100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs Speech Short Nibandh Wikipedia Pdf Download, 10 line

श्रीमती प्रतिभा पाटिल पर निबंध Essay on Smt. Pratibha Patil in Hindi

श्रीमती प्रतिभा पाटिल पर निबंध- हमारे देश में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है जिसमें आज कैसे आर्टिकल में हम श्रीमती प्रतिभा पाटिल भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति पर निबंध के माध्यम से प्रतिभा पाटिल के बारे में संपूर्ण जानकारी बारे में संपूर्ण जानकारी पढ़ेंगे।

श्रीमती प्रतिभा पाटिल पर निबंध Essay on Smt. Pratibha Patil in Hindi

श्रीमती प्रतिभा पाटिल पर निबंध Essay on Smt. Pratibha Patil in Hindi

प्रतिभा पाटिल की जीवनी- भारत की 13वी तथा पहली महिला राष्ट्रपति के रूप में प्रतिभा पाटिल ने हमारे देश के विकास में अहम भूमिका निभाई। प्रतिभा पाटिल का पूरा नाम प्रतिभा देवी सिंह पाटिल है प्रतिभा पाटिल का जन्म 19 सितंबर 1934 को महाराष्ट्र में हुआ प्रतिभा पाटिल के पिता का नाम नारायणराव था। प्रतिभा पाटिल ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने जलगांव से ही पूर्ण की। 


प्रतिभा पाटिल ने अपने जीवन में आगे बढ़ कर महिलाएं पुरुष के बीच भेदभाव को काम किया और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया। उनका मानना था कि जो काम पुरुषों द्वारा किया जा सकता है वह महिलाओं द्वारा भी किया जाना चाहिए जो अधिकार पुरुषों को है वह महिलाओं को भी मिलना चाहिए हालांकि महिलाओं को अधिकार प्राप्त है पर महिलाएं इसका प्रयोग नहीं करती है।


भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ जब एक महिला राष्ट्रपति बनी सभी को यह घटना आश्चर्यचकित कर देने वाली थी। पर कई देश ऐसे हैं जहां कई सालों से महिलाओं का शासन चल रहा है। प्रतिभा पाटिल भारत के राष्ट्रपति ही नहीं बल्कि देश के लिए उन्होंने अपने इस कार्यकाल में काफी योगदान दिया।


 प्रतिभा पाटिल बचपन से ही राजनीति को पसंद करती थी। बचपन से ही वह एक ईमानदार और सच्ची राजनेता बनने के लिए तैयार थी। अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूर्ण करने के बाद प्रतिभा पाटिल ने मूलजी जैठा कॉलेज m.a. की उपाधि प्राप्त की। 


इसके बाद मुंबई किलो कॉलेज में जाकर प्रतिभा पाटिल ने कानून डिग्री हासिल की। अपनी शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात कई सालों तक प्रतिभा पाटिल ने वाकलत का कार्य किया। वकालत के दौरान प्रतिभा पाटिल ने खूब समाज सेवा की और लोगों का दिल जीता। 


वकालत करते समय ही  प्रतिभा पाटिल को राजनीति में जाने का लक्ष्य ठान लिया और आखिरकार  प्रतिभा पाटिल ने अपने सपने को पूरा करने के लिए मात्र 27 साल की आयु में 1962 मैं कांग्रेस पार्टी की ओर से महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव लड़ा और इस चुनाव में  प्रतिभा पाटिल को भारी मतों से विजय मिली। 


इसी बीच प्रतिभा पाटिल ने देव सिंह रण सिंह शेखावत से विवाह किया उन्हें एक पुत्र और एक पुत्री का जन्म हुआ।


प्रतिभा पाटिल ने अपने शासनकाल में बेरोजगारों को अनेक नए नए काम दिए तथा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया। इसके साथ ही उन्होंने काल में महाराष्ट्र में खूब उन्नति की और महाराष्ट्र के सभी नागरिकों की हर एक इच्छा को प्रतिभा पाटिल ने पूर्ण करने के लिए अपने प्रयास किए ऐसे समाज सेवा के बदौलत परिणाम स्वरुप प्रतिभा पाटिल को चार बार लगातार विधानसभा चुनाव में विजय मिली। 


प्रतिभा पाटिल के शासनकाल से पहले महाराष्ट्र में राज्य मंत्री और कैबिनेट मंत्री नहीं थे  जनता की मांग पर  प्रतिभा पाटिल ने महाराष्ट्र सरकार में राज्य मंत्री और कैबिनेट मंत्री की स्थापना की। 


प्रतिभा पाटिल ने अपने जीवन में ईमानदारी सच्चाई सादगी के साथ अपने कर्तव्यों को निभाया। विधानसभा चुनाव मैं 4 बार लगाता जीतने बाद प्रतिभा पाटिल राज्यसभा का  सदस्य के रूप में चुनी गई। 2 वर्ष तक  प्रतिभा पाटिल ने इस पद पर कार्य किया। इसके बाद सन 2004 में प्रतिभा पाटिल राजस्थान का राज्यपाल बना दिया गया।


पर 25 जुलाई 2007 को प्रतिभा पाटिल भारत की  टैरवी और पहली महिला राष्ट्रपति बनी राष्ट्रपति पद को ग्रहण करने राज्यपाल के पद को इस्तीफा दे दिया। हमारे देश में पहली बार सर्वोच्च संवैधानिक पद पर एक महिला बैठी। और एक बार फिर महिलाएं पुरुषों से कम नहीं इस धारणा को सभी के सामने प्रस्तुत किया।


प्रतिभा पाटिल बचपन से ही खेलों में रुचि रखती थी इसलिए उन्होंने विद्यालयों में खेल के लिए काफी कार्य किया तथा  बालिका शिक्षा के लिए हॉस्टल का निर्माण करवाया। और साथ ही पुरुषों के लिए इंजीनियर कॉलेज की स्थापना की इस प्रकार बच्चों से लेकर युवाओं तक सभी की सहायता की और उनके शिक्षा के लिए व्यवस्था बनवाई।


प्रतिभा पाटिल ने राष्ट्रपति के पद पर रहते ईमानदारी सच्चाई के साथ शासन किया देश के सर्वोच्च पद राष्ट्रपति होने के बाद भी  प्रतिभा पाटिल छोटे बच्चों से राय ली करती थी और  बच्चों से घुलमिल कर रहती थी और उनके  उज्जवल भविष्य के लिए कामना करती थी।


प्रतिभा पाटिल ने महिलाओं के लिए रोजगार शुरू किया। प्रतिभा पाटिल ने महिला बच्चों और पुरुषों के चाहता के लिए अनेक कार्य किए जो कि आज भी काफी हद तक प्रशंसनीय है। प्रतिभा पाटिल के शासनकाल में हमारे देश का विकास  बहुत तेजी से हुआ।


प्रतिभा पाटिल ने कानूनी रूप से देश पर शासन किया। गरीबों और गरीबों के उत्थान के लिए अनेक कार्य किए। महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के इस अनोखे समर्पण को सलाम करते हैं।


आज भी प्रतिभा पाटिल सहयोग में लगी हुई है.और देश के गरीबो और महिलाओ की सहयता कर रही है.हम उम्मीद करते है.कि ऐसे ही प्रतिभा पाटिल जनसेवा में लगी रहे.और आने आने वाले नेता भी जनसेवा को बढ़ावा दें.


प्रतिभा पाटिल द्वारा स्थापित संस्थाए

  • (1) मुंबई और दिल्ली में छात्रावास के निर्माण का कार्य हो रहा है.
  • (2) जलगाँव में इंजीनियरिंग कॉलेज का निर्माण 
  • (3) नेत्रहीन के लिए प्रशिक्षण विद्यालय का निर्माण 
  • (4) किसानो के लिए कृषि केंद्र का निर्माण 
  • (5) गरीबो तथा वर्ग के बच्चों के लिए विद्यालय का निर्माण


प्रिय दर्शकों उम्मीद करता हूं आज का हमारा आर्टिकल श्रीमती प्रतिभा पाटिल पर निबंध Essay on Smt. Pratibha Patil in Hindi आपको पसंद आया होगा  यदि लेक अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।