100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi यात्रा के लाभ पर एस्से

देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi यात्रा के लाभ पर एस्से : नमस्कार मित्रों आज के निबंध में हम देशाटन का अर्थ हिंदी में देशाटन के लाभ जीवन में महत्व लाभ हानि देश विदेश की यात्रा पर निबंध लेकर आए हैं. स्टूडेंट्स इस शोर्ट एस्से निबंध स्पीच भाषण अनुच्छेद आर्टिकल को हिंदी में देशाटन पर निबंध के रूप में पढ़ सकते हैं.

देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi

देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi
हर व्यक्ति की कुछ जिज्ञासाए होती है. उन्ही में से अलग अलग स्थानों की यात्रा करना सभी की जिज्ञासा होती है. नवनीतम स्थानों ओर आकर्षित स्थलों के बारे में जानने की ईच्छा हर कोई करना चाहता है.

यात्रा के उदेश्य से किया गया भ्रमण पर्यटन कहलाता है. पर्यटन हमें सामाजिक, आर्थिक तथा भौगौलिक स्थिति के बारे में अवागत कराता है. आज के समय में पर्यटन सबसे बड़ा मनोरंजन का साधन है.

पर्यटन एक यादगार लम्हा होता है. पर्यटन हमारे जीवन का सुखदायी पल होता है. पर्यटन से हम अपनी इस दुखभरी दुनिया से कुछ समय के लिए आजाद हो सकते है.

आज पर्यटन स्थल से कई लोग जीविका भी चलाते है. और विश्वभर में पर्यटन का खूब प्रसार किया जा रहा है. जिस कारण पर्यटन के महत्व के बारे में हमें जानकारी मिलती है.

तथा लोग विज्ञापन के माध्यम से पर्यटन की ओर आकर्षित होते है. भारत में आज के समय में अनेक पर्यटन स्थल उपस्थित है. जो हमारे मन को हर्षित कर देते है.

भारत की अधिकांश आय पर्यटन स्थलों से ही आती है. भारत में भारतीय पर्यटकों के साथ साथ विदेशी लोग भी यहाँ यात्रा करने के लिए आते है.

हमें अलग अलग स्थलों की यात्रा कर अपने इस जीवन से दूर अलग अलग भाषाओ और संस्कृति खान पान के जीवन में जाकर जीवन में आनंद का अनुभव करना चाहिए. बाहरी यात्रा से हमें नए दोस्त मिलते है.

देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi यात्रा के लाभ पर एस्से 

मनुष्य की अपनी कई मौलिक विशेषताएं होती है जो स्वभाव के रूप में परिलक्षित होती हैं. देशाटन या भ्रमण भी एक ऐसा ही मानव स्वभाव हैं. मानव सदा से यात्रा प्रिय रहा हैं.

उसमें सदैव नयें नयें स्थानों को देखने नयें लोगों से मिलने उनके रहन सहन संस्कृति को नजदीक से समझने की ललक रही हैं.

यही वजह है कि आज के युग में प्रतिदिन लाखों की संख्या में पर्यटक एक स्थान से दूसरे स्थान पर भ्रमण के लिए जाते हैं. कई देशों की अर्थव्यवस्था का आधार ही पर्यटन हैं.

देशाटन शब्द हिंदी के दो शब्दों देश और अटन की संधि हैं. देश का तात्पर्य एक विशिष्ट भौगोलिक प्रदेश से हैं जिनके अपने नागरिक, अतीत, संस्कृति, परिसंपति एवं प्राकृतिक स्वरूप होता हैं.

इन मापदंडों में सभी देश अपनी बनावट के लिहाज से अलग अलग हैं. यही वजह है कि भिन्नता हमेशा आकर्षण पैदा करती हैं. दूसरे शब्द अटन का अर्थ होता है घूमना फिरना.

यानि विभिन्न उद्देश्यों को लेकर एक व्यक्ति द्वारा किसी भौगोलिक प्रदेश में घुमने के लिए जाना देशाटन कहलाता हैं. इसे हम कई अन्य समानार्थी शब्दों यथा भ्रमण, घूमना, टूर, पर्यटन आदि के रूप में भी जानते हैं.

मानव के लिए देशाटन अनेक तरीको से लाभकारी हैं. धरती के किसी कोने में चाहे आप घुमने के लिए जाए कुछ समान लाभ हर स्थिति में प्राप्त होते हैं. देशाटन का पहला फायदा और उद्देश्य मनोरंजन ही होता हैं.

नित्य की जीवन शैली से तरोताजा होने के लिए अमूमन लोग देशाटन पर जाते हैं. इससे असीम ज्ञान की प्राप्ति भी होती हैं नयें एवं महत्व के स्थलों लोगों, संस्कृति, देशों तथा इतिहास से सम्बन्धित स्थलों की यात्रा से जो प्रत्यक्ष ज्ञान मिलता हैं.

वह अन्य किसी माध्यम से प्राप्त नहीं किया जा सकता हैं. देशाटन का एक अन्य लाभ स्वास्थ्य लाभ भी हैं. भ्रमण करने से हमारा मन व मस्तिष्क को सुकून मिलता हैं नयें विचारों का जन्म होता हैं तथा सुख की अनुभूति होती हैं.

देशाटन प्रिय इंसान अपने इस स्वभाव मात्र के कारण प्रकृति के विविध आयामों जीवन के विभिन्न रंगों को करीब से देखने का अवसर पा लेता हैं.

प्रकृति के अनूठे रंग कही पर्वत शिखाएं, कही मरुस्थल, बर्फीले प्रदेश तो कही सागर तट या टापू मन को आह्लादित करते हैं. घने और भयानक जंगल और जंगली जानवर तथा मनोरम नजारों का जो लुफ्त प्रत्यक्ष दर्शन में प्राप्त होता हैं.

वह इटरनेट पर तस्वीरे देखने में कभी नहीं मिलता हैं. वाकई देशाटन व्यक्ति को जीवन के सभी आयामों और हालातों से परिचित कराने के साथ ही उनसे मुकाबला करने तथा उनके अनुसार जीवन जीने का ढंग भी सीखा देता हैं.

यात्राएं सदा ही जोखिम भरी होती हैं अनजाने स्थानों पर जाने में भय तो रहता ही हैं. हम अमुक स्थान वहां के जीवन तथा हालातों से उतने वाकिफ नहीं होते हैं.

लिहाजा कुछ लोग अपने घरों से नहीं निकलते हैं. यदि हम देशाटन के इतिहास और आधुनिक देशाटन की तुलना करे तो आज यह बेहद सरल और सुविधाजनक हो गया हैं.

किसी दूर स्थान की यात्रा करने के लिए वहां के बारें में सामान्य जानकारी होना पहली आवश्यकता माना जाता हैं. पुराने जमाने में चूँकि सूचनाओं के साधन कम थे इस कारण अनभिज्ञता रहती थी.

मगर आज के डिजिटल युग में दुनिया का कोई कोना इन्टरनेट से अछूता नहीं हैं. अपनी यात्रा से पूर्व ही अब होटल आदि बुक किये जा सकते हैं.

प्राचीन समय में यात्रा का मुख्य साधन जल मार्ग ही हुआ करता था. समुद्रों को नौकाओं द्वारा पार करने में महीनों का वक्त लगता था चोर डाकुओं का भय हमेशा रहता था.

स्थलीय यात्राओं के लिए ऊंट, हाथी, घोडा, खच्चर आदि साधन थे मगर आज ऐसा नहीं है हवाई यात्रा के जरिये अल्प समय में संसार के किसी कोने में देशाटन किया जा सकता हैं.

प्रत्येक देश की सरकार अपने यहाँ पर्यटकों के लिए विशेष सुविधाएं यथा सुरक्षा, भोजन, परिवहन ठहरने की व्यवस्था कराती हैं इससे देश विदेश की यात्राएं बेहद सुगम एवं सुरक्षित हो गई हैं.

ये भी पढ़ें

उम्मीद करता हूँ दोस्तों देशाटन पर निबंध Tourism Essay in Hindi यात्रा के लाभ पर एस्से  का यह निबंध आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों देशाटन पर दिया गया निबंध पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.