100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी पर निबंध Essay On Coronavirus In Hindi For Student

कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी पर निबंध- नमस्कार दोस्तो आज हम कोरोना महामारी पर निबंध के माध्यम से सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। आज का हमारा निबंध विद्यार्थियो के लिए परीक्षाओ मे उपयोग होगा। इसका प्रयोग आप परीक्षा या प्रतियोगिता मे कर सकते है।

कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी पर निबंध Essay On Coronavirus In Hindi For Student
कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी पर निबंध Essay On Coronavirus In Hindi For Student

short Essay On Coronavirus In Hindi

कोरोना एक संक्रामक रोग है, जो एक व्यक्ति से दुसरे में व्यक्ति में फ़ैल रहा है. जिस कारण आज पुरे संसार में इस महामारी का संकट बना हुआ है.

कोरोना एक वायरस जनित रोग है। इसके भयानक रूप के कारण इसे महामारी का नाम दिया गया। कोरोना वायरस की शुरुआत चीन शहर से हुई। 2019 मे उत्पन होने के कारण इसे कोविड19 कहते है।

इस बीमारी की शुरुआत

कोरोना नामक इस महामारी का जन्म चीन मे हुआ था। ये वायरस दिसम्बर 2019 मे आया था। इस महामारी के लक्षण निमोनिया बीमारी के जैसे है।

जिस कारण इस महामारी को पहचान नहीं पाये। बाद मे वैज्ञानिको ने पता लगाया कि ये एक महामारी है। जो कि सीवियर एक्यूट रेस्परेटरी सिंड्रोम कोरोना वायरस 2 या सार्स कोरोना वायरस-2 के रूप उत्पन्न हुआ है।

वर्तमान आकड़ों के अनुसार 85 फीसदी लोग बिना वैक्सीन के ठीक हो रहे है। इस महामारी को हमे गंभीरता से लेना चाहिए। क्योकि ये जानलेवा बीमारी है। हम उम्मीद करते है। कि जल्द ही हम इस महामारी को परारस्त करें। 

क्या है कोरोना वायरस के लक्षण ?

कोरोना वायरस के लक्षण शरुआत के कई दिनों तक दिखाई नहीं देंगे. पर जब मरीज के शरीर को वायरस शक्ति ग्रस्त कर देगा. तब इसके लक्षण देखेंगे.

खांसी का निरंतर आना- इस वायरस का प्रमुख लक्षण खासी का निरंतर आना इस वायरस के संक्रमित व्यक्ति को लगातर खांसी लगातार कई घंटो तक खांसी आती है. जिस पर नियंत्रित भी नहीं किया जा सकता है. 

तेज बुखार आना- इस वायरस का एक लक्षण ये भी है. कि इसमे तापमान बढ़ जाता है. जिस कारण व्यक्ति के शरीर का तापमान बहुत अधिक बढ़ जाता है. और बुखार की समस्या उत्पन होती है.

गंध तथा दुर्गन्ध का महसूस न होना- इस वायरस से व्यक्ति को गंध तथा दुर्गन्ध का अनुभव नहीं होता है. तथा वह स्वाद को भी महसूस नहीं कर पाता है.

जरुरी नहीं है.कि ये सभी लक्षण प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति में हो. कई बार एक भी लक्षण नहीं पाया जाता है. फिर भी लोग कोरोना के शिकार होते है.

कैसे फैलता है कोरोना वायरस ?

कोरोना वायरस एक संक्रमित रोग है. ये एक  व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति में फैलता है. इसी कारण ये सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित लोगो के संपर्क में आने से होता है.

कोरोना सक्रमित व्यक्ति के खांसने तथा छींकने  से पास में बैठे व्यक्ति के पास चला जाता है. और वह व्यक्ति अपना हाथ जब भी मुंह पर या नाक पर लगाएगा. जैसे ही ये श्वसन प्रक्रिया के द्वारा शरीर में प्रवेश कर लेता है. 

संक्रमित व्यक्ति से हाथ मिलाने या एक ही बर्तन में खाना खाने से भी ये फैलता है. संक्रमित व्यक्ति से हाथ मिलाने पर वायरस हमारे हाथो में प्रवेश करते है.

पर हाथो में वायरस प्रवेश से हमें कोरोना नहीं होता है. जब हम उसी हाथो को अपने नाक पर लगाते है. तभी वे वायरस हमारे शरीर में प्रवेश करते है. 

इसलिए हमारी सरकार ने ३ गज की दुरी बनाये रखने तथा मास्क पहनने के नियमो को जरुरी किया है. इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए हमें सतर्क रहना होगा.

और किसी भी व्यक्ति से हाथ नहीं मिलाना तथा हर समय नियमित रूप से मास्क और सेनेटाईजर का प्रयोग करना.ही कोरोना को रोक सकता है.

कोरोना से बचाव के उपाय

  1. सरकार द्वारा बनाई गई दिशा निर्देशों का पालन करें।
  2. समय-समय पर हाथ धोए।
  3. दिन मे दो बार पानी उबालकर सेवन करें।
  4. हर समय मास्क का प्रयोग करें।
  5. 2 गज की दूरी बनाए रखें।
  6. जहां तक संभव हो घर से बाहर न जाए।
  7. सेनेटाइजर का छिड़काव करें। तथा अपने हाथो पर लगाए।
  8. बाजार जाने पर किसी वस्तु को स्पर्श न करें।
  9. अपनी बारी आने पर वैक्सीन का लगवाए।
  10. कोरोना संक्रमित व्यक्ति के पास न जाए। 

आपकी नाक और मुंह अतिसंवेदनशील हैं

कोरोना की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना हमारे शरीर में प्रवेश नाक या मुंह द्वारा करता है. इसीलिए हमें मास्क पहनना जरुरी है. जिससे कोई वायरस अपने किसी अन्य शरीर के अंग पे लगे है.

तो भी हम सेनेटाईजर का प्रयोग कर संक्रमित होने से बच सकते है. ये वायरस मुंह तथा नाक से ही प्रवेश करता है. इसलिए हमें हमेशा अपनी सुरक्षा के लिए मास्क को पहनना चाहिए. 

ये वायरस शरीर में प्रवेश करते ही शरीर के सभी अंगो को प्रभावित करता है. कुछ दिन तक ये वायरस शरीर में रहने पर शरीर का क्षय करना शुरू कर देते है. और मौत भी हो सकती है.

उपसंहार :- कोरोना वायरस की वजह से हमारे देश मे आर्थिक गतिविधियों का प्रभाव नजर आ रहा है। ये वायरस ज्यादा दिन तक शरीर मे जिंदा नहीं रह पता है।

ये रोग सामने आने के बाद बाजार मे सबसे ज्यादा मास्क और सैनेटाइजर बिकने लगे है। इसे लोग बहुत-ही ज्यादा खरीद रहे है।

झूठी अपवाओ से बचें। तथा अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करें। जैसा की अभिताब बच्चन ने कहा कि ''जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं'' हमे इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए। ताकि हम इस महामारी को निपटा सकें।

ये भी पढ़े

प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी पर निबंध Essay On Coronavirus In Hindi For Student आपको पसंद आया होगा, यदि अच्छा लगा तो दोस्तों के साथ शेयर करें.