100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs Speech Short Nibandh Wikipedia Pdf Download, 10 line

सिन्धु नदी पर निबंध Essay On Sindhu River In Hindi

सिन्धु नदी पर निबंध Essay On Sindhu River In Hindi


हमारे देश एशिया मे स्थित है। एशिया मे अनेक लंबी-लंबी तथा मीठे पानी की नदिया है। एशिया का सबसे लंबी नदियो मे एक नाम सिंधु नदी भी आता है। आज का हमारा ये लेख सिंधु नदी पर है। इसमे हम सिंधु नदी के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से जानेंगे।

सिन्धु नदी पर निबंध Essay On Sindhu River In Hindi


सिंधु नदी की उद्गम स्थल (उत्पति) मानसरोहर झील के पास मे तिब्बत मे है। ये तिब्बत देश से पश्चिम दिशा की ओर आगे बढ़ती हुई। सिंधु नदी भारत मे एक गॉर्ज (नदियो द्वारा पहाड़ को काटकर बनाया गया रास्ता) बनाकर लद्दाख मे प्रवेश करती है। भारत के जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश तथा पंजाब से ये नदी गुजरती है। इस नदी का भारत मे उद्गम स्थल हिमालय है। 


ये नदी तिब्बत के पठारो से आती है। तथा भारत मे पहाड़ी इलाको के कारण ये बहुत तेजी से चलती है। ये नीचे आने पर अपनी गति कम कर देती है। ये नदी भारत से आगे पाकिस्तान मे जाती है। ये पाकिस्तान मे बलिस्तान से प्रवेश कर गिलगित मे जाती है। इसके बाद इस नदी मे सतलज,व्यास,राबी तथा चेनाम आदि नदिया मिल जाती है। 


ये नदिया सिंधु नदी मे मिठानकोठ स्थान पर मिलती है। इसके बाद ये नदिया संगम कर पूर्व की तरह कारांची से होकर अरब सागर मे मिल जाती है। सिंधु द्रोणी (सिंधु नदी का क्षेत्र ) का 1/3 (एक तिहाई)भाग भारत मे है। पंजाब हिमाचल तथा जम्मू कश्मीर मे स्थित है। 


तथा शेष भाग पाकिस्तान तथा तिब्बत मे स्थित है।  सिंधु नदी तिब्बत से अरब सागर तक 2900 वर्ग किलोमीटर का रास्ता तय करती है। ये ज़्यादातर पहाड़ी इलाको से होकर गुजरती है। आर्थत सिंधु नदी की लंबाई 2900 वर्ग किलोमीटर है। 


सिंधु जल संधि 1960 

हमारे देश का दो भागो मे उदभव हुआ। जिसमे एक भारत तथा दूसरा पाकिस्तान था। सिंधु के जल का बंटवारा भारत सरकार के लिए ये एक मुद्दा बना गया था। इस पर भारत सरकार ने कई सालो तक विचार-विमर्श किये जिसके बाद सरकार ने एक फैसला निकाला किया और पूर्वी नदियो (रावी, ब्‍यास तथा सतलुज) के जल का प्रयोग भारत करेगा। जो कि 20%है। 


और पश्चिमी नदियो (इंडस, झेलम तथा चिनाव) के जल का उपयोग पाकिस्तान करेगा। जो कि 80%है।1960 के जल समझौते के अनुरूप इस नदी के जल का 80% उपयोग पाकिस्तान करेगा। तथा शेष 20% भारत करेगा। पाकिस्तान के लगभग 90% लोग सिंधु नदी से पीते है।


सिंधु नदी की कई सहायक नदिया है। जो कि इसे एक विशाल नदी के रूप मे बनाते है। 

  • ब्यास नदी,चिनाब नदी,गार नदी,गिलगित नदी
  • गोमल नदी,झेलम नदी,काबुल नदी,कुनार नदी
  • कुर्रम नदी,पानजनाद नदी,रावी नदी,सून नदी
  • सुरू नदी,सतलुज नदी,स्वात नदी,नदी 
  • तथा झॉब नदी इसकी सहायक नदिया है। 
  • जिसमे सबसे प्रमुख नदिया जास्पर, श्योक, नबरा तथा हुंजा प्रमुख है।

सिंधु नदी उपमहाद्वीप के पश्चिम भाग की सबसे बड़ी नदी है।  इस नदी की लंबाई 3180 किलोमीटर है। ये पाकिस्तान की सबसे बड़ी नदी है। इसका उदगम तिब्बती क्षेत्र के हिमालय के कैलाश रेंज से होता है। पाकिस्तान की अधिकांश जनता को जल सिंधु नदी से मिलता है। दुनिया की 21 सबसे बड़ी नदी सिंधु है।

सिंधु नदी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल तथा जवाब 

सिंधु नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी झेलम है। सिंधु नदी किस दिशा में बहती है? सिंधु नदी तिब्बत से भारत  की और पश्चिम दिशा मे बहती है।

सिंधु नदी किस ग्लेशियर से निकलती है? सिंधु नदी सानोख्याबाब ग्लेशियर से निकलती है। 

सिंधु नदी कहाँ से निकलती है? सिंधु नदी तिब्बत के पहाड़ी इलाको से निकलती है। 

सिंधु नदी क्यों प्रसिद्ध थी? सिंधु एक राष्ट्रीय नदी है। ये तिब्बत भारत तथा पाकिस्तान से गुजरती है। ये नदी भारत तिब्बत तथा पाकिस्तान को अपना जल पीने के लिए प्रयुक्त करती है। इसलिए ये नदी प्रसिद्ध थी? 

सिंधु नदी कहां पर स्थित है? सिंधु नदी जम्मू-कश्मीर के लेह मलानी हाइवे करू के पास मे स्थित है। सिंधु नदी का दूसरा नाम क्या हैसिंधु नदी का दूसरा नाम इंदुस्स नदी है। 


उम्मीद करता हूँ। दोस्तों आज का हमारा लेख सिन्धु नदी Sindus River In Hindi आपकों पसंद आया होगा। आपको हमारे लेख से आपको सिन्धु नदी के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।