100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

प्रौद्योगिकी विजन 2035 पर निबंध | Essay On Technology vision 2035 In Hindi

प्रौद्योगिकी विजन 2035 पर निबंध | Essay On Technology vision 2035 In Hindi: नमस्कार दोस्तों आज का निबंध भारत विजन 2035 पर दिया गया हैं. इस निबंध, भाषण, अनुच्छेद में हम इस विजन क्या है लक्ष्य आदि के बारे में विस्तार से यहाँ जानेगे.

Essay On Technology vision 2035 In Hindi

भारत के पूर्व राष्ट्रपति तथा मिसाइल मैंन के नाम से विख्यात डॉ कलाम ने वर्ष 1996 में भारत का विजन 2020 प्रस्तुत किया था. अब टाईफैक के चेयरमैन ने इसे आगे बढ़ाते हुए नया विजन प्रस्तुत किया है जिसे विजन 2035 का नाम दिया गया हैं.

3 जनवरी 2016 को भारतीय विज्ञान कांग्रेस की स्थापना के 103 वर्ष पूरे होने के अवसर पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोद्योगिकी विजन दस्तावेज 2035 प्रस्तुत किया.

दस्तावेज 2035 में भारत की वर्तमान स्थिति का आंकलन करते हुए भविष्य में इसके लिए आवश्यक तकनीकों के बारे में ब्यौरा दिया गया हैं. दस्तावेज 2035 एक उद्देश्य भर नहीं है बल्कि एक विजन है जिसे विज्ञान के क्षेत्र में देश की जनभागीदारी से 2035 तक पूरा किया जाना हैं.

इस विजन को पूर्व प्रधानमंत्री श्री कलाम को समर्पित करते हुए मोदी जी ने कहा था कि टाइफैक के द्स्तावेज में उल्लेखित 12 चिन्हित क्षेत्रों की तरफ देश के वैज्ञानिकों तथा नीति निर्माताओं का ध्यान अवश्य जाएगा. यह दस्तावेज बताता है कि आज हम कहाँ है और अगले 20 वर्षों के दौरान में हम क्या करना चाहते हैं. हमारे लक्ष्यों को पूरा करने में कौनसी तकनीक हमारी मदद कर सकती हैं. विजन के इस लक्ष्य को पूरा करने में किन किन बाधाओं का सामना करना पड़ेगा आदि का ब्यौरा दिया गया हैं.

विज्ञान विजन दस्तावेज में 12 मुख्य क्षेत्रों को चिन्हित किया गया हैं. जिनमें कृषि, खाद्य, ऊर्जा, आवास, बुनियादी सरंचना, सामग्री, सूचना एवं संचार प्रोद्योगिकी, निर्माण, यातायात, पर्यावरण, जल एवं चिकित्सा तथा स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र को चुना गया हैं.

इसका मुख्य उद्देश्य देश की सुरक्षा और लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाने के साथ ही भारत की अस्मिता को बढ़ाना हैं. भारत की 22 वीं अनुसूची में उल्लेखित सभी भाषाओं में विजन के व्यक्तव्य जिसे हमारी आकांक्षा का नाम दिया है उसे प्रस्तुत किया गया हैं. इस विजन के तहत प्रत्येक भारतीय नागरिक को 2035 तक स्वच्छ वायु, पेयजल, खाद्य सुरक्षा, सार्वजनिक स्वच्छता तथा स्वास्थ्य की सुविधाएं, 24 घंटे बिजली, बेहतर आवास, शिक्षा, रोजगार तथा सृजन के नयें अवसर के अधिकारों की बात कही गई हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे