100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

विज्ञान पर निबंध Essay on Science in Hindi

 विज्ञान पर निबंध  Essay on Science in Hindi

 आज के युग को हम विज्ञान का युग भी कह सकते है। विज्ञान ने हमारे समाज के विकास मे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। विज्ञान का शाब्दिक अर्थ होता है -''विशेष ज्ञान'' हम विशेष ज्ञान को ही विज्ञान कहते है। विज्ञान के बढ्ते प्रभाव ने हमे आलसी एंव आसान बना दिया है

 विज्ञान की मदद से हमे लंबी दूरी तय करना आसान बना दिया है आज के युग मे तेज गति से चलने वाले वाहन भी उपलब्ध है जो समय और मेहनत को बचाते है। टेक्नोलोजी के कारण हमे जो काम घंटो मे करने को मिलता था वह अब सेकेंडो मे हो जाता है विज्ञान ने हर चीज को आसान्न बना दिया है 

 निबंध - 1 (1000 शब्द)

प्रस्तावना

हमारे दैनिक जीवन की हर घटना के पीछे का कारण विज्ञान है, फिर चाहे वह चक्रवात, तूफान या वर्षा होना हो या फिर पानी का उबलना और जमना आदि।विज्ञान का प्रभाव  भारत मे ही नहीं पूरे संसार मे फैला हुआ है।  विज्ञान का उपयोग इतना बढ़ गया है कि हर कार्य मशीनों के द्वारा होता है। मनुष्य ने विज्ञान को अपने जीवन का अटूट हिस्सा बना लिया है।

 विज्ञान के द्वारा मनुष्य को किसी चीज की कमी महशुस नहीं होती है इसने मनुष्य जीवन को आनंदमय बना दिया। विज्ञान जीवन का पर्याय बन चुका है। विज्ञान की वजह से मनुष्य को हर प्रकार की सुविधा मिल रही है। यहाँ तक कि मनुष्य पक्षियो कि तरह उड़ सकता है। तथा पानी मे भी लंबे समय तक रह सकता है यह सभी क्रियाए विज्ञान का ही परिणाम है। 

विज्ञान का अर्थ एंव परिभाषा 

विज्ञान का अर्थ-  विज्ञान शब्द संस्कृत के विज्ञानम से बना है जिसका अर्थ है विशेष ज्ञान है। या फिर हमे इसे वस्तुओ के व्यवस्थित ज्ञान  भी कह सकते है। विज्ञान को अँग्रेजी मे साइन्स कहते है साइन्स लेटिन भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है। जानना।  

परिभाषा- प्रकृति के क्रमबद्ध अध्ययन से अर्जित एंव प्रयोगो द्वारा प्रमाणित वर्गीकृत ज्ञान को ही विज्ञान कहते है। 

विज्ञान दिवस 

संसार के नये विकिरण की खोज करने वाले भारत के महान वैज्ञानिक चन्द्रशेखर वेंकटरमन की इस खोज को ''रमन इफेक्ट'' का नाम दिया गया। 28 फरवरी 1930 को इन्हे नोबोल पुरस्कार  के साथ सम्मानित किया गया तथा उसी दिन से 28 फरवरी को ''को प्रत्येक वर्ष ''राष्ट्रीय विज्ञान दिवस'' के रूप मे मनाते है। 

विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लाभ

आज विज्ञान के युग मे कोई भी कार्य जल्दी और सुविधापूर्वक हो जाता है। पिछले जमाने मे आटा पीसना, खेती करना, कुएं से पानी लाना, ऐसे कई सारे काम हाथो से करने पड़ते थे। जो कि अब मशीनों द्वारा होते है। आज अन्तरिक्ष आकाश का रहस्य जानने मे हम संक्षम है।

 विज्ञान के द्वारा हमे बिजली के उपकरण जैसे- रेफ़्रिजरेटर, एसी, कूलर, पंखा यहाँ तक की कपड़े धोने, खाना पकाने के लिए भी मशीने उपलब्ध है। किसी भी सूचना को स्थानान्तरित करने के लिए मोबाइल, कम्प्यूटर, के उपयोग से एक सेकेंड मे सूचना दे दी जाती है। 

  कम्प्यूटर का उपयोग बेंकिंग आदि कार्यो मे किया जाता है। इसी तरह विज्ञान ने चिकित्सा और कृषि के क्षेत्र मे अपना प्रभाव डाला है। नए ग्रहो व अन्तरिक्ष मे उपग्रहो की स्थापना विज्ञान के द्वारा ही संभव है। विज्ञान ने कई रोगो के निदान ने लाखो लोगो की जान बचाई हैं। 

विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उपयोग हमारे जीवन मे दिन -प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। हम सुबह उठने से लेकर शाम को सोने तक विज्ञान और प्रौद्योगिकी का ही उपयोग करते है। बिना प्रौद्योगिकी के अब एक दिन भी नहीं जी सकते है। अब हमारा जीवन ही विज्ञान और प्रौद्योगिकी बन चुका है।  

विज्ञान के विकास मे भारत का योगदान

आर्य भट्ट सर्वप्रथम व्यक्ति थे। जिन्होने कहा था। कि प्रथ्वी गोल है वह अपने अक्ष पर घूमती है। जिससे रात तथा दिन होते है। चन्द्रमा के पास प्रकाश नही होता है। वह सूर्य के प्रकाश से चमकता है। 

 ब्रहंगुप्त पहले गणितज्ञ थे। जिन्होने शून्य के कार्य करने के नियम बनाए। इन्होने गणित के दो भाग बताये। 

1.बीजगणित 

2. अंक गणित 

भारत ने विज्ञान के विकास मे बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अधिकतर वैज्ञानिको का जन्म भारत मे ही हुआ है। 

विज्ञान विषय के रूप में

अब विज्ञान पहली कक्षा से लेकर हर कक्षा मे विज्ञान विषय का सेलेबस आता है। जिससे हम  जान सकते है। कि विज्ञान मे कुछ खास होने की वजह से यह हर क्लास मे आता है। तथा हमे सौरमंडल का ज्ञान कराता है। तथा प्रौद्योगिकी के बारे मे  सिखाता  है। 

विज्ञान हमारे अतीत के साथ ही हमारे भविष्य के बारे मे भी हमे ज्ञान कराता है। ग्रहो की उत्पति के बारे मे हमे पूरी जानकारी देता है। विज्ञान को हम तीन भागो मे विभाजित कर सकते है 

1. भौतिक विज्ञान - भौतिक विज्ञान हमे मशीनों के बारे मे जानकारी देता है। आज का मानव प्रगतिशील है।आज के समय मे भौतिक विज्ञान हमे नए स्रोतो की ओर अग्रसर कराता है।

 मानव के दैनिक जीवन मे काम आने वाले तत्व जैसे - चश्मो मे लग्ने वाले काँच,रेडियो, रंगीन टेलीविजन, विद्युत इंजन, टेलीफ़ोन, कृत्रिम उपग्रह, रंगीन फ़ोटोग्राफ़ी, सिनेमा, मौसम की पूर्व में ही भविष्यवाणी, सौर चूल्हा, सौर बैटरी, चन्द्रमा व मंगल ग्रह की यात्रा तथा कैलकुलेटर आदि सभी तत्व भौतिक विज्ञान की देन है। यहा तक की वैज्ञानिको ने परमाणु बम, हाइड्रोजन बम, न्यूट्रॉन बम बना दिये है। इनका उपयोग मानव को सुखी बनाने के लिए किया जाता है। 

2. रसायन विज्ञान - यह हमे पृथ्वी के अंदर पाए जाने वाले पदार्थो से संबन्धित तत्वो के बारे मे जानकारी देता है। रासायनिक विज्ञान मे रासायनिक अभिक्रियाए तथा उनके सिद्धांतों का अध्ययन किया जाता है। इसमे दवाईया बनाई जा सकती है।  रासायनिक विज्ञान के उदाहरण - साबुन, तेल, ब्रश, मंजन, कंघी, शीशा, कागज, कलम, स्याही, दवाइयां, प्लास्टिक,अम्ल आदि रसायन विज्ञान की ही देन हैं। 

 रसायन विज्ञान की मुख्यतः दो शाखाएँ है

1. अकार्बनिक रसायन विज्ञान: इसके अंतर्गत सभी अकार्बनिक तत्त्वों एवं उनके यौगिकों का अध्ययन किया जाता है।

2. कार्बनिक रसायन विज्ञान: इसके अंतर्गत कार्बन के यौगिकों का अध्ययन किया जाता है।


3. जीव विज्ञान - यह हमे जीवो के बारे मे अध्ययन कराता है। जिन वस्तुओं की उत्पत्ति किसी विशेष अकृत्रिम जातीय प्रक्रिया के फलस्वरूप होती है, 'जीव' कहलाती हैं। जीव विज्ञान छात्रों को कोशिकाओं के बारे में सिखाता है। इससे ज्ञान होता है। कि,कोशिकाएं मानव रक्त में मौजूद होती हैं।

विज्ञान के चमत्कार 

1.चिकित्सा के क्षेत्र में - विज्ञान की नई खोजो के चलते आज मानव हर मुसीबत का सामना कर सकता है।पहले मलेरिया,नमुनिया तथा पीलिया जैसे कई रोग खतरनाक बन चुके थे। ये रोग की वजह से रोज कई लोगो की जान जाती थी।
 लोगो की जानलेवा बीमारी बन चुकी थी। परंतु आज ये रोग वैज्ञानिको की वजह से ये बीमारिया आम बन चुकी है। एड्स जैसी बीमारी को भी जड़ से उखाड़ने मे हम सक्षम है। विज्ञान ने चिकित्सा से क्षेत्र मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।   

2.संचार के क्षेत्र में - पहले लोग कोई भी समाचार डाक द्वारा भेजा जाता था।  जो कि विज्ञान के प्रभाव की वजह ऑनलाइन न्यूजपेपर, ऑनलाइन न्यूजसाइट से हम घर बैठे हर खबर हमारे पास पहुँच जाती है।

 विज्ञान के इस युग मे हर शहर की खबर हमारे पास पहुँच जाती है।हमारे परिवार वाले काही पर भी हो। हम उनसे हर समय मिले रह सकते है। उनके साथ वार्तालाप कर सकते है। उनका चेहरा देख सकते है।  

3.यातायात के क्षेत्र में -यातायात के क्षेत्र में :इस समय लोगो का ध्यान वाहनो को खरीदने मे लग चुका है। हर व्यक्ति वाहन खरीदने के लिए उत्सुक है। पहले लोग एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए कई दिनो का समय लगता था। वही आज घंटो मे हो जाता है।

 पहले लोग केवल कल्पना करते थे। कि हवाई जहाज भी बन सकती है। हवाई जहाज मे चढ़ना लोगो का सपना था। परंतु आज हर व्यक्ति हवाई जहाज का सफर कर सकता है। आज हमारे देश मे लगभग हर घर मे वाहन है।  

निष्कर्ष

विज्ञान के बढ्ते प्रभाव से हमारा जीवन आसान तथा आरामदायक बन जाता है। विज्ञान ने हमें अपनी तरफ से भेंट के रूप मे संपप्ति दी है।  उपहार के रूप में कई ऐसी संपत्ति दी।

 विज्ञान ने हर व्यक्ति के जीवन को प्रभावित कर दिया है। आज सभी का सहारा विज्ञान बन चुका है। जिसमें मुख्य रूप से मोबाइल, इंटरनेट, बल्व, लाइट, सायकिल, कम्पूटर आदि हमारा दैनिक जीवन का साधन बन चुका है। वास्तव मे विज्ञान के बिना हमारा अस्तित्व निर्भर नहीं करता है।

 हर समय नई तकनीकें आ रही हैं इस प्रकार हम का सकते है। कि हमारा युग विज्ञान और प्रौद्योगिकी का युग माना जाता है। विज्ञान हमारे समाज की रीढ़ की हड्डी बन चुकी है। विज्ञान हमे सब-कुछ देता है। विज्ञान के बिना हम हमारे जीवन की कल्पना नहीं कर सकते है।