100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

योग पर निबंध Essay on Yoga in Hindi

 योग पर निबंध  Essay on Yoga in Hindi 

जो व्यक्ति नियमित रूप से योग तथा अभ्यास करता है। उसका शरीर हर समय स्वस्थ तथा नियमित योग करने वाले व्यक्तियों के लिए योग एक बहुत ही अच्छा अभ्यास है। यह निरोगा रहता है। योग हमारे जीवन मे हमारी कई तरीको से हमारी सहायता करता है। योग करने से हमारे शरीर के हर अंग का मनोरंजन हो जाता है। चाहे वो मस्तिक हो या भी आत्मा सभी पर योग नियंत्रण बनाए रखता है।

निबंध 1 (600 शब्द)

प्रस्तावना

योग शब्द संस्कृत भाषा का शब्द है। जिसका अर्थ है। जोड़ना अनुशासन। हमारे दैनिक जीवन मे योग को सबसे बड़ा दर्जा दिया गया है। क्योकि योग एकमात्र ऐसा साधन है। जिससे हमारे शरीर तथा मस्तिष्क का संतुलन बनाए रखते है। योग को हम व्यायाम भी कह सकते है।

योग हमारे पूर्वज भी किया करते थे। योग का आविष्कार भारत मे ही हुआ था। हमारे देश के वैज्ञानिको ने योग कई प्रकार बताए थे। जिसमे राज योग, जन योग, भक्ति योग, कर्म योग तथा हस्त योग आदि। हमारे देश मे किया जाने वाला योग हस्त योग है।  

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस

सरकार ने योग की महता देखते हुए। भारत सरकार ने 21 जून 2015 को पहली बार योग दिवस के रूप मे मनाया गया था। जिसके बाद हर वर्ष 21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस के रूप मे मानते है। 

 योग दिवस को हम बड़ी धूम-धाम के साथ मानते है। योग करने से हमारी सारी बीमारिया दूर हो जाती है। योग हमारे जीवन अभिन्न हिस्सा है। योग करने से हमारी सोच हमेशा सकारात्मक रहती है। योग करने से हमारे शरीर मे शांति बनी रहती है।

आंतरिक शांति

योग हमारे शरीर में शांति बनाये रखने तथा हमारी समस्याओ का निवारण करने मे हमारी सहायता करता है। मे हर रोज योग करता हूँ। मेरा मन शांत रहता है। योग करने से हमारा बनोबल बढ़ता है। तथा हम किसी भी कार्य को सफलता पूर्वक कर सकते है।

दैनिक जीवन में योग

योग प्रकृति द्वारा दिया गया। एक अनमोल उपहार है। योग करने से हमारा शरीर का प्रत्येक भाग सुरक्षित रहता है। योग करते समय श्वसन क्रिया सबसे मुख्य मानी जाती है। योग हर रोज नियमित करना चाहिए। योग करने से हमारा शरीर निरोगा रहता है। योग करके हम अपने हर असंभव कार्य को आसानी से कर सकते है। हमारे दैनिक जीवन मे योग को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। योग कराने के लिए भारत मे समय-समय पर कई कार्यक्रमो का आयोजन किया जाता है। सभी को योगा कराने के लिए प्रेरित किया जाता है।  

योग से एकाग्रता की ओर
योग हमारे जीवन मे हर समय अच्छी भावना हमारे सामने प्रकट करता है। योग को हम अनुशासित रूप से करने पर एकाग्रता के स्तर में सुधार देखने को मिलता है। यह सामाजिक रूप से हमारी सहायता करता है। ये हमारे हर अंग को शांत बनाये रखने मे सहायक है। हमे योग कराने के लिए सभी को प्रेरित करना चाहिए। 
निष्कर्ष
योग से हमे कई प्रकार के लाभ होते है। योग को हम चमत्कार भी कह सकते है। योग करने से हमे आत्मविश्वास मिलता है। जिससे हम कठिन से कठिन कार्य को आसानी से पूरा कर सकते है। इसे हम उपहार भी कह सकते है।  स्वस्थ्यपूर्ण जीवन जीने के लिए नियमित योग बहुत ही आवश्यक है।