100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs Speech Short Nibandh Wikipedia Pdf Download, 10 line

पिता दिवस पर निबंध Essay On Fathers Day In Hindi

पिता दिवस पर निबंध-आप सभी को फादर्स डे की हार्दिक शुभकामानाएं एंव बधाईयाँ.दुनिया का वह व्यक्ति जो खुद से भी बेहतर अपने बच्चों को बनाना चाहता है खुद मेहनत कर अपने परिवार का पालन पोषण करता है वह परिवार का मुखिया होता है आज के इससे आर्टिकल में हम फादर डे के बारे में विस्तार से जानेंगे।

पिता दिवस पर निबंध  Essay On Fathers Day In Hindi

पिता दिवस पर निबंध ESSAY ON FATHERS DAY IN HINDI
जीवन का जरिया पिता के इस ख़ास दिवस की आप सभी को सबसे पहले मेरी तरह से हार्दिक बधाईयाँ और शुभकामनाएं. आज इस पिता दिवस के अवसर पर हम सभी का कर्तव्य बनता है, कि हम हमेशा अपने पिता के महत्व को याद रखकर उन्हें सुख समृद्धि दें.

यह पर्व एक दिन पिता को सम्मान देने के लिए नहीं है, बल्कि ये हमें जीवन भर पिता का मान सम्मान करने के लिए प्रेरणा का स्रोत है. इस दिवस पर फोर्मेटी करना इस दिवस का मानाने उद्देश्य नहीं है.

इस दिवस के माध्यम से हमें लोगो को उनके माता पिता के प्रति उनके दायित्व को बताते हुए सभी को जीवनभर अपने लिए कभी हीरो बनने वाले पिता की सेवा करें. तथा सुखी जीवन यापन कराए.

पिता का आशीर्वाद हमारे लिए जीवन की नाव को पार लगाने वाला होता है. इसलिए कभी भी माता पिता को महत्वहीन नहीं समझना चाहिए. उनका आशीर्वाद ही हमारे लिए बहुत है.

मेरी पिताजी मेहनती का प्रतीक है.वह हमेशा कठिन परिश्रम करते है.तथा हमारे परिवार की रक्षा का जिम्मा भी उठाते है.हमारी हर समस्या का का समाधान करते है.

मेरे पिताजी हमारे परिवार का ही नहीं बल्कि हमारे पुरे समाज का महत्वपूर्ण हिस्सा है.क्योकि मेरे पिताजी एक परोपकारी इन्सान है.वे हमेशा दूसरो का भला करने की सोचते है.यही भावना मेरे पिताजी को श्रेष्ठ बनाती है.

हमारा परिवार और हमारा समाज मेरे पिताजी को आदर्श मानते है.और सभी उनका सम्मान करते है.मेरे जीवन का सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति मेरे पिता जी ही है.इसलिए मै फादर्स डे को मानाने के लिए उत्सुक रहता हूँ.मुझे हर समय फादर्स डे का इंतजार रहता है.मै यही चाहता हूँ,कि हर रोज फादर्स डे हो मै इतना प्यार करता हूँ.

मेरे पिताजी से.पिताजी को महत्व देने के लिए सरकार ने जून माह में फादर्स डे की शुरुआत की गई है.कई सालो से ये पर्व भारत में भी मनाया जा रहा है.मै फादर्स डे को ज्यादा महत्व नहीं देता हूँ. क्योकि मेरे लिए हर रोज फादर्स डे होता है.

मेरे पिताजी को मै हर रोज महत्व देता हूँ.पर कई लोग अपने पिता का सम्मान नहीं करते है.उन लोगो को पिताजी के महत्व के बारे में जानना जरुरी है.पर ये दिन पिता के लिए अर्पित है. इसलिए इसे हमें महत्व देना चाहिए.इसको महत्व न देना पिता का अपमान है. इसलिए हमें सिर झुकाकर इस दिवस को मानना चाहिए.

फादर्स डे के एक दिन ही नहीं बल्कि पिता को हर रोज महत्व देना चाहिए.पिता ने हमें महत्व दिया है.यदि हमें पिता ने महत्व नहीं दिया होता तो आज हम इस संसार में नहीं होते इसलिए हमें अपने पिता का सम्मान करना चाहिए.

फादर्स डे के दिन पिता को यात्राए करवानी चाहिए.तथा जो पिता की इच्छा हो उसे पूरा करना चाहिए.जिससे उनका दिल खुश होगा.और जब पिता का हाथ सिर पर हो वही मोक्ष के लिए काफी है.

एक पिता की तुलना कोई नहीं कर सकता है.पिता हमेशा अपनों के पक्ष में खड़ा रहता है.अपनों की रक्षा करता है.हर घडी में साथ देना वाला पिता ही होता है.हर मुशीबत में लाठी बनकर पिता ही हमारा साथ देता है.

एक पिता का जीवन जिम्मेदारियों से भरा होता है.पिता को अपने परिवार का लालन-पालन तथा सुरक्षा सहित अनेक प्रकार की सुविधाए उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी पिता के पास होती है.

प्रत्येक व्यक्ति को पिता के सम्मान के इस विशेष दिवस का इंतजार रहता है.हर कोई इस दिन अपने पिता के लिए विशेष भेंट या कुछ नया कर अपने पिता को खुश करना चाहता है.

जिससे उनका आशीर्वाद हमेशा साथ रहें. जब पिता का आशीर्वाद साथ हो तब हमें अपने जीवन में कोई दुविधा नहीं रोक सकती. पिता भगवान् के तुल्यं होते है.

इस साल आने वाले फादर्स डे के अवसर पर मैंने काफी तैयारिया की है.मैंने मेरे पिता के लिए एक गाड़ी खरीदी है.तथा एक नया कमरा बनवाया है.जो मै अपने पापा को फादर्स डे के दिन भेंट करूँगा.और अपने पिता से आशीर्वाद प्राप्त करूँगा.

मै मेरे पिता के साथ रहकर उनकी कहानिया सुनता हूँ.तो मुझे उनकी जिंदगी बहुत कठिन लगती है.हर समय मेहनत ही मेहनत और फिर कुछ लोग इतनी मेहनत करने के बाद भी पिता को घर से निकाल देते है.पर जो घर से निकलते है.वे इन्सान नहीं होते है.वो एक धब्बे के सामान होते है.

यदि आप अपने जीवन में कुछ करना चाहते है.सफलता तक पहुँचाना चाहते है.अपने जीवन का मोक्ष करना चाहते है.तो आप अपने पिता जी का सम्मान करें. उनकी सेवा करें. तथा जो लोग अपने पिता को घर में नहीं रखते है. उनके समझा बुझाकर पिता के महत्व के बारे में समझाकर उनके पिता को वापस सम्मान दिलवाए.

मैंने इस साल मेरे पिता के लिए प्रण लिया है.कि मै जब तक जिन्दा रहूँगा.आपके चरणों की धुल बनकर रहूँगा.आपकी सेवा में लगा रहूँगा.आपकी देखभाल ही मेरा धर्म है. मै जीवन भर आपका सम्मान करूँगा.ये सोच आप सभी को रखकर पिता दिवस के दिन सभी को ये प्रण लेना चाहिए.

पिता की सेवा के बदले में हमें उनसे कुछ मांगने की जरुरत नहीं है.वे अपने वरदान सामान आशीर्वाद से ही हमारा जीवन सफल बना देंगे.  इसलिए हमें हमेशा अपने पिता की सेवा करनी चाहिए.

फादर्स डे पर निबंध 2023

परिवार का सबसे महत्वपूर्ण सदस्य पिता होता है. पिता से ही परिवार संभव है पिता अपने परिवार के लिए मेहनत करता है तथा उनका पालन पोषण करता है दिन रात उनकी रक्षा करता है।

बच्चों के जीवन का मसीहा होता है दिल का शेर होता है। पिता के समर्पण के लिए तथा उनके ऋण को महसूस करने के लिए हमारे देश में हर वर्ष 19  जून को फादर्स डे मनाया जाता है।

इस दिन पिता को सम्मानित किया जाता है ढेर सारा सामान दिया जाता है तथा उनके समर्पण और अरुण को चुकाने का वादा करते हैं।

फादर डे हर वर्ष जून के तीसरे  सप्ताह में मनाया जाता है यह भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में इस दिन फादर्स डे बनाया जाता है। 2023 में फादर्स डे 19 जून को है। 

फादर्स डे की शुरुआत है 5 जुलाई 1960 को वेस्ट वर्जीनिया ने अपने पिता की मृत्यु होने पर उनकी बेटी ने 19 जून 1910 को अपने पिता की श्रद्धांजलि का आयोजन कर फादर्स डे की शुरुआत कर दी थी। 

इसके 3 साल बाद  राष्ट्रपति केल्विन ने  इस दिन को फादर्स डे के रूप में मनाने के पत्र को स्वीकार किया और  1924 में  जून के तीसरे सप्ताह को फादर्स डे के रूप में घोषित कर दिया गया इसके बाद से हर साल मनाया जा रहा है। कई देशों में इस दिन अवकाश रखा जाता है।

इस दिन सभी लोग अपने पिता परमेश्वर की पूजा करते हैं उन्हें नए नए पकवान बनाकर खिलाते हैं और प्रण लेते हैं कि वे जीवन भर इनकी सेवा में लगे रहेंगे उनके चरणों की धूल बनेंगे।

पिता परिवार का असली नायक होता है वह सभी के लिए खलनायक होता है वही परिवार का राजा और वही परिवार का नौकर होता है।  पिता ही दया दिखाते हैं और पिता ही डांट  मारते हैं।

पिता ही बुद्धिमान होते हैं और पिता ही ज्ञानी होते हैं। पिता पिता होता है और पिता दोस्त भी होता है। पिता शिक्षक होता है पिता सच्चा पथ प्रदर्शक होता है।

मेरे पिता बहुत प्यार है वह हमेशा मेरी रक्षा करते हैं मुझे गलती करने पर समझाते हैं समय पर कार्य करने को कहते हैं  मेहनती बनने के लिए कहते हैं वह हमेशा मेरा ख्याल रखते हैं पिता धूप में भी छांव बन कर  मेरी रक्षा करते हैं।

पिता भगवान के बराबर होता है इसीलिए पिता को परमेश्वर कहते हैं। पिता हर सुख दुख में साथ रहते हैं। पिता मुझे जीवन जीने के संस्कार सिखाते हैं पिता ज्ञान का पाठ पढ़ाते हैं वह मेरी हर समस्या का समाधान  बन जाते हैं।

मेरे पिता को मैं आदर्श मानता हूं मेरे पिता  किसान है वह हर समय मेहनत कर हमारा लालन पालन करते हैं हमारे एकल परिवार का मुखिया मेरे पिताजी ही हैं  मेरे पिताजी दयालु स्वभाव के हैं वह हमेशा शांत रहते हैं.

किसी  को भला-बुरा तक नहीं कहते हैं। मेरे पिताजी संस्कारवान व्यक्ति है इसी कारण मैं भी मेरे पिताजी के संस्कारों  का अनुसरण करता हूं। मेरे पिताजी हर समय अपने कार्य में लगे रहते है। 

मेरे पिताजी एक आदर्श और ईमानदार व्यक्ति होने के नाते वह सभी को एक नजर से देखते हैं। वे सभी के साथ समान व्यवहार करते हैं। मेरे पिताजी मुझे हक की लड़ाई लड़ने को कहते हैं। तथा दूसरों की मदद करने और बड़ों का आदर करना सिखाते हैं। फादर्स डे पिता के आभार व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है.

ये भी पढ़ें

उम्मीद करता हूँ, दोस्तों आज का हमारा लेख पिता दिवस पर निबंध ESSAY ON FATHERS DAY IN HINDI आपको पसंद आया होगा.यदि आर्टिकल अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. तथा सभी को फादर्स डे की ढेर सारी बधाईयाँ दें.