100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

मोबाइल फोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi

मोबाइल फोन पर निबंध- आज के इस डिजिटल युग में बड़ो से लेकर बच्चो तक सभी का सबसे श्रेष्ठ दोस्त तथा सबसे बड़ी जीवन की बर्बादी मोबाइल ही है.मोबाइल लोगो की दुनिया बन चुकी है.आज के इस आर्टिकल में हम मोबाइल फोन पर निबंध के बारे में विस्तार से पढेंगे.

मोबाइल फोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi

आज हर घर में मोबाइल फोन का प्रयोग किया जाता है.आज बाजार में किराणे से ज्यादा मोबाइल फोन की बिक्री होती है.मोबाइल हर व्यक्ति को अपना अधीन बना चूका है.मोबाइल फोन के बिना लोग अपना जीवन भी व्यापन नहीं कर पा रहे है.

विज्ञान ने काफी तरक्की की है.पर मोबाइल इनकी सबसे बड़ी सफलता है.प्राचीन समय में जहाँ मोबाइल की जगह टेलीफोन होते थे.मोबाइल फोन के अविष्कार के टेलीफोन की जगह मोबाइल ने ले ली है.इसलिए मोबाइल की तुलना में टेलीफोनो की संख्या कम है.क्योकि मोबाइल में टेलीफोन की तुलना में अधिक सुविधाए मिलती है.


मोबाइल फोन  का प्रयोग आज कौन नहीं करता है.पर पहली बार मोबाइल का अविष्कार किसने किया ? मोबाइल फोन का अविष्कार सर्वप्रथम मार्टिन कूपर नमक व्यक्ति ने 1973 में मोटोरोला कंपनी की और से कार्य करते हुए.मोबाइल फोन का अविष्कार किया. मोटोरोला कंपनी वह कंपनी थी.जिसने मोबाइल का अविष्कार किया.

पहला मोबाइल फोन हैंडहेल्ड था.इस मोबाइल में टेलीफोन की सभी सुविधाए उपलब्ध थी.और इसे पास में भी रखा जा सकता था.पहली मोबाइल फोन की कॉल जोएल.एस.एंगेल को की गई थी.इस कॉल को करने में काफी समय लगा.

प्रथम मोबाइल फोन प्रोटोटाइप हैंडहेल्ड का वजन 1.1 किलोग्राम तथा इसका माप 23x13x4.5 सेंटीमीटर (9.1x5.1x1.8 इंच) था.ये मोबाइल फोन बहुत मजबूत था.पर इस मोबाइल फोन को लगातार 10 घंटे तक चार्ज करने से ये पूर्ण चार्ज होता था.और मात्र 1 घंटे तक बातचीत करने पर ये डीचार्ज हो जाता था.

पहले मोबाइल में आज की तरह की सुविधाए उपलब्ध नहीं थी.पहले मोबाइल से मात्र बातचीत की जा सकती थी.तथा दुसरे को सुना जा सकता था.और उसे कहा जा सकता था.इसलिए इस मोबाइल को सेल्युलर फोन भी कहते है.पर आज के मोबाइल फोन में हर सुविधा मिलती है.

इस मोबाइल के प्रसार-प्रचार किये गए.जिसके परिणाम स्वरूप लोगो ने टेलीफोन की बजाय मोबाइल को पसंद करना शुरू किया. मोटोरोला कंपनी अपने मोबाइल का विकास नहीं कर पाई पर लोगो को मोबाइल के इस दूर संचार साधन के बारे में बताया.इसी समय को मोबाइल फोन की नीव कहते है.

मोटोरोला द्वारा मोबाइल अविष्कार के बाद अनेक कंपनियों ने अपने अपने मोबाइल को बाजार में भेजना शुरू किया.मोबाइल फोन की लोगप्रियता बहुत तेजी से बढ़ती गई.और कुछ ही समय में मोबाइल दूरसंचार का सबसे बड़ा साधन बन गया.इस नई तकनीक से लोग काफी प्रभावित हुए.

जैसे जैसे मोबाइल फोन का निर्यात ज्यादा होने लगा वैसे वैसे इसमे जरुरत के अनुसार बदलाव किये गए.और आज हम जिस मोबाइल फोन का प्रयोग करते है.उसके हमें वीडियो कॉल से लेकर अनेक सुविधाए मिलती है.आज के मोबाइल को स्मार्ट फोन भी कहते है.

आज के मोबाइल और प्राचीन के मोबाइल में रात दिन का अंतर देखा जाता है.प्राचीन मोबाइल की तुलना में आज के मोबाइल काफी बेहतर है.पहले मोबाइल नेटवर्क में भी समस्याओ का सामना करना पड़ता था.पर आज हमारे पास 4 G का नेटवर्क उपलब्ध है.जिससे हम आसानी से इन्टरनेट का प्रयोग कर सकते है.

प्राचीन मोबाइल को पूर्वव्यापी कहा जाता है.पिछले कुछ दशको में मोबाइल में सबसे ज्यादा तरक्की देखी गई है.हमारे देश में आज अधिकांश लोगो के पास मोबाइल है.जिसमे बच्चे तथा विद्यार्थी और बूढ़े,जवान भी शामिल है.

आज हर रोज मोबाइल में नई नई सुविधाए उपलब्ध की जा रही है.आज के मोबाइल का आकार,रंग रूप तथा नेटवर्क अलग अलग होते है.पर आज के मोबाइल फोन से हमें अनेक सुविधाए प्राप्त होती है.जिसमे-वॉइस कॉलिंग, वीडियो, टेक्स्ट मैसेजिंग, इंटरनेट ब्राउज़िंग, ईमेल, वीडियो गेम और फोटोग्राफी आदि प्रमुख है.

आज के मोबाइल में अनेक स्मार्ट सिस्टम होने के कारण इन्हें स्मार्ट मोबाइल कहा जाता है.मोबाइल हमारे लिए बड़ी सुविधा के साथ साथ बड़ी दुविधा भी बना हुआ है.मोबाइल की लत जीवन को बर्बादी की और पहुंचाती है.इसलिए हमें मोबाइल का प्रयोग सिमित ही करना चाहिए.खासकर बच्चो को इससे दूर रहना चाहिए.

मोबाइल फोन पर निबंध Mobile Phone Essay in Hindi

आज के लोगो का सबसे बड़ा मनोरंजन का साधन मोबाइल फोन है.हर व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में मोबाइल फोन को जगह देता है.मोबाइल ने आउट डोर गेमो की जगह बना ली है.मोबाइल जीवन का साथी है.जो हर समय साथ रहता है.तथा मनोरंजन का साधन बनता है.

मोबाइल फोन से हमें अनेक नुकसान होते है.पर हर वह वस्तु जिससे हमें नुकसान होता है.तो उससे फायदा भी होता है.लाभ और हानि एक ही पहिए के दो पहलू है.इसलिए हमें लाभ की प्राप्ति करनी चाहिए.जो हमारे लिए उपयोगी नहीं है.उसे जीवन में महत्व नहीं देना चाहिए.

मोबाइल फोन के फायदे\लाभ
  • एक संचार माध्यम के रूप में
  • ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने का एकमात्र साधन
  • ऑनलाइन व्यापार का साधन
  • कानूनी तथा सरकारी जानकारी
  • ऑनलाइन दस्तावेज आदान प्रदान
  • आपातकालीन सहायता
  • ऑनलाइन वॉइस कॉलिंग, वीडियो, टेक्स्ट मैसेजिंग, इंटरनेट ब्राउज़िंग, ईमेल, वीडियो गेम और फोटोग्राफी आदि की सुविधा
  • मनोरंजन का प्रमुख साधन
  • ऑनलाइन बैंकिंग
  • ऑनलाइन खरीददारी 

मोबाइल फोन के नुकसान
  • समय की दुरुपयोग
  • मोबाइल चलाने की लत
  • सामाजिक सम्बन्ध टूटने का कारण
  • साइबर अपराध का शिकार
  • मानसिक असंतुष्टि
  • आँखे ख़राब होना तथा अन्य बीमारियों का शिकार होना.
  • गोपनीयता सुरक्षा को खतरा
  • स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव
  • आर्थिक बर्बादी का कारण
  • दुर्घटना की कारण
मोबाइल फोन के स्वास्थ्य पर प्रभाव
मोबाइल फोन का ज्यादा उपयोग करने से हमारे स्वास्थ्य पर इसका बुरा असर पड़ता है.हमेशा बैचैनी सी छाई रहती है.मोबाइल से आँखे कमजोर होती है.तथा इससे कई रोगों की संभावना भी बनती है.मोबाइल का ज्यादा प्रयोग से सेहत बिगड़ने का खतरा बना रहता है.हमेशा किसी न किसी बात को लेकर अशांति बनी रहती है.

मोबाइल प्रयोग से दैनिक जीवन के सभी कार्यो को सही समय पर नहीं किया जाता है.जिससे हमारा स्वास्थ्य बिगड़ जाता है.और बीमारियों का शिकार होना पड़ता है.ज्यादा मोबाइल चलाने से कैंसर जैसी बीमारी की संभावना रहती है.अतः इसके अनेक प्रभाव स्वस्थ्य पर देखने को मिलते है.

अंधेरे में मोबाइल चलाने से क्या होता है?
रात के समय में हम अँधेरे में जब मोबाइल फोन का प्रयोग करते है.जिससे हमें अनेक नुकसान होते है.पर हम इन पर ध्यान नहीं देते है.अँधेरे में मोबाइल फोन चलाने से हमारी आँखों पर इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है.तथा साथ ही दिमाक पर भी प्रभाव दिखता है.

रात के समय में आधे घंटे तक अँधेरे में मोबाइल फोन के प्रयोग से हमारी रेटिना पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है.जिससे हमारी आँखों से आंसू बहने शुरू हो जाते है.तथा कुछ समय बाद आँखे सुख जाती है.जिससे रेटिना को भारी नुकसान होता है.और आँखे खराब होने का खतरा बना रहता है.इसलिए मोबाइल का प्रयोग रात के अँधेरे में  करें.

मोबाइल फोन के दुष्प्रभाव
मोबाइल फ़ोन से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है.तथा बच्चे के दिमाक पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है.कई लोग ये भी पूछते है कि.मोबाइल पास में रखकर सोने से क्या होता है? जो लोग मोबाइल फोन को पास में रखकर सोते है.जिससे मोबाइल की इलेक्ट्रोमेगनेटिक विकिरणों का प्रभाव मनुष्य के शरीर पर पड़ता है.

मोबाइल के ज्यादा उपयोग से मोबाइल की विकिरणों का प्रभाव पड़ता है.जिससे कैंसर होने के संभावना बनती है.तथा इलेक्ट्रोमेगनेटिक विकिरणों से डीएनए प्रभावित होता है.जिससे नपुसंक होने की खतरा रहता है.मोबाइल के रेडिएशन से हमारे मन तथा मस्तिष्क पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है.

प्रिय दर्शको आज का हमारा लेख मोबाइल फोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi आपको कैसा लगा कमेन्ट में अपनी राय दें.यदि पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.