100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध Essay on My Favorite Sport Football in Hindi

मेरा प्रिय खेल पर निबंध- हमारे देश में हर खेल बड़ी शान से साथ खेला जाता है.मै भी हर खेल खेलना पसंद करता हूँ जैसे-क्रिकेट,हॉकी तथा फुटबाल आदि पर मेरा प्रिय खेल फुटबॉल है.मै इस बहुत पसंद करता हूँ.आज के इस आर्टिकल में हम मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध के माध्यम से जानकारी प्राप्त करेंगे.

मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध Essay on My Favorite Sport Football in Hindi

मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध Essay on My Favorite Sport Football in Hindi

बच्चो के लिए खेल सबसे बड़ा मनोरंजन का साधन होता है.अपनी पसंद के अनुसार खेलो को खेला जाता है.कई बच्चे आउटडोर तो कोई इनडोर खेलो को खेलना पसंद करता है.कई बच्चे खेल को अपना मनोरंजन का साधन मानते है.

मै अनेक खेल खेलता हूँ,और उसमे काफी प्रतिभाशाली भी हूँ.मै आउटडोर खेल पसंद करता हूँ.क्योकि मै खेल को मनोरंजन के साधन के साथ साथ अभ्यास का जरिया भी मानता हूँ.बाहरी खेलो से शरीर का व्यायाम भी हो जाता है.फुटबॉल बहुत ही कम समय में खेला जाता है.

फुटबॉल एक ऐसा खेल है.जिसमे सभी खिलाडी एक साथ अपना प्रदर्शन दिखने मैदान में उतरते है.जिससे सभी को मौका मिलता है.पर क्रिकेट जैसे खेलो में एक टीम को बैठा रहना होता है.जबकि दूसरी टीम खेलती है.इस प्रकार ये खेल खेलने से बोर नहीं होते है.

मेरा प्रिय खेल फुटबॉल है.और में अन्य खेलो की तुलना में इसे ज्यादा खेलता हूँ.ये खेल मुझे बहुत प्यारा लगता है.फुटबॉल आउटडोर खेलो में गिना जाता है.इस खेल को हर देश खेलता है.तथा इस खेल में हमारे देश की टीम सबसे श्रेष्ठ टीम है.

फुटबॉल के खेल को एक बार खेलने से इस खेल के दीवाने हो जाते है. मै ही नहीं मेरे दोस्त भी इस खेल को खेलना पसंद करते है.खेलने के साथ साथ हम टीवी पर फुटबॉल के मैच को भी देखते है.मैच देखने के लिए मेरे दादाजी भी आ जाते है.

जब भी फुटबॉल का मैच लाइव होता सभी दोस्त और मेरे दादाजी मिलकर देखते.मेरे दादाजी भी फुटबॉल को अपना पसंदीदा खेल मानते है.जब हमारे शहर में मैच होता है.तब हम सभी मैच देखने जाते है.फुटबॉल का मैच देखकर बहुत मजा आता है.

Football in Hindi

फुटबॉल को पादकन्दुक तथा सॉकर के नाम से भी जानते है.इस खेल में पैर से बॉल को मारा जाता है.इसी कारण इसे फुटबॉल कहते है.ये भारत का सबसे लोगप्रिय खेल है.

फुटबॉल प्राचीन खेलो में से एक है माना जाता है.कि इस खेल की शुरुआत इंग्लैंड से हुई थी.आज इस खेल को लगभग 156 देश खेलते है.फुटबॉल आज का सबसे लोगप्रिय खेल है.हर साल फुटबॉल की अनेक प्रतियोगिताए आयोजित की जाती है.

फुटबॉल एक आउटडोर खेल है.इस खेल को निर्धारित दो टीमो द्वारा खेला जाता है.प्रत्येक टीम में 11-11 खिलाडी होते है.इस प्रकार एक मैच में कुल 22 लोग भाग लेते है.इस खेल में जीत-हार गोल पर निर्धारित होती है.जो टीम ज्यादा गोल करती है.वही विजेता होती है.

इस खेल के मैदान की लम्बाई तथा चौड़ाई क्रमश लंबाई 100-110 मीटर तथा चौड़ाई 64-75 मीटर होती है.इस मैदान के बीच में एक लाइन होती है.जो दोनों टीमो को अलग करती है.एक टीम लाइन के दायी तरफ तो दूसरी बायीं तरफ होती है.

दोनों टीमो की बीच सिक्का उछालकर टॉस की जाती है.जिसके बाद एक टीम गोल करने के लिए बॉल को पैर से किक मारती है.और दूसरी टीम उसे विपरीत दिशा में मारती है.दोनों टीमो के पास एक एक गोलकीपर होता है.जो बॉल को हाथ से पकड सकता है.

फुटबॉल के मैच की शुरुआत करने के लिए मैदान के बीच में लगभग 10 मीटर का गोला बना होता है.उस गोले में रेफरी द्वारा बॉल को रखा जाता है.तथा वहा से बॉल को किक मार मैच की शुरुआत होती है.

दोनों टीमो के लिए एक एक नेट लगी होती है.उस नेट का आकर आयताकार होता है.उस नेट में बॉल को डालने पर गोल माना जाता है.दोनों टीमो अपनी अपनी नेट में बोल को जाने से रोकते है.और अब बोल चली जाती है.तो वह गोल माना जाता है.

इस खेल में भी अन्य खेलो की तरह ही निर्धारक अम्पायर होते है.जो नियमो के अनुसार फैसला करते है.मैच में एक मुख्य अम्पायर तथा दो सहायक अम्पायर होते है.इस खेल में अम्पायर का रोल सबसे महत्वपूर्ण होता है.

अम्पायर को रेफरी भी कहा जाता है.और रेफरी सिटी के माध्यम से इशारे कर निर्णय देता है.रेफरी के नियमो का पालन नहीं करने पर खिलाडी को मैच से बाहर कर दिया जाता है.और कई बार कई मैचो के लिए बैन कर दिया जाता है.

इस खेल में गोलकीपर के आलावा अन्य किसी खिलाडी द्वारा बॉल को हाथ से स्पर्श किया जाता है.तो वह फाउल माना जाता है.इस खेल को केवल पैरो से खेला जाता है.इसलिए इस खेल का नाम फुटबॉल है.यानि पैर और बॉल का मिलाव इस खेल में होता है.

फुटबॉल के एक मैच की अधिकतम अवधि 90 मिनट होती है.एक मैच में दो राउंड होते है.45-45 मिनट के अन्तराल के बाद ब्रेक होता है.जिसमे आराम किया जाता है.तथा नई रणनीति के साथ उतरते है.

इस खेल के दौरान वैसे तो गोलकीपर के आलावा किसी को बोल को स्पर्श करने की अनुमति नहीं होती है.पर हवा में उछलकर अन्य खिलाडी भी अपने शरीर से बॉल को मार सकते है.तथा हवा में उछलकर रोक भी सकते है.

इस मैच की समाप्ति समय के अनुसार होती है.जिस टीम ने ज्यादा गोल किये वह जीत जाती है.तथा कम गोल करने वाली टीम हार जाती है.और बराबरी की स्थिति में मैच को टाई घोषित कर दिया जाता है

इस खेल में समय के दुरुपयोग से भी नुकसान हो सकता है.जब कोई टीम जरुरत से ज्यादा समय बिताती है.तो उन पर पेनाल्टी लगाई जाती है.तथा कई बार चेतावनी दी जाती है.और फिर भी नहीं मानने पर टीम को बैन कर दिया जाता है.

फुटबॉल खेल के हर साल अनेक प्रतियोगिताए होती है.फुटबॉल की सबसे बड़ी प्रतियोगिता फीफा प्रतियोगिता है.जो हर चार साल के अंतराल द्वारा आयोजित होती है.

Football in Hindi

फुटबॉल खेल के नियम

  1. इस खेल में अधिकतम 11 तथा न्यूनतम 7 खिलाडी खेल सकते है.
  2. इस खेल में गोलकीपर को ही बॉल स्पर्श करने की इजाजत होती है.
  3. एक मैच की अधिकतम अवधि 90 मिनट होती है.
  4. 45-45 मिनट के बाद ब्रेक होता है.ब्रेक की अवधि 15 मिनट अधिकतम होती है.
  5. गोल पूर्ण होने पर बॉल को वापस बीच में बने गोले में रखा जाता है.
  6. एक टीम में एक गोलकीपर होना चाहिए.तथा गोलकीपर का क्षेत्र निर्धारित होना चाहिए.
  7. गोलकीपर की ड्रेस अन्य खिलाडियों से भिन्न होती है.
  8. एक मैच में 3 खिलाडियों को बदलने की इजाजत होती है.
  9. रेफरी द्वारा दिया गया निर्णय ही अंतिम निर्णय होता है.
  10. गेंद को छूना,विपक्षी खिलाडी को पकड़ना आदि स्थिति में फाउल किया जा सकता है.
  11. फुटबॉल का वजन 14 से 16 ऑस तक ही होना चाहिए.
  12. फुटबॉल का अधिकतम आकार 27 इंच तक होना चाहिए.

खेल का महत्व

हर खेल हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है.इसलिए खेलो को महत्व दिया जाता है.इस खेल में हमेशा भागना पड़ता है.इसलिए इस खेल से हमारा शरीर भी स्वस्थ रहता है.तथा भोजन का पाचन ना होना,श्वांस सम्बन्धी समस्याओ को दूर करता है.

इस खेल का हमारे जीवन तथा स्वास्थ्य में विशेष महत्व है.इस खेल को खेलने से मन को शांति मिलती है.तथा शरीर फिट रहता है.इस खेल को खेलना व्यायाम करने से कम नहीं है.

इस खेल से हमें मानसिक शांति तथा विकास होता है.इस खेल को खेलने से हमेशा सकारात्मक सोच रहती है.तथा इस खेल में सबसे ज्यादा कमाई भी की जा सकती है.

फुटबॉल का इतिहास

फुटबॉल दुनिया का सबसे प्राचीन खेल है.इस खेल की शुरुआत  12वी शताब्दी में इंग्लैंड में हुई थी.इस खेल को शुरुआत में ठोकरे मारकर खेलते थे.पर उस समय मैदान नहीं होता था.लोग इस खेल को मनोरंजन के लिए खेलते थे.

समय के साथ साथ इस खेल में विकास हुआ और ये खेल आज दुनिया का सबसे लोगप्रिय खेल बन गया है.इस खेल को आज बड़े बड़े देश खेलते है.फुटबॉल आज फ़्रांस जैसे देशो का राष्ट्रीय भी है.

फुटबॉल हमारे देश भी में काफी लोगप्रिय है.तथा देश में अनेक लोग इस खेल से लगाव रखते है.विश्व प्रसिद्द क्रिस्टियानो रोनाल्डो भी एक फुटबॉल के ही खिलाडी है.

फुटबॉल से होने वाले लाभ

फुटबॉल हमारे लिए लाभप्रद खेल है.इस खेल को नियमित खेलने से शरीर स्वस्थ रहता है.इस खेल के अनेक लाभ है.जो कि निम्नलिखित है-
  1. शारीरिक, सामाजिक तथा बौद्धिक विकास
  2. मानसिक शांति तथा विकास
  3. चर्बी तथा मोटापे जैसे रोगों से बचाव
  4. सामाजिक पहचान
  5. सकारात्मक दृष्टिकोणका विकास
  6. अनुशासित जीवन जीने का ढंग
  7. करियर बनाने का सबसे श्रेष्ठ तरीका

फुटबॉल की प्रतियोगिताएँ 

  1. फीफा विश्व कपएएफसी एशियाई कप
  2. एशियाई खेल
  3. सैफ कप
  4. एएफसी चैलेंज कप
  5. नेहरु कप

फुटबॉल खेल में भारत के अनेक खिलाडी प्रसिद्द हुए है.जिन्होंने अपने प्रदर्शन के बल पर अपना नाम कमाया है.जिनमे निम्नलिखित प्रमुख है-
  1. सुब्रता पॉल
  2. मोहम्मद सलीम
  3. बाईचुंग भूटिया
  4. सुनील छेत्री
  5. गुरप्रीत सिंह संधू

मेरा प्रिय खिलाडी क्रिस्टियानो रोनाल्डो है.जो कि एक प्रसिद्द फुटबॉल खिलाडी है.जो कि पुर्तगाली है.इनकी लोग्प्रियता फुटबॉल के कारण ही है.सोशल मिडिया पर क्रिस्टियानो रोनाल्डो के चर्चे चलते है.ऐसे अनेक खिलाडी रहे है.जिन्होंने अपना नाम कमाया है.

ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको आज का हमारा लेख मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध Essay on My Favorite Sport Football in Hindi आपको कैसा लगा कमेन्ट में अपनी राय दें.यदि पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.