100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

समाचार पत्र पर निबंध Essay on Newspaper in Hindi

समाचार पत्र पर निबंध Essay on Newspaper in Hindi- नमस्कार दोस्तों आज हम समाचार पत्र पर छोटे बड़े निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लेकर आए है.

समाचार पत्र पर निबंध  Essay on Newspaper in Hindi

समाचार पत्र पर निबंध Essay on Newspaper in Hindi
समाचार पत्र आधुनिक दूर संचार का प्रमुख साधन है. आज हम देश-विदेशी की हर छोटी बड़ी अपडेट रखते है. जिसका मुख्या आधार समाचार पत्र है. जो हमें विश्व के किसी भी देश के बारे में बताते है.

आज इंटरनेट की उपयोगिता काफी बढ़ी है. लेकिन समाचार पत्र को नकार नहीं सकते आज भी लोग भारत में सबसे अधिक समाचार पत्र खरीदते है. जिस कारण यहाँ के लोगो को देश विदेश की तमाम जानकारियाँ पता है.

समाचार पत्र हमें एक दुसरे के साथ जोड़कर रखता है. समाचार पत्र यानी देश विदेश की न्यूज़. समाचार पत्र वह पत्र होता है. जिस पर समाचार लिखित रूप में होते है.

भारत में आप सुबह लोगो को समाचार पत्र पढ़ते हुए पाएंगे. यहाँ के लोगो का पहला कार्य समाचार पत्र पढना होता है. समाचार पत्र को हम सामान्य भाषा में अखबार कहते है.

वैसे तो समाचार पत्र का इतिहास ७ सदी में माना जा रहा है. लेकिन भारत में पहली बार समाचार पत्र 16 सदी में आया था. जिसकी शुरुआत ब्रिटिश सरकार द्वारा की गई थी.

भारत के पहले समाचार पत्र का नाम गजट इंडिया था. बाद में पहला हिंदी समाचार पत्र 1826 में शुरू किया गया. इस समाचार पत्र का नाम उदन्त मार्तन्ड रखा गया. इसके बाद राजा राम मोहनराय द्वारा कौमुदी पत्र की शुरूआती की गई.

समाचार पत्र गुलाम भारत की आजादी का प्रमुख कारण बना. पहले अंग्रेज अपनी हुकूमत के अनुसार समाचार पत्र प्रकाशित करते थे. लेकिन भारतीय सैनानियो ने समाचार पत्र को गुप्त रूप से छपवाकर प्रकशित करना शुरू किया.

देश की एकता में समाचार पत्र की महत्वपूर्ण भूमिका रही. और आज भी किसी भी कार्य या अभियान के प्रति देश के नागरिको को जागरूक करने तथा एकता का परिचय देने में समाचार पत्र का उपयोग किया जाता है.

राष्ट्र निर्माण में समाचार पत्र की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. प्राचीन समय में जब समाचार पत्र नहीं थे. उस समय लोगो को किसी प्रकार की खबर नहीं मिलती थी. जिस कारण वे हर बात से अनजान थे.

समाचार पत्र यानी सभी के साथ समान व्यवहार करने वाला. समाचार पत्र में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाता है. समाचार पत्र में सामाजिक दृष्ट्कोण का प्रयोग किया जाता है.

समाचार पत्र समाज के लिए है. जो समाज को देश से नेताओ से जोड़ता है. नागरिको को देश में हो रही हर घटना के बारे में पुख्ता जानकारी समाचार पत्र से मिलती है.

आज इन्टरनेट के माध्यम से देश विदेश की खबरों को देखा जा सकता है. लेकिन क्रमबद्ध समाचार के लिए लोग समाचार पत्र को खरीदते है. आज समाचार पत्र के जरिये देश के अनेक लोग रोजगार प्राप्त कर रहे है.

सामाचार पत्र एक नियमित अवधि से प्रकाशित होते है. जिसमे कुछ पत्र दिन प्रतिदिन, कुछ सप्ताह से, कुछ 15 दिन से, कुछ मसिकीय, कुछ अर्द्ध साल तो कुछ साल में एक बार प्रकशित होते है.

समाचार पत्र को पूर्णतय आजादी होती है. समाचार पत्र किसी का पक्ष नहीं लेता है. ये घटना की सटीक जानकारी देता है. जो हमारे लिए उपयोगी होती है.

समाचार पत्र मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन है. ये खासकर बड़े बुजुर्गो के लोग जो शारीरिक व्यायाम नहीं कर पाते है. उनके लिए मनोरंजन का साधन बनता है. तथा खबरों के साथ साथ ज्ञान का विकास भी करता है.

अखाबार में न केवल समाचार ही दिए जाते है. वरन इसमे मनोरंजन, सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक और शैक्षिक गतिविधियों को शामिल किया जाता है. जिस कारण इसे हर कोई पढता है.

समाचार पत्रों के माध्यम से कई कम्पनिया अपना प्रचार करती है. आपने कभी समाचार पत्र पढ़ा तो आपने जरुर कई विज्ञापन देखे होंगे, जो विक्रेता द्वारा लगवाए जाते है. जिससे इसका जनता में प्रचार हो सकें.

आज देश में बेरोजगारी बढ़ने के कारण लोगो को रोजगार नहीं मिल पा रहा है. जब भी कोई संस्था या किसी समुदाय द्वारा कोई व्यापार शुरू किया जाता है. तो समाचार पत्र में विज्ञापन लगाया जाता है.

विज्ञापन के माध्यम से लोग जुड़कर रोजगार प्राप्त कर सकते है. कई बार नई भर्ती निकलती है, तो उसका प्रचार भी समाचार पत्र पर किया जाता है. इस प्रकार समाचार पत्र प्रचार का सबसे बड़ा संसाधन है.

समाचार पत्र का अध्ययन करने से हमारे ज्ञान में वृदि होती है. तथा हमें देश की सामाजिक राजनैतिक और आर्थिक स्थिति के बारे में जानकारी मिलती है. 

साथ ही हमें नए जॉब के बारे में भी जानकारी मिलती है. देश के हालही में चल रहर मुद्दे की सच्चाई भी समाचार पत्र में मिलती है. इसलिए समाचार पत्र काफी महत्वपूर्ण है.

Essay on Newspaper in Hindi

आज के हमारे इस जमाने मे होनी वाली हर घटना को दूसरे दिन हम अखबार के माध्यम से जानते है। देश के हाए कोने की खबर हमे घर बैठे मिलती है।

आज के इस युग मे बिना अखबार सबकुछ अधूरा है। अखबार वह वस्तु होती है। जिसे उठते ही लोग पढ़ते है। सबसे पहले उनकी नजर अखबार पर ही जाती है।

ये सम्पूर्ण संसार की खबरों को इकट्टा कर हमारे तक पहुंचाता है। ये हमारे लिए प्रत्येक क्षेत्र की खबरों को हमारे सामने प्रस्तुत करता है। ये हमारे जीवन कौशल मे हमारी सहायता करता है।

ये हमे हर समय नई-नई तकनीकों के बारे मे सरल तथा सुगमता से जानकारी प्राप्त कराता है।  इसमे हमे केटेगरी वाइज़ खबरे देखने को मिलती है।

जिसमे-व्यापारियों, राजनितिज्ञों, सामाजिक मुद्दों, बेरोजगारों, खेल, अन्तरराष्ट्रीय समाचार, विज्ञान, शिक्षा, दवाइयों, अभिनेताओं, मेलों, त्योहारों, तकनीकों तथा जीवन कौशल आदि। के बारे मे हमे सम्पूर्ण अध्ययन कराता है। इसमे करेंट आफेयर्स के प्रश्न भी आते है। 

ये हमारे जीवन के लिए बहुत ही उपयोगी है। ये हमारे लिए एक जरूरत बन गया है। सुबह-सुबह अखबार पढ़ने से मन को शांति प्रदान होती है।

अखबार का प्रकासन अनेक भाषाओ मे किया जाता है। जिसमे हिन्दी, अँग्रेजी तथा गुजराती प्रमुख भाषाओ के अखबार का प्रकसन किया जाता है।

अखबार मे हमेशा सकारात्मक बाते लिखी जाती है। ये हमे देश के हर कोने की न्यूज को हम तक पहुंचाता है। कई लोगो के लिए ये रोजगार का साधन भी है।

समाचार पत्र क्या है? What Is A Newspaper?

समाचार पत्र हमारे सम्पूर्ण संसार मे हो रही प्रमुख घटनाओ का संग्रह होता है। देश के सभी प्रमुख समाचार का लिखित पत्र जिसे बाजार मे प्रयुक्त किया जाता है।

इसे समाचार पत्र  (अखबार) कहते है। खबर को एक स्थान से दूसरे स्थान तक स्थानांतरण करना समाचार पत्र हमे इस संसार की रुचि पूर्ण वस्तुओ की और हमे आकर्षित करता है। ये हमारे भविष्य सुधारक का कार्य करता है।

समाचार पत्र का उपयोग Newspaper Access

पुराने समय मे समाचार पत्र का कार्य मात्र समाचार को हमारे समक्ष रखने का होता था। परंतु आज के जमाने के समाचार पत्र मे तो हर विषय से जुड़ी जानकारी, जीने की राह तथा हमारे लिए उपयोगी सामग्री का विज्ञापन भी दिया जाता है।

समाचार पत्र हर छोटे से छोटे गाँव मे भेजा जाता है।  समाचार पत्र को पढ़ने से हमे नई-नई जानकारिया मिलती है। इससे हमे कई प्रकार की सुविधए मिलती है।

हमारे देश के अलग-अलग इलाको मे इन समाचार पत्र की कीमत तथा भाषा शैली मे बदलाव देखने को मिलता है। जो कि सभी के लिए महत्वपूर्ण है।

सभी राज्यो की भाषा के अनुसार समाचार पत्र की भाषा का निर्धारण किया जाता है। समाचार पत्र की कीमत 5 रुपये है। जो कि हमारे लिए इसकी उपयोगिता को देखते हुए इसकी कीमत बहुत कम है।

समाचार पत्र का प्रयोग लोग अपने अलग-अलग उद्देश्य से करते है। जिसमे कई लोग अपना बिजनेस करने के लिए तथा कई लोग अखबार की प्रमुख खबरों को अपनी वैबसाइट या किसी भी न्यूज चैनल पर उपयोग मे लेते है। 

समाचार पत्र खबरों तथा सूचनाओ का प्रचार-प्रसार करता है। इसका प्रमुख कार्य स्थानांतरण का होता है। ये बहुत ही शक्तिशाली तथा प्रेरणादायक है। ये हमे हर नई घटना को सूचित कराता है।

समाचार पत्र का इतिहास History Of Newspaper

हमारे देश मे अखबार की उत्पति अंग्रेज़ो ने की थी। अंग्रेज़ो ने हमारे देश मे अखबार का विकास किया था। हमारे देश का प्रथम अखबार 1780 में कोलकाता में प्रकाशित किया गया था।

इस समाचार पत्र के संपादक जेम्स हिक्की थे। उन्होने इस समाचार पत्र का नाम "दी बंगाल गैजेट" रखा था। इसके बाद ये समाचार पत्र हमारे देश के लोगो को प्रिय लगा। 

कई लोगो ने खुद अखबार छपने शुरू कर दिये। इसके बाद समाचार पत्र का विकास हमारे देश मे होने लगा। अंगेजों के द्वारा शुरू किए गए इस अखबार की वजह से ही जनता ने एक जुट होकर अखबार छापकर सभी को अंगेजों के विरोध खड़ा किया और अंगेजों को हमारे भारत से मार भगाया। 

हमारे देश को आजाद कराने मे अखबार महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। प्रथम अखबार अंगेजी भाषा मे लिखा गया था। परंतु आज हमारे देश मे हर भाषा के अखबार का सम्पादन किया जाता है।

समाचार पत्र के प्रकार 

समाचार पत्र अनेक प्रकार के होते है। जिसमे हम उनका समय अवधि के अनुसार विभाजन करेंगे। अधिकांश पत्र हर रोज प्रकाशित होते है। जैसे दैनिक भास्कर आदि।

कई सप्ताह मे 2 बार प्रकाशित किये जाते है। जिन्हे अर्द्ध साप्ताहिक समाचार पत्र कहते है। कई माह मे दो बार प्रकाशित होते है। जिन्हे अर्द्ध मासिक तथा माह मे एक बार प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र को मासिक समाचार पत्र होता है।

समाचार पत्र का महत्व Importance Of Newspaper

समाचार को पढ़ने मे बहुत मज्जा आता है। इसमे अनेक सकरत्मक बाते लिखी होती है। जिसे पढ़ने से हमे और पढ़ने की रुचि पैदा होती है। कई लोगो के लिए अखबार पढ़ना उनके लिए शौकीन बन गया है।

इसका अधिकांश उपयोग बच्चो तथा बूढ़े लोगो करते है। एक विद्यार्थी के लिए अखबार बहुत ही उपयोगी होता है। उसे अखबार से सामान्य जानकारी प्राप्त होती है।

अंगेजी के अखबार को हम हर रोज पढ़ेंगे तो हमे अँग्रेजी भाषा बोलने मे कठिनाई नहीं होगी। अखबार समाचार के प्रसार-प्रचार का सबसे बड़ा साधन होता है।

ये हर न्यूज को दुनिया के हर कोने मे खबर को पहुंचाने मे सक्षम होता है। हमारे जीवन को सफल तथा सुखी बनाए रखने मे समाचार पत्र का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है।

राजनीति की सभी गतिविधियों की जानकारी 

समाचार हमारे लिए मनोरंजन के साधन के साथ ही ये हमे राजनेताओ के बारे मे संवाद कराने मे सहायक है। हमारे देश मे लोगो का शासन है।

इसलिए हमे हर नए मुद्दे के बारे मे जानकारी रखनी चाहिए। यदि कोई नेता गलत मुद्दे पर चल रहा है। तो हम उसका वोरोद्ध कर सकते है। 

यदि अखबार नहीं होता तो हमे देश मे क्या मुद्दा चल रहा है। क्या वह हमारे लिए लाभदायक है। या इससे हमे नुकसान होगा। आदि हमे इसके बारे मे जानकारी भी नहीं होती जो चाहे नेता कर लेते। हम अखबार के माध्यम से अपनी सरकार से बातचीत कर सकते है।

समाचार पत्र का सकारात्मक प्रभाव Positive Impact Of Newspaper

समाचार पत्र हमारे जीवन बहुत ज्यादा प्रभावित करता है। हमारे जीवन मे समाचार पत्र बहुत ही उपयोगी है। अखबार से सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

ये हमारे देश के सभी नीति-नियमो, कानूनों तथा हमारे अधिकारो के बारे मे हमे जानकारी देता है। ये हमारे जीवन को भी प्रभावित करता है। 

इसमे हर रोज नए-नए महान लोगो के बारे मे हमे बताते है। जिससे हमारे जीवन मे कुछ कर दिखाने का हुनर पैदा होता है। ये हमारे जीवन के पड़ाव तथा हमे अपना कार्य के प्रति ध्यान की प्रति हमे आकर्षित करता है। प्राकृतिक वातावरण के बारे मे नए-नए जानकारिया देता है। 

हमे किस पेड़ को कहा लगाना चाहिए। हमे अपने देश को स्वच्छ कैसे बनाए आदि अनेक देश तथा हमारे लिए परोपकारी जानकारिया दी जाती है।

जिससे हम मोटिवेत होते है। अच्छे लोगो के बारे मे पढ़ने से हमारे अंदर की कमिया हमे महसूस होती है। और हम इसमे सुधार का प्रयास करते है।

समाचार पत्र से होने वाले लाभ तथा हानि Profit And Loss From Newspaper

यदि सीखने वाला हो तो हमारे जीवन मे हमे हर वस्तु से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। हम एक ही वस्तु का सुदुपयोग किया जाए तो हम उससे लाभ प्राप्त कर सकते है। और उसी का दुरुपयोग कर हम हानि प्राप्त करते है।

लाभ-(Profit)

हमे देश-विदेश की हर घटना के बारे मे जानकारी प्राप्त होती है। हमारा मनोरंजन भी होता है। हमे ज्ञान प्राप्त होता है। हमे देश के द्वारा की गई नई खोज तथा सरकार का निर्णय अगला कार्यकर्म, परीक्षा कब होगी, आदि अनेक प्रकार के लाभ होते है।

हमारे जीवन मे आर्थिक कमी आने पर क्या करे। अपना जीवन, अपनी आदते तथा अपनी खासियत पहचानने का हमे बहुत बड़ा लाभ होता है। 

हानि (Loss)

समाचार पत्र मे हर रोज अनेक दुर्घटनों आती है। जिससे व्यक्ति के जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। सरकार की गलत नीतीया आदि समाचार पत्र मे छापी जाती है। तब सभी लोगो का सरकार के प्रति घृणा करने लगते है। और चारो ओर का माहौल खराब हो जाता है।

उपसंहार 

आज के जमाने मे लोगो की सबसे लोगप्रिय तथा सस्ती व्यवस्था समाचार पत्र है। इसमे लोगो को अनेक नई-नई जानकारिया प्राप्त होती है। इसे अपने जीवन मे उतारकर लोग अपना जीवन सफल बना सकते है।

समाचार पत्र के प्रकोप से नेता भी डरते है। आधुनिक युग मे समाचार पत्र का महत्व सबसे अधिक माना जाता है। बिना समाचार पत्र जीवन अधूरा है।

ये भी पढ़ें
उम्मीद करता हूँ, दोस्तो आज का हमारा लेख समाचार पत्र पर निबंध  Essay on Newspaper in Hindi आपको अच्छा लगा होगा, यदि आज के लेख आपके लिए प्रेरणादायक था। इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करें।