100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

दैनिक जीवन में विज्ञान पर निबन्ध | Essay on Science in Everyday Life in Hindi

हमारे दैनिक जीवन में विज्ञान महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है विज्ञान के कारण हम आज सरल तथा सुगम जीवन जी रहे हैं। आज के इस आर्टिकल में हम दैनिक जीवन में विज्ञानं के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे.

दैनिक जीवन में विज्ञान पर निबन्ध | Essay on Science in Everyday Life in Hindi

एक वह भी समय था जिस समय में विज्ञान का उदय नहीं था उस समय लोग अज्ञानता विपत्तियों दुख और कठिनाइयों में अपना जीवन व्यतीत करते थे। विज्ञान ने मानव जीवन को और भी सरल बना दिया है। विज्ञान हमारे हर पल सहायता करता है।


विज्ञान मनुष्य का सच्चा सहायक होता है। विज्ञान मनुष्य की हर क्षेत्र में सहायता करता है। मानव का सबसे बड़ा विज्ञान ही है। इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं से लेकर मनोरंजन तथा हमारे जीवन के लिए बहु उपयोगी वस्तुएं आदि सभी विज्ञान की ही देन है। 


हर वस्तु के दो पहलू होते हैं। इसी प्रकार विज्ञान के भी दो पहलू हैं। एक पहलू जो हमारे जीवन को आसान बनाता है और हमारे जीवन मैं सहायक होता है। दूसरा पहलू जो हमारे ही जीवन के लिए विपत्ति बन जाता है। इसलिए हमें सोच समझकर ही विज्ञान का प्रयोग करना चाहिए।


विज्ञान पर नियंत्रण बनाए रखना सबसे महत्वपूर्ण बात है। विज्ञान के चलते हमारे जीवन में रात दिन देखने को मिल रहा है पिछले कुछ दशकों में हमारे देश की स्थिति तथा आज हमारे देश की स्थिति में बहुत ज्यादा अंतर देखने को मिल रहा है। 


जिन कार्यों को करने के लिए हमें घंटे भर तक इंतजार करना पड़ता था। यहां तक कि हम पृथ्वी पर बैठे पूरे सौरमंडल की जानकारियां  प्राप्त कर सकते हैं । हर ग्रहों के बारे में जानकारी पता कर सकते हैं। विज्ञान के चलते ही आज हम इंटरनेट का प्रयोग कर पा रहे हैं।


विज्ञान की नई तकनीकों के कारण पृथ्वी पर आज हमारा देश और पूरे विश्व से अनेकों उपग्रह पृथ्वी पर स्थापित किए गए हैं। विज्ञान हमारे लिए आर्थिक दृष्टि से लाभदायक है विज्ञान की उपलब्धियों के कारण ही बाजार में आज पुस्तकें रेडियो टीवी फ्रिज कूलर पंखे आदि हमें आसानी से मिल रहा है। 


विज्ञान हमारे लिए वरदान के साथ-साथ अभिशाप के रूप में भी है.विज्ञान के अनेक लाभ के साथ साथ हमें हानिया भी होती है विज्ञान की नई तकनीक के कारण ही आज हमारे देश में कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराधों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। 


वही विज्ञान के कारण हैजा एक जैसे रोगों का विनाश भी किया जा सकता है और कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराध भी हो रहे हैं ऐसे में विज्ञान का कोई दोष नहीं है इसमें हमें अपने उपयोगिता के आधार पर हमें विज्ञान का प्रयोग करना चाहिए।


हमें खुद को पहचान करना होगा कि क्या हमारे लिए उचित है और क्या हमारे लिए बर्बादी है। जिस प्रकार विज्ञान की तकनीकों का नया नया अविष्कार हो रहा है उसी प्रकार हमारे जीवन में विज्ञान प्रवेश करता जा रहा है और आज हमारे जीवन में विज्ञान एक अभिन्न अंग बन चुका है.


विज्ञान के बिना हमारा जीवन असंभव बन गया है। हर कार्य में विज्ञान ही नजर आता है विज्ञान के बिना कोई कार्य संभव ही नहीं लगता बिजली से लेकर दूरसंचार के सभी साधन विज्ञान के ही भाग है। 


विज्ञान की वजह से हम अपने रिश्तेदारों दोस्तों या किसी अन्य व्यक्ति से बातचीत कर सकते हैं उसे गोल मिलकर रह सकते हैं घंटे भर तक बातें कर सकते हैं और वाहनों के अविष्कार से हम आसानी से यात्रा कर सकते हैं 


हवाई जहाज और रॉकेट के आविष्कार से हम हजारों किलोमीटर की यात्रा मात्र कुछ ही पलों में पूर्ण कर सकते हैं  विज्ञान के चलते हमारा जीवन के और भी आसान बनता जा रहा है इसी प्रकार विज्ञान का प्रयोग बढ़ता गया तो आने वाले कुछ ही दशकों में हम विज्ञान के अनुचर बन जाएंगे।


विज्ञान के कारण हमारे देश में भी काफी विकास देखने को मिला है देश नए-नए यंत्रों का निर्माण कर खुद को  विकसित देश बनाने के लिए अग्रसर हो रहा है यह विज्ञान का चमत्कार है। पुराने समय में कई घंटों तक मेहनत करके धुए में बैठकर खाना बनाना पड़ता था.


और हाथ से कपड़ों को धोना पड़ता जो कि आज विज्ञान की नई तकनीक के कारण भोजन बनाने के लिए नए उपकरण तथा कपड़े धोने के लिए वॉच मशीन जैसे नए उपकरण बनाकर हमारे जीवन को और भी आसान बना दिया है। इस जीवन को हमने अनुभव किया है कि कुछ ही दशकों में इस प्रकार का बदलाव देखने को मिला है इसका प्रमुख कारण विज्ञान ही है।


विज्ञान के कारण सबसे ज्यादा फायदा देखा जाए तो महिलाओं को हुआ है. महिलाओं के लिए आज घर का कार्य करने के लिए हर प्रकार की मशीनों का निर्माण किया गया है जैसे कपड़े धोने के लिए मशीन खाना बनाने के लिए मशीन कपड़ों पर प्रेस करने के लिए इस्त्री तथा पानी भरने के लिए भी पानी की मशीन उपलब्ध है। 


इसके साथ-साथ किसानों और मजदूर लोगों को भी काफी लाभ हुआ है मजदूर और किसान लोग जो कार्य हाथों से करते थे.जिसमे काफी मेहनत करनी पड़ती थी.पर ये लोगो के लिए जीविका का साधन भी था.पर विज्ञान ने इसकी जगह ले ली.


उन कार्यों को आज मशीनों द्वारा किया जा रहा है जैसे कुआं खोदना, बड़े बड़े पुलों का निर्माण करना,सड़क बनाना, फसल को बोना,फसल का भंडारण करना,फसल को भूसे से अलग करना आदि अनेक प्रकार की समस्याओं से किसानों और मजदूरों को विज्ञान के कारण छुटकारा मिल चुका है। हालांकि मशीनों के द्वारा किए गए कार्य में ज्यादा व्यय आता है. पर यह कार्य बहुत जल्दी हो जाता है।


पुराने समय में पुस्तकों अखबारों और पत्रों को हाथों से लिखना पड़ता था विज्ञान के चलते आज उन्हें मशीनों द्वारा कुछ ही पलों में प्रिंट कर दिया जाता है.योजनाओं का आवेदन करने के लिए फॉर्म भरने के लिए या किसी अपने दस्तावेज बनाने के लिए लोगों को ई-मित्र की दुकानों पर काफी घंटो तक इंतजार करना पड़ता था.


पर आज हम इंटरनेट के माध्यम से इस कार्य को घर बैठे मोबाइल से ऑनलाइन कर सकते हैं। विज्ञान से शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी उन्नति हुई है विज्ञान के चलते हम ऑनलाइन  शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं ऑनलाइन परीक्षा दे सकते हैं। 


ऑनलाइन अपने दोस्तों के साथ मिलकर किसी के बारे में चर्चा कर सकते हैं वीडियो कॉल के माध्यम से हम अपने दोस्तों को किसी भी जगह पर बैठे किसी भी जगह का दृश्य दिखा सकते हैं।


विज्ञान शिक्षा के साथ-साथ दूरसंचार के लिए भी उपयोगी है पुराने जमाने में समाचार पत्र और रेडियो के माध्यम से दूरसंचार का प्रचार हुआ करता था आज मोबाइल फोन टेलीविजन के माध्यम से देश के  किसी भी कोने में बैठा व्यक्ति पूरे देश की खबरों को जान सकता है। 


अपने अधिकारों हैं अपने देश के कानूनों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है नवीनतम योजनाओं के बारे में जानकारी देता है। नए बदलावों और ऑनलाइन पैसे भी कमा सकता है.


विज्ञान के नए अविष्कारों में विज्ञान का सबसे बड़ा अभिशाप गोला बारूद का आविष्कार है विज्ञान  का उद्देश्य लोगों की सहायता करना है ना कि गोला बारूद के माध्यम से लोगों का विनाश करना है जब विज्ञान में गोला बारूद का आविष्कार किया उस समय लग रहा था कि विज्ञान के लिए यह बड़ी उपलब्धि होने वाली है पर लोगों के दुरुपयोग के में इन्हीं गोला बारूद के कारण हजारों लोगों की जान चली जाती है।


अतः हमें खुद विज्ञान को वरदान बनाना है विज्ञान केअभीशाप रूपी रूपी वस्तुओं का हमें उपयोग नहीं करना है हमें विज्ञान से हो सके उन लाभों को प्राप्त करना है विज्ञान के अभिशाप का प्रमुख कारण मानव ही है  इसीलिए हमें विज्ञान का प्रयोग अपनी उपयोगिता के आधार पर ही करना चाहिए। लोगों का प्रयोग ही विज्ञान को अभिशाप तथा वरदान बनाता है। इसलिए विज्ञान का सदुपयोग करें तथा ऐसे अविष्कारों से बचें जो मानव के लिए विनाशकारी साबित हो।


विज्ञान का हमारे जीवन में क्या योगदान है?

विज्ञान से हमारे जीवन में अनेक लाभ है तथा विज्ञान से हमें अनेक समस्याओं की मुक्ति मिलती है विज्ञान का सदुपयोग कर हम अपने जीवन को आदर्श बना सकते हैं इस प्रकार विज्ञान का हमारे जीवन में महत्वपूर्ण योगदान है।

 

विज्ञान का महत्व क्या है?

आज के युग में विज्ञान का हमारे जीवन में बहुत बड़ा महत्व है विज्ञान से ही हमें आज हर सुविधा प्राप्त हो रही है यहां तक की मानव विज्ञान की सहायता से सौरमंडल तक पहुंच चुका है  जो कि हमारे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

 

विज्ञान हमारे लिए आवश्यक क्यों हैं?

विज्ञान हमारे जीवन को सुखी तथा सुगम बनाने के लिए बहुत ही आवश्यक है आज के जमाने में हर कार्य विज्ञान के द्वारा ही होता है इसलिए विज्ञान बहुत महत्वपूर्ण है समय के बचाव के लिए विज्ञान बहुत आवश्यक है|

 

विज्ञान का हमारे जीवन में उपयोग क्या है?

 विज्ञान हमारे लिए बहुत उपयोगी है विज्ञान  का उपयोग हम शिक्षा दूरसंचार और इलेक्ट्रॉनिक रूप से दैनिक जीवन में इसका महत्व पूर्ण उपयोग है।

 

विज्ञान की विशेषताएं क्या है?

विज्ञान की अनगिनत विशेषताएं हैं पर उनमें प्रमुख विज्ञान हमें व्यवस्थित ज्ञान देता है यह हमें प्रकृति के बारे में सिखाता है तथा नए-नए सिद्धांतों के बारे में परिकल्पना स्थापित हमें जानकारी प्राप्त कराता है।


विज्ञान के कितने प्रकार होते हैं?

प्रमुख रूप से विज्ञान के 3 भाग होते हैं 

1 भौतिक विज्ञान ( भौतिक जगत की प्राकृतिक घटनाओं के बारे में)

2 रसायन विज्ञान (पदार्थों के बारे में संगठन गुणों और संरचनाका अध्ययन)

 3 जीव विज्ञान ( जीव जंतुओं के बारे में प्रक्रिया का अध्ययन)

 

विज्ञान की उत्पत्ति कैसे हुई

 विज्ञान लेटिन भाषा का शब्द साइंसिया है जिसका अर्थ होता है विशेष ज्ञान भौतिक जगत का व्यवस्थित  ज्ञान विज्ञान है।


विज्ञान का जन्म कब हुआ?

 विज्ञान का जन्म लगभग  3000 साल ईसा पूर्व सभ्यता की खुदाई के समय हुआ था|


प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ। आज का हमारा लेख दैनिक जीवन में विज्ञान पर निबन्ध | Essay on Science in Everyday Life in Hindi आपको पसंद आया होगा। यदि अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करे।