100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs Speech Short Nibandh Wikipedia Pdf Download, 10 line

पंजाब राज्य पर निबंध Essay On Punjab In Hindi

मेरा राज्य पंजाब राज्य पर निबंध Essay On Punjab In Hindi नमस्कार दोस्तों आज हम सबसे समृद्ध राज्य एंव हमारे देश की रक्षा के लिए सबसे अधिक बलिदान देने वाले राज्य पंजाब का इतिहास, वेशभूषा,खान-पान, रीती रिवाज तथा संस्कृति के बारे में विस्तार से पढेंगे.

पंजाब राज्य पर निबंध Essay On Punjab In Hindi

पंजाब राज्य पर निबंध Essay On Punjab In Hindi

पंजाब भारत का एक राज्य है, जो क्षेत्रफल में काफी छोटा राज्य है, पर राज्य सम्पूर्ण देश के लिए सबसे महत्वपूर्ण राज्य है. ये राज्य वीरो की भूमि रही है, यहाँ के लोगो ने सबसे अधिक देश के लिए बलिदान दिए है.

इस राज्य का इतिहास भी काफी गौरवान्वित करने वाला रहा है. यहाँ के लोगो ने कई बार देश के लिए लडाईया लड़ी है. इस राज्य में आज भी लोग देशभक्ति को सबसे श्रेष्ठ मानते है, तथा आज भी भारतीय सेना में अधिकांश पंजाबी लोग मिलेंगे. जो इस राज्य की मुख्य विशेषता है.

पंजाब का नाम दो शब्दों से बना है, जिसमे एक पञ्च तथा दूसरा आब है, जिसका सामान्य भाषा में अर्थ पांच नदियों का प्रदेश होता है. पर अब इस राज्य में मात्र 2 नदिया ही है.

पंजाब पर 10 वाक्य 10 Lines on Punjab in Hindi 

  1. आधुनिक पंजाब की स्थपना 1 नवम्बर 1966 को की गई.
  2. पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ है, जो हरियाणा की राजधानी भी है.
  3.  पंजाब का राजकीय पक्षी नॉर्दर्न गोशाक पशु चिंकारा तथा पेड़ शीशम का पेड़ है.
  4. पंजाब की अधिकारिक भाषा पंजाबी है, जो राजकीय भाषा भी है.
  5. इस राज्य में सबसे अधिक सिक्ख धर्म के अनुनायी रहते है.
  6.  ये राज्य 23 जिलो का समूह है.
  7. इस राज्य में अमृतसर में स्वर्ण मंदिर भी है. जो सबसे अधिक बार देखा जाने वाला स्थल है.
  8.  पंजाब का प्राचीन नाम सप्तसिंधु था.
  9. स्वतन्त्रता पूर्व हरियाणा तथा हिमाचल प्रदेश पंजाब के ही भाग थे.
  10. यूनानी लोग पंजाबी लोगो को पैंटापोटाम्या के नाम से जानते है. 

पंजाब राज्य पर निबंध Short Essay On Punjab In Hindi

भारत देश में अनेक राज्य है, जो अपनी अलग अलग पहचान के लिए महत्व रखते है. भारत के महत्वपूर्ण राज्यों में पंजाब का नाम सबसे पहले आता है. ये भारत का सबसे महत्वपूर्ण राज्य है.

इस राज्य का इतिहास खोलकर देखा जाए तो ये राज्य देशभक्ति के लिए सर्वोपरि है. यहाँ अनेक वीरो ने देश के लिए बलिदान दिया है. जिसे हम कभी नहीं भुला सकते है.

पंजाब प्राचीन समय में सप्तसिंधु के नाम से जाना जाता था. और इसके बाद इसे पंजाब का नाम दिया गया. पंजाब में पांच नदिया बहती थी, जिस कारण इसे पंजाब यानि पांच नदियों का प्रदेश कहा जाता था.

इस राज्य में पांच नदिया सतलुज, बियास, रावी, जेहलम तथा चनाव प्रमुख नदिया थी. जिसमे से वर्तमान भारतीय पंजाब में दो नदिया है. स्थित है. शेष 3 नदिया पाक पंजाब में स्थित है.

पंजाब को गुरुओ की भूमि कहा जाता है. यहाँ अनेक गुरु हुए है. इस भूमि पर गुरुओ की संख्या ही ज्यादा नहीं बल्कि यहाँ गुरुओ का सम्मान भी बेहतर ढंग से किया जाता है.

इस पवित्र भूमि में सिक्खों के 9 गुरु हुए, जिन्होंने अपने उपदेशो से सभी को प्रभावित किया. गुरुओ की भूमि पंजाब प्राचीन समय से ऋषि मुनियों की भूमि रही है.

हमारे देश की सेना मे अधिकंश सैनिक पंजाबी ही मिलेंगे. क्योकि पंजाब के लोग सबसे ज्यादा देशप्रेमी होते है. यहाँ देश के लिए प्राचीन काल से जान पर खेलने वाले कई वीर सपूत हुए है. जिन्होंने देश की रक्षा के लिए खुद को देश के लिए अर्पित कर दिया था. उन्ही में भगत सिंह जैसे अनेक वीर सपूत हुए थे.

पंजाब राज्य की कला संस्कृति काफी प्रसिद्ध है. यहाँ की भाषा संस्कृति देश में नहीं विश्व प्रसिद्ध है. विश्व प्रसिद्ध भांगड़ा नृत्य पंजाब का ही लोकप्रिय नृत्य है.

इस राज्य के अधिकांश लोग कृषि को अपना जीवन आधार मानते है. देश में गेंहू, चावल तथा गन्ना सबसे अधिक पंजाब में ही होता है. पंजाब में मुख्यत पंजाबी भाषा बोली जाती है. जिसमे गुरुमुखी लिपि का प्रयोग किया जाता है.

पंजाब राज्य भारत छोटा राज्य है, पर मुझे पंजाब सबसे अच्छा राज्य लगता है. मुझे मेरे पंजाब पर गर्व है. मै पंजाब से प्यार करता हूँ, पंजाब को मै और हमारा देश कभी नहीं भूल सकता है.

मेरा राज्य पंजाब पर निबंध हिंदी में Punjab Essay In Hindi

पंजाब भारत का उत्तरी पश्चिमी राज्य है. जो पाकिस्तान से सीमा बनाता है , इसे भारत का प्रवेशद्वार भी कहते है, इस राज्य से ही विदेशी लोग भारत आते थे. और आज भी आते है.

पंजाब की अपनी कोई राजधानी नहीं है, पर पंजाब हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ को अपनी राजधानी के रूप में उपयोग करता है. पंजाब वृहतर भारत के पंजाब का एक हिस्सा है.

वर्तमान पंजाब राज्य का कुल क्षेत्रफल 50362 वर्ग किलोमीटर हैं. पंजाब राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश तथा पश्चिम में पडौसी देश पाकिस्तान के साथ सीमाए तय करता है.

पंजाब की जनसंख्या 2,77,43,338 है. 1 नवम्बर 1966  को पंजाब राज्य की स्थपना की गई. तथा इसी दिन हरियाणा और हिमाचल प्रदेश को पंजाब से अलग राज्य का दर्जा दिया. इस दिन इन तीन राज्यों का स्थापना दिवस होता है.

पंजाब में 22 जिले है. जिसमे सबसे बड़ा लुधियाना है. पंजाब में मुख्य भाषा पंजाबी है. तथा पंजाब की अधिकारिक भाषा और राजकीय भाषा पंजाबी को ही माना गया है.

पंजाब का राजकीय पशु चिंकारा राजकीय पक्षी उत्तरी गोशॉक है. यहाँ कुश्ती को सबसे ज्यादा लोकप्रियता मिलती है. क्योकि यहाँ के लोग शारीरिक रूप से पहलवान ही होते है.

आज के समय का सबसे लोकप्रिय खेल कबड्डी जिसके अभी तक के सभी टूर्नामेंट भारत ने जीते है. कबड्डी खेल बड़ी धूमधाम के साथ पुरे विश्व में खेला जाता है, पर क्या आप जानते है, कि कबड्डी खेल की शुरुआत पंजाब से हुई थी. यहाँ का लोकप्रिय खेल कबड्डी है.

पंजाब राज्य का इतिहास  History of Punjab in Hindi

पंजाब राज्य का इतिहास  History of Punjab in Hindi

प्राचीन समय में पंजाब सप्तसिंधु के नाम से जाना जाता था. यहाँ पार् सिन्धु घाटी सभ्यता के अनेक  प्रतीक मिले है. इस राज्य पर प्रथम आक्रमण सिकंदर द्वारा किया गया. जिसके बाद इसे मुगलों और अंग्रेजो ने इसे खूब लुटा.

आधुनिक पंजाब स्वतंत्रता प्राप्ति से पूर्व आज के पाकिस्तान अधिकृत पंजाब का हिस्सा था. परन्तु पंजाब के बंटवारे के समय 56 प्रतिशत पंजाब पाकिस्तान में गया तथा शेष 44 प्रतिशत पंजाब भारत के हिस्से में आया.

जब पाकिस्तान और भारत के पंजाब में बंटवारा हुआ उस समय भारतीय पंजाब में आधुनिक हिमाचल प्रदेश तथा हरियाणा भी शामिल थे, पर धीरे धीरे इन्हें अलग राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ.

भारत और पाकिस्तान का विभाजन धर्म के आधार पार्वि किया गया. जिस कारण पंजाब में रहने वाले मुस्लिम लोगो ने पाकिस्तान की नागरिकता को प्राप्त किया. वही सिक्ख लोगो ने भारतीय पंजाब में जीवन जीना उचित समझा इसी कारण आज इस राज्य में सिक्ख सबसे अधिक है.

मेरे राज्य पंजाब के लोग कुछ लोग पंजाब को अलग राज्यों में बांटना चाहते थे, जिस कारण लोगो की मांगो को पूरा करने के लिए भारतीय सरकार ने उत्तरी पंजाब को हिमाचल प्रदेश के नाम से एक राज्य घोषित किया.

पंजाब और हरियाणा को भी अलग राज्य बनाने के बाद आधुनिक पंजाब का उदय हुआ. 1 नवम्बर 1966 को पंजाब का गठन हुआ. इस दिन के बाद से ये पंजाब अटूट है, इस राज्य में पिछले कई दशको से काफी विकास हुआ है.

पंजाब सिक्ख प्रान्त का सबसे बड़ा राज्य है, पंजाब के सिक्खों का उदय 16 शताब्दी के समय में हुआ. सिक्खों से संस्थापक गुरु नानकदेव थे, जिन्होंने इस धर्म की स्थपना की. और इस धर्म के प्रमुख 9 गुरु हुए.

आज पंजाब में लगभग 60 प्रतिशत से अधिक सिक्ख लोग रहते है. तथा यहाँ हिन्दू मुस्लिम और इसाई धर्म के लोग भी रह्ते है. यहाँ के लोग आपस में भेदभाव नहीं करते है, पुरे पंजाब को अपना धर्म मानते है.

गुरु और वीरों की जन्म भूमि

पंजाब में अनेक गुरु और वीर पुरुष हुए है. इसी कारण यहाँ की भूमि को पवित्र भूमि कहते है. इस राज्य में सिक्खों के सबसे अधिक गुरु हुए. इस राज्य में सिक्खों के 9 से अधिक गुरु हुए. जिसमे गुरु नानकदेव भी शामिल है.

इस राज्य के कई ऐसे गुरु हुए, जिन्होंने यहाँ के लोगो को उपदेश दिए. ये देवी देवताओ की भूमि भी है. ये राज्य संस्कार से परिपूर्ण राज्य है. यहाँ के बच्चे भी संस्कार से निपुण होते है. यहाँ के लोग बड़ो को आदर देते है.

पंजाब राज्य केवल गुरुओ की भूमि नहीं रही है. इस भूमि पर अनेक ऐसे वीर सपूत भी हुए है, जिन्होंने देश की आजादी के लिए खुद का बलिदान तक दे दिया. इस राज्य में देशभक्ति के लिए आज भी जान हाजिर है.

पंजाब में आज भी अधिंकाश लोग भारतीय सेना का हिस्सा है. भारतीय सेना में सबसे अधिक शहीद पंजाबी लोग हुए है. तथा सबसे अधिक सेना के आवार्ड पंजाब के पास ही है. जो एक रिकॉर्ड है.

इस राज्य से लाला लजपत राय, शहीद भगतसिंह तथा करतार सिंह जैसे अनेक वीर जवान हुए. जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दे दिया. इन्होने अपने बलिदान से पंजाब और देश का नाम ऊँचा किया है.

कृषि

पंजाब राज्य के अधिकांश लोगो की आजीविका का साधन कृषि है. यहाँ सर्वाधिक अनाज की उत्पादन होता है. जिस कारण पंजाब को भारत का अन्न भंडार कहते है. यहाँ चावल सबसे अधिक होता है.

पंजाब में अधिकांश फसले खाद्यान्न की उपज होती है. इस राज्य में सबसे अधिक चावल और गेंहू होती है. यहाँ के लोग सिंचाई और वर्षा पर निर्भर रहते है.

नदियाँ

पंजाब में अनेक नदिया है, जो यहाँ के किसानो की सहायता करती है. कई किसान सिंचाई के माध्यम से खेती करते है. और कई किसान वर्षा पर निर्भर ही रहते है.

मेरे राज्य की नदिया हमें शुद्ध जल प्रदान करती है. तथा मेरे राज्य के अधिकांश लोग जल का सेवन नदियों से ही करते है. और अपना जीवन व्यतीत करते है. पंजाब की प्रमुख नदिया निम्न है-
  • हारो
  • चिनाब
  • झेलम
  • सतलज
  • कोरांग
  • रावी
  • बियास
  • सोअन
  • पंजनाद
  • चक्की

मेले और त्यौहार

पंजाब में समय समय पर अनेक त्योहार मनाए जाते है. यहाँ सिक्ख धर्म के लोग और हिन्दू धर्म के लोग रहते है, जो अपने अपने त्योहारों को बड़ी धूमधाम से मनाते है. पंजाब के प्रमुख त्योहार दीपावली, होली, दशहरा, बसंत, लोहड़ी, बैसाखी आदि है.

इस राज्य के प्रमुख मेले माघी मेला, ग्रामीण खेल मेला,छप्पर मेला, शेख फरीद आगम पर्व, रामतीरथ, शहीदी जोर मेला,  होला मोहल्ला मेला, बैसाखी, सरहिंद,उर्स, हर-बल्लभ संगीत तथा बाबा सोदाल आदि पंजाब राज्य के प्रमुख मेले है.

इस राज्य में सबसे अधिक आबादी सिक्ख धर्म की है. भारत में सबसे ज्यादा सिक्खों के अनुनायी पंजाब में ही रहते है. सिक्खों के साथ साथ यहाँ हिन्दू मुस्लिम बौद्ध और इसाई धर्म के लोग रहते है.

नृत्य

पंजाब के बारे में देखा जाए और यहाँ के नृत्य और लोकगीत के बारे में नहीं जाने तो अधुरा रहेगा. यहाँ के विवाहों और कार्यक्रम में पंजाबी लोग बड़ी शान के साथ नृत्य करते है. यहाँ के प्रमुख नृत्य भांगड़ा, झूमर और सम्मी है.

धर्म

पंजाब का कोई निश्चित धर्म नहीं है, पर इस राज्य में सबसे अधिक सिक्ख धर्म के अनुनायी रहते है. पंजाब एक ऐसा राज्य है. जिसमे सिक्खों की संख्या सबसे अधिक है.

पंजाब की कुल आबादी का 58 प्रतिशत भाग केवल सिख धर्म से है. जिस कारण इस राज्य को सिक्खों का राज्य कहा जाता है. सिक्खों के बाद इस राज्य में 38 प्रतिशत हिन्दू तथा 2 प्रतिशत मुस्लिम रहते है.

इस राज्य में सिक्खों का सबसे पवित्र स्थान के रूप में स्वर्ण मंदिर का निर्माण किया गया है. अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर सिक्खों का सबसे बड़ा आस्था का स्थल है.

भाषा

पंजाब मे सबसे अधिक भाषा पंजाबी का उच्चारण किया जाता है. जिस कारण इस राज्य की राजकीय भाषा भी पंजाबी को रखा गुआ है. यह के अधिकांश लोग पंजाबी बोलते है, वही यहाँ हिंदी अंग्रेजी भी बोली जाती है.

पंजाब में केवल 60 प्रतिशत लोग ही पंजाबी रहते है. तथा शेष 40 प्रतिशत लोग प्रवासी लोग रहते है. इस आंकड़े से अनुमान लगाया जा सकता है, कि ये राज्य आज भी शरण देता है.

भोजन

पंजाब के लोगो का शौकिय भोजन मक्की की रोटी तथा सरसों का साग है. यहाँ के लोग भोजन में घी का सबसे अधिक सेवन करते है. जिस कारण यहाँ के लोग बलवान होते है.

फिल्म इंडस्ट्री

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री को बोलीवुड कहा जाता है. पंजाब में कई एक्टर हुए है, जिन्होंने बोलीवुड में अपना खूब नाम कमाया है. उन्ही में से एक सनी देवल पंजाब के ही है.

पंजाब में अभी तक कई फिल्मो को रिलीज किया च चूका है. बोलीवुड में भी पंजाब अहम भूमिका अदा करता है. पंजाब की बोलीवुड से काफी कमाई होती है.

पर्यटन स्थल

पंजाब की आर्थिक व्यवस्था का कुछ भाग पर्यटन स्थलों से भी आता है. यहाँ के स्थल बहुत सुन्दर और भव्य है. जिसे देखने भारत से ही नहीं पुरे विश्व के लोग यहाँ आते है. जिस कारण ये काफी प्रसिद्ध हुआ है. पंजाब के पर्यटन स्थलों की गाथा पुरे विश्व में की जाती है.

पंजाब सरकार ने पर्यटन स्थलों से आने वाले पैसो को खुद की जरूरतों को पूरा करने में प्रयोग करने की बजाय स्थलों की व्यवस्था को अच्छा बनाने के लिए सौप देती है. जिस कारण यहाँ के लोगो को रोजगार भी प्राप्त होता है. तथा यहाँ की व्यवस्था भी उच्च लेवल की होती है.

वैसे पंजाब में अनेक पर्यटन स्थल है, जिनकी सूची में आपके साथ शेयर कर दूंगा. पर इस राज्य का सबसे बेहतर पर्यटन स्थल तथा मनमोहित कर देने वाला स्थल अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर है.

अमृतसर का स्वर्ण मंदिर- अमृतसर का स्वर्ण मंदिर भगवान हरिमंदिर साहिब का मंदिर है. इस मंदिर के निर्माण में सोने और संगमरमर का प्रयोग किया गया है. जिस कारण इसे स्वर्ण मंदिर कहते है. ये भारत का सबसे अधिक बार देखा जाने वाला स्थल है.


आनंदपुर साहिब- ये पर्यटन स्थल सिक्खों के वीर योद्धा आनंदपुर साहिब का जन्मस्थल है. ये स्थल स्वर्ण मंदिर के बाद पंजाब का दूसरा सबसे बेहतर पर्यटन स्थल है. ये अमृतसर से 200 किमी की दुरी पर स्थित है.

चंडीगढ़- पंजाब और हरियाणा राज्य की राजधानी चंडीगढ़ यहाँ का प्रमुख पर्यटन स्थल है. यहाँ कई घटिया मंदिर उघान, मैदान तथा देखने लायक प्राकृतिक स्थल है, जो इसे सुंदर पर्यटन स्थल बनाती है.

पटियाला -ये किला सिक्खों का प्रमुख स्थल है. इस किले को सिक्खों का मुबारक स्थल कहते है. इस किले को देखने हर साल हजारो की संख्या में पर्यटक आते है. जिसमे अधिकांश सिक्ख होते है.

बठिंडा- इस क्षेत्र को भी मुबारक स्थल के रूप में माना जाता है. ये स्थल गहरे वनों के बीच स्थित है. यहाँ चेतक पार्क, दमदमा साहिब, बठिंडा झील, मैसर खाना, प्राणि उद्यान, धोबी बाजार और पीर हाजी रतन की मज़ार आदि स्थित है. जो इसे प्रमुख पर्यटन स्थल बनाते है.

वाघा बॉर्डर- ये भारत का एकमात्र ऐसा पर्यटन स्थल है, जो भारत पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित है. इसी कारण इसे वाघा बॉर्डर के नाम से जानते है. ये पंजाब का प्रमुख पर्यटन स्थल है.

हवाई अड्डे

मेरे राज्य पंजाब में सरकारी तीन हवाई हड्डे है, जो अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में स्थित हैं. तथा चंडीगढ़ में एक निजी हवाई हड्डा भी है. इसके आलावा हवाई ह्द्दो का निर्माण किया जा रहा है.

पंजाब के जिले

पंजाब में कुल 23 जिले है. जो इस राज्य की व्यवस्था को बनाए रखते है. इस राज्य का सबसे बड़ा जिला फिरोजपुर है. जो पाकिस्तान से सीमा बनाता है. इसका क्षेत्रफल 2190वर्ग किमी है. इसे कई बार हडपने का प्रयास किये गए.

इस राज्य का सबसे छोरा जिला पांडूचेरी है. ये राज्य अरब सागर के किनारे बसा है. पांडूचेरी का क्षेत्रफल 469 वर्गकिलोमीटर है. जो इस राज्य का सबसे छोटा जिला है. पंजाब के सभी जिलो की सूची-
  1. अमृतसर जिला
  2. भटिण्डा जिला
  3. फिरोजपुर जिला
  4. फरीदकोट जिला
  5. फतेहगढ़ साहिब जिला
  6. गुरदासपुर जिला
  7. पठानकोट जिला
  8. होशियारपुर जिला
  9. जालंधर जिला
  10. कपूरथला जिला
  11. लुधियाना जिला
  12. मानसा जिला
  13. मोगा जिला
  14. मुक्तसर जिला
  15. शहीद भगतसिंहनगर जिला
  16. पटियाला जिला
  17. रूपनगर जिला
  18. संगरूर जिला
  19. तरन तारन साहिब जिला
  20. बरनाला जिला
  21. मोहाली जिला
  22. फाजिलका जिला
  23. मलेरकोटला जिला
ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख पंजाब राज्य पर निबंध Essay On Punjab In Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.