100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

सूरज पर निबंध | Essay on Sun in Hindi

सूर्य पर निबंध | Essay on Sun in Hindi- एक व्यक्ति को जीवित रहने के लिए ऊर्जा की जरुरत होती है. और सौरमंडल में ऊर्जा का सबसे बड़ा साधान सूर्य है, जो हमें ऊर्जा प्रदान करता है. आज हम सूर्य के बारे में विस्तार से पढेंगे.

सूरज पर निबंध Essay on Sun in Hindi

सूरज पर निबंध Essay on Sun in Hindi
हमारे ब्रहमांड में अनेक पिंड है. जिनके होने से हमारा जीवन बसा हुआ है. उन्ही में से एक तत्व का नाम सूर्य है. जो हमें प्रकाश देता है. सूर्य के बिना मानव जीवन तथा प्रकृति और वन्यजीवों की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. क्योकि सभी के जीवन का आधार सूर्य ही है.

सूर्य जिसे हम सूरज भी कहते है.सूरज के प्रकाश के कारण आज हमारा आसित्व पृथ्वी पर है. सूर्य सौरमंडल के लाखो तारो में से एक है. सूर्य के पास खुद का प्रकाश होता है.

जिससे ये खुद को प्रकाशित करता है. तथा दुसरे को प्रकाश भी देता है. इसी विशेषता के कारण सूर्य अन्य तारो से भिन्न है. और सूर्य का महत्व सबसे अधिक है.

सूर्य हमें जीवन व्यापन करने के लिए गर्मी के साथ साथ उर्जा भी देता है. जो हमारे जीवन के लिए अतिआवश्यक होती है. इस पृथ्वी पर जीवित सभी जीवो का आधार सूर्य है.

हमारे ग्रंथो में भी सूर्य के महत्व के बारे में वर्णन मिलता है. सूर्य की पूजा की जाती है. तथा जल चढ़ाया जाता है. और सूर्य को देवता का दर्जा प्राप्त है.

सूर्य एक गोला है. जो अनेक गैसे से मिलकर बना है. सूर्य को देखकर लगता है. जैसे ये कोई ठोस वस्तु का बना है, पर हकीकत में ऐसा नहीं है. ये गैसे का बना गोला होता है.

सूर्य सौरमंडल का प्रमुख सदस्य है.सौरमंडल जिसे हम अन्तरिक्ष कहते है. इसमे ग्रह, धूमकेतु, उल्काओं, आकाशीय पिंडों के समूह, तारे तथा चंद्रमा शामिल है.

आज हम जिस पृथ्वी पर जीवित है. ये पृथ्वी भी सूर्य का उपग्रह है. सूर्य के चारो और सभी ग्रहों के साथ उल्कापिंड तथा धूमकेतु भी चक्कर लगाते है. पर सभी ग्रहों और अन्य पिंडो के चक्कर लगाने की एक निश्चित कक्षा होती है. जिसमे सभी अपनी अपनी कक्षा में चक्कर काटते है.

हमारे लिए प्राकृतिक ऊर्जा का सबसे बड़ा स्रोत तथा एकमात्र स्रोत सूर्य है.सुरु की उर्जा और गर्मी के कारण आज हम जीवित है. यानी सूर्य से हमारा आसिस्त्व है. सूर्य से हमे उर्जा मिलती है. जिससे हमारे शारीर में विटामिन डी प्राप्त होता है. जो हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है.

विटामिन डी से हमारे शरीर की प्रतोरोधक क्षमता बढती है. आज बिजली की बचत के लिए सूर्य के प्रकाश का प्रयोग कर लोग सौर उर्जा बना रहे है. जिससे बिजली की बचत की जा रही है. जो काफी जरुरी भी है. इस प्रकार हम सूर्य की सहायता से सौर ऊर्जा का  प्रयोग कर बिजली की बचत कर सकते है.

सूर्य पर निबंध हिंदी में Sun Essay in Hindi

हमारे ब्रह्माण्ड में अनेक तारे, आकाशगंगा तथा अनेक पिंड उपस्थित है. हमारा सौर मंडल एक आकाशगंगा का सूक्ष्म सा भाग है. जिसमे सभी ग्रह और तारे उपस्थित है. सूर्य उन्ही में से एक तारा है. जो हमेशा अटल रहता है. 

कई लोग सूर्य को अस्थर बताते है. पर वास्तव में सूर्य की स्थिति हमेशा अटल होती है. पर हमारी पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है. जिस कारण सूर्य उदय तथा अस्त होता है.

सूर्य जिसका आकार और आकृति देखकर लगता है. जैसे ये ठोस पदार्थ हो. पर वास्तव में सूर्य गैसीय गोला होता है. जिसमे 72% हाइड्रोजन, 26% हिलीयम, 2 % कार्बन, ऑक्सीजन, नीयोन तथा अन्य गैसे समाहित है.सूर्य का वास्तविक रंग सफ़ेद है. पर प्रकाश के कारण ये हमें पिला या नीला नजर आता है.

हमारी पृथ्वी से सूर्य की दुरी लगभग 15 करोड़ से अधिक है. इतनी दुरी होने के कारण सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुँचने में 8 मिनट और 17 सेकंड का समय लगता है.

प्राचीनतम वैज्ञानिको के आधार पर सूर्य का आसित्व आज से 9 बिलियन वर्ष पहले का माना जाता है. सूर्य का व्यास 13 लाख 92 हजार किलोमीटर है. जो हमें पृथ्वी से बहुत छोटा दिखाई देता है. पर दुरी के कारण ये छोटा दिखाई पड़ता है. हमारी पृथ्वी जहा हम निवास करते है. सूर्य पृथ्वी का 110 गुना से अधिक बड़ा है.

सूर्य के पास स्वंय का प्रकाश है. जिस कारण ये खुद से प्रकाश से अन्य तारो को ऊर्जा भी देता है. जिसमे चन्द्रमा प्रमुख है. सूर्य का तापमान अधिक होने के कारण इसे हम आग का गोला भी कहते है.

सूरज की बाहरी सतह के पास का तापमान  6000 डिग्री सेलसीयस होता है. इस तापमान में लोहा भी आसानी से पिघल जाता है. आज तक ऐसा कोई तत्व नहीं बना है, जो सूर्य के प्रकाश को सहन कर सकें.

सूर्य के बाहरी तापमान से भी आंतरिक तापमान अधिक है. यानी इसका आंतरिक तापमान 1 करोड़ 50 लाख डिग्री सेल्सियस होता है. इसी कारण सूर्य पर जाना असंभव है.

सूरज एक छोटा सा तारा हमें नजर आता है. पर सूर्य हमारी पृथ्वी से अनुमानित 333, 400 गुना अधिक भारी होता है. हमारी पृथ्वी पर जिस वस्तु का वजन 100 किलोग्राम होगा. इसी वस्तु का सूर्य पर वजन 2800 किलोग्राम होगा.

वस्तु का पृथ्वी पर भार कम और सूर्य पर अधिक का कारण गुरुत्वाकर्षण बल होता है. जो पृथ्वी की तुलना में सूर्य पर 28 गुना अधिक होता है. जिस कारण भार भी सूर्य पर 28 गुना अधिक होगा.

जिस प्रकार सभी ग्रह सूर्य का परिक्रमण करते है. हमारी पृथ्वी सूर्य का एक चक्कर लगाने में 365 दिन का समय लेती है. उसी प्रकार सूर्य आकाश गंगा का परिक्रमण करता है. सूर्य का एक परिक्रमण 25 करोड़ साल से पूर्ण होता है. यानी अनुमानित तौर पर आज तक सूर्य मात्र 20 परिक्रमण ही कर सका है.

पृथ्वी पर उपस्थित सभी सजीवो को ऊर्जा की जरुरत होती है. और उनके जीवन का आधार सूर्य ही होता है.सूर्य ऊर्जा का सबसे बड़ा प्रकृति का दिया हुआ उपहार है. इसी से हमारा जीवन संभव है.

सूर्य की अपरम्पार शक्ति के कारण हिन्दू धर्म में इसे देवता का दर्जा प्राप्त है. हिन्दू लोग सूर्य के गुण गाते है. तथा सूर्य के महत्व को समझते हुए जल चढाते है. तथा सूर्य की पूजा अर्चना करते है.

सूरज की पूजा के लिए अनेक मंदिर भी बनाए गए है. जहा सूर्य यानी शक्ति के देवता की पूजा की जाती है. जिसमे सूर्य मंदिर, कोणार्क सूर्य मंदिर, मार्तंड सूर्य मंदिर, रणकपुर सूर्य मंदिर आदि प्रमुख मंदिर है.

सूर्य वह पिंड है. जो हमारा सबसे बड़ा मित्र है. हर समय हमारी सहायता करता है. सूर्य हमें ऊर्जा देता है. जिससे हम जीव जंतु श्वांस लेते है. और पेड़ पौधे प्रकाश संश्लेषण द्वारा भोजन बनाते है. पौधों के आसित्व में सूर्य की अहम भूमिका है.

पौधे हमें ऑक्सीजन देते है. जो हमारे लिए उपयोगी होती है. सूर्य से हमें विटामिन मिलता है. जो हमें बीमारियों से बचाता है. जब अधिक ताप पड़ता है, तो मानसून का निर्माण होता है. और वर्षा होती है. इसका पूरा श्रेय सूर्य को जाता है.
 
सूर्य के प्रकाश से सौर ऊर्जा बनाई जाती है. सौर ऊर्जा से केवल बिजली का निर्माण ही नहीं बल्कि सोलर रेलवे तथा सोलर कारो और सोलर  मोटर साइकिल का निर्माण भी किया जा चूका है. जो सूर्य के प्रकाश से चलती है.

सोलर वाहनों के निर्माण से पेट्रोलियम का बचाव होता है. तथा आज का सबसे बड़ा संकट प्रदुषण भी कम होता है. इसलिए सोलर वाहनों को बढ़ावा देकर प्रदुषण और पेट्रोलियम कम किया जा सकता है.

पृथ्वी जो जल का घर है. पृथ्वी पर उपस्थित जल सूर्य के कारण अपनी स्थिति में है. वर्ना कुछ इलाके जहा सूर्य की किरण नहीं जाती वहा हमेशा बर्फ से जमीन ढकी रहती है. जहां चारो और बर्फ ही बर्फ होती है.

यदि सूर्य उदय नहीं होता है. तो हमेशा अँधेरा ही रहेगा. जो रात के समय में होता है. जब सूर्य का प्रकाश हम तक नहीं पहुंचेगा टी प्रकृति और सभी जीव जंतु नष्ट हो जाएँगे. और पृथ्वी की बर्बादी हो जाएगी.

सूर्य प्रकृति द्वारा दिया गया अनमोल उपहार है. ये हमारे लिए वरदान से कम नहीं है. सही मायनों में सूर्य हमारे जीवन का आधार है. सूर्य से हमारा जीवन है. सूर्य ही पृथ्वी के संतुलन को बनाए रखता है.

ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख सूरज पर निबंध | Essay on Sun in Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.