100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

उत्तर प्रदेश पर निबंध | essay on uttar pradesh in hindi

उत्तर प्रदेश पर निबंध | essay on uttar pradesh in hindi

गंगा और यमुना द्वारा पोषित भारत के हृदय उपरी भाग सर्वाधिक जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश की सामान्य जानकारी बताने का प्रयास इस लेख के द्वारा किया गया है. संयुक्त प्रांत के नाम से ब्रिटिश काल में आगरा अवध के रूप में स्थापित किया गया.

स्वतंत्रता के बाद 1950 में इसका नाम उत्तर प्रदेश कर दिया गया उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा शहर लखनऊ है जो राज्य की प्रशासनिक तथा विधायी राजधानी भी है उत्तर प्रदेश को 75 जिलों में विभाजित किया गया है गंगा और यमुना के संगम प्रयागराज को उत्तर प्रदेश की न्यायिक राजधानी बनाया गया है.

9 नवंबर 2000 को इससे अलग कर एक नया पहाड़ी राज्य उत्तराखंड  अस्तित्व में आया उत्तर प्रदेश का ऐतिहासिक दृष्टि से  समृद्ध होने से आगरा ताजमहल फतेहपुर सिकरी तथा कई नगरों का सुंदरता के साथ स्थापित होना उत्तर प्रदेश को अलग रूप प्रदान करता है.

वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल है उप मुख्यमंत्री के पद पर केशव प्रसाद मौर्य तथा दिनेश शर्मा है राज्य का कुल क्षेत्रफल 243290 वर्ग किलोमीटर है जनसंख्या अधिक होने के कारण जनघनत्व 820 है राज्य में सर्वाधिक हिंदी भाषी लोग हैं तथा यह हिंदी भाषा का नेतृत्व करने वाला राज्य भी है इसकी अधिकारी भाषा भी हिंदी है साथ में उर्दू का प्रयोग भी किया जाता है.

2011 की जनगणना के अनुसार राज्य में लिंगानुपात 912 तथा साक्षरता दर लगभग 67.68%है. उत्तर प्रदेश की जनसंख्या के संबंध में एक विचित्र तथ्य हैं कि उत्तर प्रदेश की जनसंख्या से अधिक विश्व में केवल 4 देशों की जनसंख्या ही है और ब्राजील की जनसंख्या लगभग बराबर है.

उत्तर प्रदेश प्राचीन तथा मध्य काल में राजनीतिक केंद्र रहा जिसके कारण राज्य में कई धार्मिक प्राकृतिक तथा ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों का विकास हुआ है उदाहरण के लिए अयोध्या आगरा प्रयागराज मथुरा राज्य में कृषि तथा सेवा क्षेत्र अर्थव्यवस्था की मुख्य आधार है औद्योगिक विकास आशा के अनुरूप नहीं हुआ है.

उत्तर प्रदेश का इतिहास उतना ही पुराना है जितना भारत का वैदिक काल के आर्यों का निवास इन्हीं गंगा यमुना और सतलुज नदियों के किनारों पर हुआ करता था जो कालांतर में संपूर्ण भारत में पहुंचे इसे श्री राम वाल्मीकि कृष्ण तुलसीदास महर्षि भारद्वाज की जन्म स्थली होने का सौभाग्य प्राप्त है बौद्ध काल में यह राज्य केंद्र बिंदु रहा सारनाथ जहां महात्मा बुद्ध ने पहला उपदेश दिया महाजनपद काल में कुल 7 महाजनपद उत्तर प्रदेश की सीमा के अंतर्गत थे कालांतर में यह राज्य कई हिस्सों में विभाजित हुआ और धीरे-धीरे गुप्त मौर्य तथा गुर्जर प्रतिहार शासकों  के अधीन रहा 9 वीं से 11 वीं शताब्दी तक चले त्रिपक्षीय संघर्ष का केंद्र बिंदु कन्नौज रहा था.

मुस्लिम आक्रमणों की शुरुआत के समय यहां पर गढ़वाल शासकों का शासन था मुस्लिम सत्ता  की स्थापना के बाद यह प्रदेश राजधानी के आसपास रहा  6शताब्दियों तक मुस्लिम शासकों के अधीन रहा अकबर के काल से फतेहपुर सीकरी जैसे नगरों की स्थापना हुई उत्तर काल में शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में ताजमहल का निर्माण यमुना नदी के किनारे करवाया जो पर्यटकों का प्रमुख आकर्षक केंद्र है हिंदू मुस्लिम समन्वित संस्कृति का विकास हुआ जिसने कला साहित्य और विज्ञान के क्षेत्र में नवीन क्रांति का प्रचार किया.

ब्रिटिश शासन की भारत में स्थापना के लगभग 100 वर्षों बाद 1856 में अवध कि अधिग्रहण के पश्चात् आगरा व अवध को पश्चिम उत्तर प्रांत का हिस्सा बना दिया 1902 में इसे संयुक्त प्रांत  नाम दिया गया 1857 में हुए भारत के पहले स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत मेरठ से ही हुई ज्यादातर नेता उत्तर प्रदेश के ही थे क्रांति के फल स्वरूप भारत का शासन ब्रिटिश ताज के अधीन चला गया.

स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने वाले अधिकांश नेताओं का संबंध उत्तर प्रदेश से रहा जिनमें मोतीलाल नेहरू मदन मोहन मालवीय जवाहरलाल नेहरू तथा पुरुषोत्तम दास टंडन जैसे राष्ट्रवादी नेता शामिल है मुस्लिम लीग का प्रमुख केंद्र भी संयुक्त प्रांत रहा.

स्वतंत्रता के बाद 24 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के साथ ही संयुक्त प्रांत का नाम उत्तर प्रदेश कर दिया भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत की प्रथम प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक आचार्य नरेंद्र देव भारतीय जनसंघ अथवा बीजेपी के महान नेता अटल बिहारी वाजपेई जैसे नेताओं की जन्मस्थली उत्तर प्रदेश ही रहा है.

भारत  तथा उत्तर प्रदेश की पहली महिला मुख्यमंत्री सुचेता कृपलानी 1963 में बनी उत्तर प्रदेश के पहले मुख्य मंत्री गोविंद बल्लभ पंत है.

उतर प्रदेश की प्रमुख शहरों में इटावा कानपुर हमीरपुर चित्रकूट एटा हरदोई जालौन नोएडा ललितपुर सीतापुर प्रयागराज जौनपुर वाराणसी खीरी लखीमपुर मेरठ गोरखपुर बुलंदशहर मथुरा गाजियाबाद अलीगढ़ मुरादाबाद अयोध्या बरेली आजमगढ़ सुल्तानपुर सहारनपुर मुजफ्फरनगर इत्यादि है.

सर्वाधिक जनसंख्या वाले इस राज्य की 80% जनसंख्या गांव में निवास करती है तथा तीन चौथाई जनसंख्या कृषि पर निर्भर है उत्तर प्रदेश की लगभग 95% जनसंख्या द्वारा हिंदी भाषा किया जाता है आधुनिक हिंदी के अग्रणी साहित्यकार भारतेंदु हरिश्चंद्र का संबंध वाराणसी से है हिंदी के अलावा भोजपुरी अवधी ब्रज तथा उर्दू अपनी अनोखी पहचान बनाए हुए हैं तथा संपूर्ण भारत में अपनी विशिष्ट पहचान के लिए जानी जाती है.

प्राकृतिक संसाधन की बात करें तो संसाधनों की कमी देखने को मिलती है चूना पत्थर कोयला तथा सिलिका जैसे खनिज पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं इनके अलावा बॉक्साइट मैग्नेटाइट और जिप्सम के भंडार भी उपलब्ध है.

संपूर्ण मैदानी भाग होने के कारण उत्तर प्रदेश का अधिकांश भाग उपजाऊ है राज्य की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार कृषि है प्रमुख फसलों में चावल गेहूं ज्वार बाजरा जो और गन्ना है हरित क्रांति की लाभान्वित राज्यों में उत्तर प्रदेश का स्थान सर्वोपरि रहा जिसके कारण खाद्यान्न के उत्पादन में उत्तर प्रदेश अग्रणी राज्य है.

राज्य  के बड़े उद्योगों में वस्त्र तथा चीनी उद्योग प्रमुख है अन्य उद्योगों में तेल  और सीमेंट उद्योग शामिल है वर्तमान में केंद्र और राज्य सरकारें विभिन्न परियोजनाओं के माध्यम से उद्योगों को बढ़ावा देने के प्रयास कर रही है.

लघु कुटीर हस्त शिल्प उद्योग में प्रदेश की कई वस्तुएं विश्व प्रसिद्ध है कानपुर सबसे बड़ा औद्योगिक शहर है कानपुर का चमड़े का जूता विश्व प्रसिद्ध है मिर्जापुर तथा भदोही के कालीन दुनियाभर में अपना सराहनीय है.

वाराणसी का रेशम तथा जरी का काम लखनऊ की चिकनकारी नगीना का आबनूस की लकड़ी का काम फिरोजाबाद की कांच की वस्तुएं मुरादाबाद की पीतल की वस्तुएं पिलखुवा की हैंड ब्लॉक प्रिंट की चादरे विश्व प्रसिद्ध है.

भौगोलिक दृष्टि से उत्तर प्रदेश अपनी विशिष्ट पहचान रखता है उत्तर प्रदेश भारत के 8 राज्यों  की सीमा को स्पर्श करता है  जिनमें राजस्थान मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ झारखंड बिहार हरियाणा हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड

 उत्तरी भारत के विशाल मैदान का एक बड़ा हिस्सा उत्तर प्रदेश है भारत के उत्तर पूर्व में स्थित उत्तर प्रदेश का ऊपरी भाग पहाड़ी क्षेत्र है भौगोलिक दृष्टि से उत्तर प्रदेश को तीन भागों में विभाजित किया जाता  है.

1. उत्तरी भाग उबड़ खाबड़ है वर्तमान में अधिकतर उत्तराखंड में आता है समुद्र तल से इसकी औसत ऊंचाई तीन सौ पचास से पैंतीस सौ मीटर तक है

2. मध्य भाग मैदानी है तो आप क्षेत्र होने के कारण अत्यधिक उपजाऊ है क्षेत्र में अनेक नदियां तालाब झीलें सिंचाई के अच्छे स्रोत हैं

3. दक्षिणी क्षेत्र विद्यांचल का यह पठारी क्षेत्र है यहाँ पहाड़ मैदान और घाटियों जैसी स्थलाकृति  पाई जाती है सिंचाई के स्रोत कम है

उत्तर प्रदेश की प्रमुख नदियों में गंगा यमुना चंबल घाघरा गोमती बेतवा केन तथा सोन नदियों के साथ-साथ सिंचाई के प्रमुख साधनों में नहरों का स्थान उल्लेखनीय है उत्तर प्रदेश की कुल सिंचित भूमि का लगभग 30% भाग नहरों द्वारा सिंचित होता है.

mera UP uttar pradesh essay in hindi निबंध, स्पीच, भाषण, अनुच्छेद, पैराग्राफ में उत्तर प्रदेश का इतिहास वर्तमान संस्कृति भूगोल आदि के बारें में यह निबंध पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.