100- 200 Words Hindi Essays 2022, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

दूरदर्शन पर निबंध | Television Essay in Hindi

दूरदर्शन पर निबंध | Television Essay in Hindi :आज के युग में विज्ञान ने आश्चर्यजनक प्रगति की है अब नई नई वस्तु का आविष्कार हो रहा है दूरदर्शन या टेलीविज़न भी विज्ञान का अनोखा वरदान है.

दूरदर्शन पर निबंध Television Essay in Hindi

दूरदर्शन पर निबंध | Television Essay in Hindi
टेलीविजन जिसे हम आम भाषा में दूरदर्शन कहते है. ये ऑनलाइन सिस्टम होता है. जो उपग्रह की तरंगो के माध्यम से चलता है. जिससे हम दूर की वस्तुओ को टीवी में नजदीक से देख सकते है.

दूरदर्शन से देखि गई वस्तुए हमें वास्तविकता का आभास कराती है. पहले के समय में सफ़ेद चित्र और विडियो देखे जाते थे. जिससे अन्य कोई रंग शामिल नहीं होता था. लेकिन आज दूरदर्शन में हर रंग की वीडियोस देखने को मिलती है.

दूरदर्शन हमारे लिए मनोरंजन का एक साधन है. आज दूरदर्शन पर हजारो चैनल बन गए है, जो हमारा मनोरंजन करने के लिए समय समय पर वीडियो प्रस्तुत करते है.

इस प्रकार दूरदर्शन अनेक लोगो के लिए व्यवसाय का साधन भी है. दूरदर्शन केवल बच्चो के लिए ही नहीं बल्कि ये युवा तथा बूढ़े लोगो के लिए भी अलग अलग कार्यक्रम प्रस्तुत करता है.

दूरदर्शन की सहायता से हम घर बैठे न केवल धोनी चुन सकते हैं अपितु बोलने वाले का चित्र भी देख लेते हैं दूरदर्शन आज मनोरंजन और ज्ञान वर्धन का लोकप्रिय साधन दूरदर्शन का प्रचार दूरदर्शन का सर्वप्रथम प्रयोग 25 जनवरी 1926 को इंग्लैंड के इंजीनियर जॉन बेयर्ड ने किया था.

हमारे देश में टेलीविजन का प्रसारण सन 19 59 से से प्रारंभ हुआ विकास इतनी तीव्र गति से हुआ कि आज सारे भारत में दूरदर्शन का प्रसारण हो रहा है और इनसैट आदि अनेक भू उपग्रह द्वारा इसके कई चैनल दिखाए जा रहे हैं.

मनोरंजन जन- जागरण शिक्षा के क्षेत्र में यह बहुत उपयोगी माना जा रहा है दूरदर्शन की उपयोगिता एवं लाभ वर्तमान काल में रेडियो की तरह दूरदर्शन समाचारों का प्रसारण किया जा रहा है इसमें अनेक कार्यक्रम दिखाए जाते हैं.

जैसे समाचार कृषि दर्शन नाटक सुगम संगीत प्रश्नोत्तरी चौपाल महिलाओं के लिए घर आंगन कार्यक्रम शिक्षा का प्रसारण क्रिकेट आदि के प्रमुख मैच विविध क्षेत्रीय राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं धारावाहिक आओ और फिल्मों का प्रसारण आदि अतः जन जागरण ज्ञान वर्दी शिक्षा प्रचार तथा मनोरंजन आदि की दृष्टि से दूरदर्शन अति उपयोगी और लाभप्रद है.

इससे व्यवहारिक ज्ञान के साथ सामाजिक चेतना का विकास हो रहा है दूरदर्शन का दुष्प्रभाव एवं हानि दूरदर्शन का दुष्प्रभाव यह है कि नवयुवक अबोध किशोर फिल्म एवं धारावाहिक मैं प्रचारित मारधाड़ की दृश्यों की नकल करने लगे हैं वे कुसंगति में पढ़कर अपना आचरण खराब कर रहे हैं.

बच्चे हर समय टेलीविज़न देखते रहते हैं इससे वे पढ़ाई से भी चुराते हैं अश्लील दृश्य को देखकर नवयुवक नवयुवक नवयुवकतियों के चरित्र पर बुरा असर पड़ रहा है.

फैशन परस्ती बढ़ रहीहै इससे भारतीय संस्कृति पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है इस प्रकार दूरदर्शन से लाभ की बजाए हानी अधिक हो रही है.

उपसंहार आज के युग में मनोरंजन की दृष्टि से दूरदर्शन का विशेष महत्व है दूरदर्शन से दूर विदेशों के समाचार मौसम तथा अन्य प्रमुख घटनाओं की जानकारी तुरंत हो जाती है.

इससे जनता की ज्ञान की वर्दी भी होती है परंतु नव युवकों एवं नव युवतियों पर इसका दुष्प्रभाव पढ़ रहा है ऐसे दुष्प्रभाव से मुक्त रहने पर ही दूरदर्शन का सामाजिक जीवन में महत्व बढ़ सकता है.

दूरदर्शन एक ऐसा संसाधन है, जो हमें अच्छे कर्म के लिए प्रोत्साहित करता है. दूरदर्शन के कार्यक्रम हमें नवीनतम जानकारिय उपलब्ध करवाता है. जिससे हमारा जिज्ञासाए बढती है.

दूरदर्शन के माध्यम से आज हम घर बैठे लाइव खबरे तथा लाइव प्रसारण देख सकते है. तथा ऑनलाइन स्टडी कर सकते है. जो हमारे लिए अत्य उपयोगी साबित हो सकते है.

ये भी पढ़ें
प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख दूरदर्शन पर निबंध | Television Essay in Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.