निष्कर्ष 
बकरी का दूध पौष्टिक होता है। जिससे डेयरी का कार्य भी किया जा सकता है। ये हमारे यहा पर बड़े पैमाने मे पायी जाती है। हमे बकरी को पालना चाहिए।