100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

आन्ध्र प्रदेश पर निबंध Essay On Andhra Pradesh In Hindi

मेरा राज्य आन्ध्र प्रदेश पर निबंध Essay On Andhra Pradesh In Hindi- भारत का दक्षिणी पूर्वी राज्य आन्ध्र प्रदेश जिसे हम तेलगु में आन्ध्र का प्रांत के नाम से जानते है. आज के आर्टिकल में हम भारत के इस अजीब राज्य के बारे में तथा यहाँ की राजधानियों के बारे में संक्षिप्त में जानकारी प्राप्त करेंगे.

आन्ध्र प्रदेश पर निबंध Essay On Andhra Pradesh In Hindi

आन्ध्र प्रदेश पर निबंध Essay On Andhra Pradesh In Hindi

आन्ध्र प्रदेश भरत का एक राज्य है. भारत के दक्षिण-पूर्वी तट पर स्थित ये राज्य क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का  सातवा सबसे बड़ा राज्य है. तथा जनसंख्या की दृष्टि से पांचवा सबसे बड़ा राज्य आंध्रप्रदेश है.

आंध्रप्रदेश राज्य का सबसे बड़ा शहर अमरावती है जो इस राज्य की राजधानी भी है. इस राज्य की सम्मलित रूप से चार राजधानी बनाई गई है. जिसमे हैदराबाद अस्थायी राजधानी है.

ये राज्य पश्चिमी राज्य गुजरात के बाद दूसरा सबसे बड़ा राज्य है, जो सबसे अधिक जलीय सीमा 972 किमी. तय करता है.

साल 2014 में इस राज्य का विभाजन कर तेलंगाना के रूप में नए राज्य की स्थापना की. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद है. जिसे १० वर्ष के लिए आन्ध्र प्रदेश की राजधानी भी रखा जाएगा.

ये राज्य उत्तर में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ तथा उड़ीसा, पूर्व में बंगाल की खाड़ी, दक्षिण में तमिल नाडु तथा पश्चिम में कर्नाटक राज्य से सीमाए स्थापित करता है.

ये राज्य भारत का प्रमुख खाद्यान्न राज्य है. यहाँ अनेक प्रकार की फसल उगाई जाती है. जिसमे चावल प्रमुख है. इस राज्य को भरत का धान का कटोरा भी कहा जाता है. इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर 1956 को की गई.

प्राचीन समय में इस राज्य के भिन्न भिन्न नाम मिलते है. जिसमे आन्ध्रपथ, आन्ध्रदेस, आन्ध्रवाणी और आन्ध्र आदि प्रमुख है. 1956 में राज्य का दर्जा प्राप्त करने के पश्चात हम इसे आन्ध्र प्रदेश के नाम से जानते है.

आन्ध्र प्रदेश की भाषा तेलगु का विस्तार काफी प्राचीन रहा जिसके अनेक प्राचीन शिलालेख प्राप्त हुए है. जो इस भाषा के होने का पुख्ता सबूत है. साथ ही आन्ध्र शासन का वर्णन भी मिलता है.

मेगस्थनीस के अनुसार इस राज्य के पास विशाल सेना थी. उस समय मेगस्थनीज ने इस राज्य को आन्ध्र देश के नाम से संबोधित किया. मेगस्थनीस के अनुसार इस राज्य की राजधानी गोदावरी के आस पास का क्षेत्र रहा होगा. 

सम्राट अशोक के अनुसार ये प्रदेश उपनिवेश था. इस राज्य को भारत का सबसे प्राचीन राज्यों में से एक माना जाता है. इस राज्य पर कुबेरका ने भी शासन किया था. इस राज्य का प्रमुख राज्य धान्यकटकम था. जिसे आज हम अमरावती के नाम से जानते है.

माना जाता है. कि भगवान् बुध यहाँ सूत्रपात के लिए रुके थे. इस राज्य पर ईक्ष्वाकु राजवंश, पल्लव, आनंद गोत्रिका, विष्णुकुंडीना, पूर्वी चालुक्य तथा चोला वंशो ने शासन किया. इस राज्य की प्राचीनतम भाषाओ में तेलगु तथा संस्कृति शामिल है.

देश की आजादी के समय हैदराबाद के निजाम ने हैदराबाद को अलग राज्य ही रखने की ईच्छा की. लेकिन लम्बे समय तक भारतीय आंदोलनों ने हैदराबाद को देश में विलय करवाया.

हैदराबाद की जनता चाहती थी, कि हम भारत का हिस्सा बने लेकिन ये हैदाराबाद के निजाम नहीं चाहते थे. पोलो ओपरेशन की लम्बी मस्कत के बाद 1948 में हैदराबाद को भारत का राज्य बनाया गया.

हैदराबाद राज्य बनाने के बाद वहा के लोग भाषा के आधार पर अलग राज्य बनाना चाहते थे. जिसका गठन 1 अक्टूबर 1953 को किया गया. इसकी राजधानी कर्नूल को बना दिया गया.

भाषा के आधार पर बांटे गए इस राज्य का नाम 1 नवम्बर 1956 को आंध्रप्रदेश दिया गया. पर तेलगु भाषाई तथा अन्य भाषाओ के लोगो की अलग पहचान थी. जिस कारण तेलंगाना को अलग राज्य बनाया गया.

आंध्रप्रदेश में अत्यधिक गर्मी तथा वर्षा होती है. यहाँ सर्दी बहुत कम पड़ती है. जो यहाँ के लोगो को राहत देती है. गर्मी ऋतू में यहाँ का तापमान बहुत तेज हो जाता है. तथा वर्षा ऋतू में मुसलधार बारिश होती है.

आंध्रप्रदेश राज्य में कुल 13 जिले है. तथा इस राज्य को मुख्यतः दो भागो में विभाजित किया गया है. जिसमे  तटीय आन्ध्र और रायलसीमा शामिल है. इस राज्य के जिले निम्नलिखित है-
  1. अनंतपुर
  2. चित्तूर
  3. गुंटूर
  4. कडपा
  5. पूर्व गोदावरी
  6. पश्चिम गोदावरी.
  7. कृष्णा
  8. कर्नूल
  9. श्री पोट्टी श्रीरामुलु नेल्लूर
  10. प्रकाशम
  11. श्रीकाकुलम
  12. विशाखापट्नम
  13. विजयनगरम
इस राज्य का सबसे बड़ा जिला अनंतपुर है. जिसका क्षेत्रफल 19130 वर्ग किलोमीटर है. साथ ही सबसे छोटा जिला श्रीकाकुलमम है. जिसका क्षेत्रफल  5,837 वर्ग किलोमीटर के लगभग है.

आंध्रप्रदेश में एक बंदरगाह भी है, जिसका नाम विशाखापट्नम है. जो इस राज्य का दूसरा सबसे बड़ा तथा सुन्दर शहर है. इस जिले में एक नौसेना अड्डा भी है.

आन्ध्र प्रदेश की आधिकारिक भाषा तेलगु है. इस राज्य का विभाजन भी भाषा के आधार पर ही किया गया था. यहाँ के ९० प्रतिशत लोग तेलगु भाषा बोलते है. तेलगु के साथ ही हिंदी और उर्दू भी बोली जाती है.

इस राज्य के लोगो का मुख्य व्यवसाय कृषि है. पर अन्य राज्यों की तरह ये वर्षा पर निर्भर कम रहते है. तथा सिंचाई की ओर अधिक ध्यान देते है. यहाँ अनेक नदिया तथा बाँध है. जो किसानो की जल आपूर्ति करते है.

यहाँ उगाई जाने वाली फसलो में  चावल, गन्ना, कपास, काली मिर्च,आम, तम्बाकू तथा तेल प्रमुख है. देश के निर्यात के मामले ,में आंध्रप्रदेश की महत्वपूर्ण भूमिका है. निर्यात का 15 फीसदी भाग यहाँ से होता है.

आंध्रप्रदेश देश का सबसे बड़ा भण्डार है. ये राज्य सबसे अधिक खनिज संग्रहित राज्य है. यहाँ कोयला, पेट्रोलियम तथा चुना पत्थर जैसे महंगे खनिज भी पाए जाते है. साथ ही विघुत का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य आंध्रप्रदेश ही है.

इस राज्य के अधिकतर लोग कृषि कार्य करते है. चावल यहाँ का प्रसिद्ध भोजन है, जो यहाँ सबसे अधिक होता है. देश में मूंगफली उत्पादन तथा तिलहन उत्पादन में ये राज्य सर्वोपरि रहा है.

आंध्रप्रदेश में अनेक अवसरों पर अनेक नृत्य किये जाते है. जिसमे  कुचिपूड़ी सबसे प्रमुख नृत्य है. साथ ही जयपा सेनानी भी काफी प्रसिद्ध नृत्य है. जो पुरे दक्षिण भारत में किये जाते है.

इस राज्य की कुल आबादी लगभग 5 करोड़ के आस पास है. इस राज्य में सबसे अधिक 85 फीसदी हिन्दू लोग इसके बाद 9 प्रतिशत मुस्लिम तथा अन्य धर्म के लोग निवास करते है.

इस राज्य में समय समय पर अनेक त्योहार मनाए जाते है. यहाँ के अधिकतर पर्व हिन्दुओ के है. लेकिन यहाँ के लोगो का आपसी प्रेम बहुत ख़ास है. सभी मिलकर हर त्योहार मनाते है.
  • नववर्ष
  • पोंगल
  • महा शिवरात्रि
  • होलिका दहन
  • होली 
  • गुड़ी पड़वा/उगादी
  • राम नवमी
  • गुड फ्राइडे
  • ईस्टर
  • रमज़ान (रोज़ा)
  • ईद-उल-फित्तर
  • बकरा ईद
  • रक्षा बंधन
  • कृष्ण जन्माष्टमी
  • गणेश चतुर्थी
  • महानवरात्रि
  • मुहर्रम
  • दशहरा
  • कोजागरी लक्ष्मी पूजा
  • दिवाली
  • क्रिसमस डे
  • लुंबिनी उत्सव
इस राज्य में अनेक कवि-कवियत्री हुई है. जिन्होंने अनेक रचनाए की. यहाँ के लेखको ने महाभारत तथा श्रीमद्भागवत गीता का अनुवाद तेलगु भाषा में किया है.

आंध्रप्रदेश राज्य में सबसे अधिक सिनेमाघर स्थित है. जिनकी संख्या लगभग 3000 के करीब है. यहाँ के लोग हर सप्ताह फिल्म देखने को जाते है. यहाँ अनेक फिल्म बनाई जाती है.

इस राज्य में शिक्षा की व्यवसथ काफी समृद्ध है. लेकिन इस राज्य की साक्षरता दर काफी कमजोर है. यहाँ के ६६ फीसदी लोग ही शिक्षित है. शिक्षा की ओर जाग्रति के लिए कई संस्थाने कार्यरत है.

आंध्रप्रदेश राज्य पर्यटन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण राज्य है. इस राज्य को पर्यटन विभाग ''भारत का कोहिनूर '' मानते है. यहाँ अनेक धार्मिक तथा सार्वजनिक स्थल है. जो पर्यटकों को आकर्षित करते है.

इस राज्य में सर्दी ऋतू में यात्रा सबसे अच्छी होती है. क्योकि यहाँ का मौसम इतना ठंडा नहीं होता है. यहाँ के प्रमुख पर्यटन स्थल निम्नलिखित है-
  • अमरावती
  • विशाखापट्टनम
  • तिरुपति
  • कडपा
  • विजयवाड़ा
  • अनंतपुर
  • पुट्टपर्थी साईं बाबा मंदिर
  • श्रीकालाहस्ती
  • नेल्लोर
  • लेपाक्षी मंदिर
  • श्रीकाकुलम
  • चित्तूर
  • कुरनूल
  • ओंगोल
  • अमलापुरम
आंध्रप्रदेश देश का महत्वपूर्ण राज्य है. यदि आपको कभी इस राज्य में घुमने का मौका मिले तो जरुर जाना. इस राज्य का सबसे अधिक खाया जाने वाला भोजन चावल है. साथ ही यहाँ की दाल भी काफी प्रसिद्ध है.

ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख आन्ध्र प्रदेश पर निबंध Essay On Andhra Pradesh In Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.