100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

गणतंत्र दिवस पर निबंध | Essay on Republic Day in Hindi

गणतंत्र दिवस पर निबंध | Essay on Republic Day in Hindi

essay on independence day in Hindi speech on republic day in Hindi paper republic day in Hindi Wikipedia: भारतवर्ष त्योहारों के लिए प्रसिद्ध हैं. अधिकतर त्योहार किसी न किसी धार्मिक उत्सव के लिए होते हैं. जब से भारतवर्ष स्वतंत्र हुआ हैं. तब से कुछ त्योहार राष्ट्रीय भावनाओं के आधार पर प्रचलित हो गये हैं. हमारे कुछ त्योहार देश के महापुरुषों के जन्म या मरण तिथियों पर मनाए जाते हैं. जैसे गांधी जयंती प्रताप जयंती इत्यादि. कुछ पर्व हमारे की दृष्टि से बड़े महत्वपूर्ण हैं. इनमे १५ अगस्त को स्वतंत्रता दिवस और २६ जनवरी को गणतंत्र दिवस का विशेष महत्व हैं.

१५ अगस्त के दिन ही हमारे देश को अंग्रेजों से आजादी प्राप्त हुई. इसी दिन से हमारा देश स्वतंत्र राष्ट्र बना परन्तु २६ जनवरी के दिन भारतीय जनता का शासन अपने द्वारा रचित संविधान द्वारा स्थापित हुआ. इसी दिन सूर्योदय के साथ ही हमारा देश की राजधानी दिल्ली में भारतीय गणराज्य के रूप में नवीन युग का उदय हुआ.

गणतंत्र दिवस की ऐतिहासिक पृष्टभूमि-इसी दिन श्री जवाहरलाल नेहरु ने वर्ष १९२९ में लाहौर में रावी नदी के तट पर कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश सरकार के सम्मुख पूर्ण स्वराज्य की मांग रखी थी. और कहा था कि आज से हम स्वतंत्र हैं. इस प्रकार २६ जनवरी १९३० को सारे देश में झंडा फहराकर पूर्ण स्वराज्य प्राप्ति की प्रतिज्ञा ली गई थी. इसलिए स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश का संविधान २६ जनवरी को लागू किया गया.

मनाने का ढंग-२६ जनवरी के दिन सारे भारत में प्रसन्नता की लहर दौड़ जाती हैं. इस दिन प्रातः से सायंकाल तक प्रत्येक नगर में उत्सव मनाए जाते हैं. और ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं, जिससे देश वासी सामूहिक रूप से भाग लेकर आनन्द मना सके. इस दिन देश भर में छुट्टी रहती हैं. 

शिक्षण संस्थानों में भी ध्वजारोहण किया जाता हैं. जिसमें सब अध्यापक और विद्यार्थी मिलकर भाग लेते हैं. गणतंत्र दिवस के दिन गाँवों और नगरों में प्रभातफेरी निकाली जाती हैं. राज्यों की राजधानियों में राज्यपाल राष्ट्रीय झंडे को फहराते हैं. देश की राजधानी दिल्ली में जनपथ पर यह दिवस बड़े धूमधाम से मनाया जाता हैं. सायंकाल में भी अनेक कार्यक्रम होते हैं.

उपसंहार- इस प्रकार यह राष्ट्रीय पर्व हंसी ख़ुशी के साथ मनाया जाता हैं. यह दिवस हमें इस बात की याद दिलाता है कि हमें अपने राष्ट्र की स्वतंत्रता और लोकतंत्र की रक्षा करनी चाहिए. हमें अनुशासन में रहकर सभ्य नागरिक की तरह आचरण करना चाहिए.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे