100- 200 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

Essay On Bajrang dal In Hindi बजरंग दल पर निबंध

Essay On Bajrang dal In Hindi बजरंग दल पर निबंध: नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है आपने कई बार बजरंग दल का नाम सुना होगा, यह संगठन क्या है कब इसकी स्थापना हुई क्या कार्य करता हैं इसके बारे में पूरे इतिहास को हम बजरंग दल निबंध के बारे में जानेगे.

Essay On Bajrang dal In Hindi

बजरंग दल एक गैर सरकारी राष्ट्रीय स्तर का धार्मिक एवं सामाजिक संगठन हैं. देश दुनियां के करोड़ युवक इसके सदस्य हैं. यह अपने सदस्यों को राष्ट्र भक्ति के लिए प्रेरित करता हैं. अलाभकारी संगठन के रूप में इस संगठन ने समय समय पर देश की सेवा के लिए अपने कदम बढाए हैं.

यह दल मुख्य रूप से हिन्दुओं, महिलाओं तथा गौमाता के प्रति हो रहे अत्याचार के लिए आवाज उठाता हैं. बजरंग दल के प्रत्येक सदस्य में अपने समाज के प्रति इतना घनिष्ठ भाव होता है कि वह अपने धर्म अथवा व्यक्ति पर किसी के आक्रमण का मुकाबला जानी की बाजी लगाकर करता हैं.

यदि आज विश्व भर में हिंदुत्व की गूंज सुनाई पड़ती है तो इसमें बजरंग दल जैसे संगठनों का भी बड़ा योगदान रहा हैं. दल की विचारधारा के अनुसार बाहरी शत्रुओं से हमारी सेना निपट लेगी. मगर आंतरिक दुश्मनों व दीमकों से देश की रक्षा करना भी आवश्यक हैं. 

जिस तरह वामपंथी और अन्य विदेशी धर्मों के लोग निरंतर हिन्दू धर्म और भारतीय संस्कृति को नष्ट करने पर तुले है उससे बचाव के लिए इस संगठन ने अपनी भूमिका तैयार की.

भारत का संविधान सभी को अपने धर्म संस्कृति तथा मूल्यों के अधिकारों की रक्षा के लिए आवाज उठाने या संगठन बनाने का अधिकार देता हैं उसी अधिकार के तहत बजरंग दल भी हिन्दू संस्कृति को बचाने के कार्य में लगा हैं. हिन्दू लड़कियों के साथ लव लिहाज के खेल को बजरंग दल के विरोध का सामना करना ही पड़ता हैं.

हमें हमारे राष्ट्र की संस्कृति हिंदू संस्कृति को बचाने का पूरा अधिकार है । यह अधिकार हमसे कोई नहीं छीन सकता हैं । हम बजरंग दल के अच्छे कार्यकर्ता हैं और हिंदू संस्कृति को हम बचाएंगे ।यदि हिंदू लड़की के साथ कोई अन्याय करता है तो उसको बजरंग दल के विरोध का सामना करना पड़ता है ।

हरेक भारतीय का मानना है कि हमारी पुरातन संस्कृति की रक्षा होनी चाहिए इसी विचार को लेकर बजरंग दल का उदय हुआ था. इसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1984 को उत्तर प्रांत से हुई. बाबरी मस्जिद विवादित ढांचे के संघर्ष के रूप में हिन्दू पक्षकार के रूप में यह दल उभरा.

आज भारत के प्रत्येक राज्य के हरेक जिले और गाँव तक बजरंग दल की शाखाएं एवं इनके सदस्य हैं. एक आंकड़े के मुताबिक़ लगभग 14 लाख सदस्य व 8 लाख सक्रिय कार्यकर्ता बजरंग दल से जुड़े हुए हैं. राम मन्दिर, गौमाता पर हो रहे अत्याचारों के विरोध मूल स्वर हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपनी मूल्यवान राय दे