100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

मध्य प्रदेश पर निबंध | essay on madhya pradesh in hindi

मध्य प्रदेश पर निबंध  | essay on Madhya Pradesh in Hindi paragraph speech information based short essay on mp my state.

भौगोलिक दृष्टि से देश के मध्य स्थित होने के कारण इसका नाम मध्यप्रदेश जवाहरलालनेहरू ने रखा आजादी से पहले सेंट्रल प्रोविसेस तथा बरार नाम से जाना जाता था. स्वतंत्रता के पश्चात मध्य प्रदेश को 3 भागो यथा ए बी तथा सी में बांटा गया ए पार्ट में बघेलखंड छत्तीसगढ़ अर्थात पूर्वी तथा दक्षिणी भाग शामिल था बी भाग में पश्चिमी मध्य प्रदेश को रखा गया था तथा सी भाग उत्तरी मध्य प्रदेश से मिलकर बना था उस समय भोपाल सी  का भाग था.

1953 में राज्य पुनर्गठन आयोग के रूप में गठित फजल अली आयोग की अनुशंसा पर 1 नवंबर 1956 को मध्य प्रदेश अस्तित्व में आया. भारत का हृदय नाम से विख्यात मध्य प्रदेश का क्षेत्रफल 308252 वर्ग किलोमीटर है जनसंख्या लगभग 7:30 करोड़ है.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल है जबकि सबसे बड़ा शहर इंदौर है वर्तमान में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिव राज सिंह चौहान तथा राज्यपाल लालजी टंडन मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर में है, मध्यप्रदेश में विधान सभा सीटों की संख्या 230 है जबकि कुल 29 लोकसभा क्षेत्र  तथा 11 सदस्य राज्यसभा के लिए चुने जाते है .

राज्य के प्रमुख राजनीतिक दलों में कांग्रेस तथा बीजेपी है, छत्तीसगढ़ के गठन से पहले मध्य प्रदेश देश का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा राज्य था वर्तमान में सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है मध्य प्रदेश भौतिक संरचना की दृष्टि से प्रायद्वीपीय भारत का उत्तरी भाग है. मध्य प्रदेश की सबसे ऊंची पर्वत चोटी धूपगढ़ जिसकी ऊंचाई 1350 मीटर है.

मध्य प्रदेश की सीमा 5 राज्यों को स्पर्श करती हैं राजस्थान उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र तथा गुजरात
इस प्रकार भौगोलिक दृष्टि से मध्य प्रदेश भू आवेष्ठित क्षेत्र है यहां की प्रमुख नदियों में नर्मदा चंबल ताप्ती बेतवा केन शिप्रा तथा सोन है नर्मदा मध्य प्रदेश की सबसे लंबी नदी है.

मध्यप्रदेश में पांच प्रकार की मिट्टियां पाई जाती है जिसमें काली मिट्टी लाल पीली मिट्टी जलोढ़ मिट्टी मिश्रित मिट्टी व कछारी मिट्टी, देश की तरह यहां भी मानसूनी जलवायु पाई जाती है 115 सेंटीमीटर के लगभग  वार्षिक वर्षा होती है. मध्य प्रदेश में कुल 55 जिले हैं मध्यप्रदेश भी हिंदी भाषी राज्य हैं और इसकी राजकाज की भाषा हिंदी है.

2010- 11 के राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से राज्य को सम्मानित किया गया इसका कारण यहां के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जिनमें से मुख्य रूप से भीमबेटका पंचवटी खजुराहो के मंदिर सांची का स्तूप ग्वालियर का किला तथा उज्जैन पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र बने हुए हैं.

सांस्कृतिक दृष्टि से मध्य प्रदेश बेजोड़ हैं यह निमाड़ मालवा बुंदेलखंड बघेलखंड महाकोशल तथा ग्वालियर जैसे प्रमुख सांस्कृतिक क्षेत्रों का सामंजस्य है प्रत्येक सांस्कृतिक केंद्र  अपनी बेजोड़ तथा अनोखी लोक संस्कृति के लिए विश्व प्रसिद्ध है मध्यप्रदेश में सर्वाधिक जनजाति निवास करती है हम जनजातियों की विशिष्ट परंपराओं कला साहित्य तथा विशिष्ट रीति-रिवाजों का विशेष महत्व  है.

इन जनजातियों के विशेष संगीत तथा नृत्य यहां की संस्कृति के बेजोड़ उदाहरण है. मध्य प्रदेश सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला राज्य होने से यहां कान्हा राष्ट्रीय उद्यान सतपुड़ा राष्ट्रीय अभ्यारण बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान माधव राष्ट्रीय उद्यान वन विहार राष्ट्रीय उद्यान पन्ना राष्ट्रीय उद्यान पेंच राष्ट्रीय उद्यान तथा जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान सहित नौ राष्ट्रीय उद्यान स्थित है भारत के कुल 18 बायोस्फियर क्षेत्र में से तीन क्षेत्र मध्य प्रदेश की ही है.

मध्य प्रदेश के 3 पर्यटन स्थल खजुराहो सांची का स्तूप व भीमबेटका यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल है जबकि ओरछा को हाल ही में यूनेस्को ने अस्थाई सूची में शामिल किया है. राज्य की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार कृषि है प्रमुख फसलों में सेना चावल गेहूं सोयाबीन गन्ना मका कपास सरसों  तथा राई है.

इंदौर सोयाबीन मंडी तथा सीहोर गेहूं की मंडी के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है इसके अलावा राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था वन उत्पादों की अहम भूमिका है जैसे तेंदू साल बीज लाख तथा सागौन बीज इनके अलावा राज्य में पांच विशेष आर्थिक क्षेत्रों की स्थापना भी की गई है. मध्य प्रदेश देश का हीरे व तांबे का सबसे बड़ा भंडार है इसके अलावा कोयला मैग्नीज के पर्याप्त भंडार भी हैं.