100- 200 Words Hindi Essays 2021, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech Short Nibandh Wikipedia

भारत में महिला शिक्षा पर निबंध Women Education In India Essay In Hindi

महिला शिक्षा पर निबंध Women Education In India Essay In Hindi- आज के इस युग में शिक्षा का बहुत महत्व माना जाता है. आज इस दुनिया में कोई विकसित देश है. तो उसका कारण शिक्षा ही है. देश को विकसित बनाने के लिए शिक्षा का होना सबसे आवश्यक है. आज हम महिला शिक्षा के बारे में पढेंगे.

भारत में महिला शिक्षा पर निबंध Women Education In India Essay In Hindi

भारत में महिला शिक्षा पर निबंध Women Education In India Essay In Hindi
आज के समय में हमारे देश में महिला शिक्षा की ओर ध्यान देना आवश्यक है. और भारतीय सरकार इसके लिए अभियानों और कार्यक्रमों द्वारा अनेक प्रयास भी कर रही है. जिसके परिणामस्वरूप प्राचीन समय की तुलना में आधुनिक महिलाए काफी शिक्षित हुई है.

महिला साक्षरता का आंकड़ा बढ़ रहा है. जो अच्छा संकेत है. सामाजिक तथा आर्थिक रूप से महिलाओ का शिक्षित होना आवश्यक है. हमारा समाज समान रूप से चलता है, जो भूमिका एक पुरुष की होती है.

वही भूमिका एक महिला की भी होती है. इसलिए महिलाओ को समान अवसर देने की जरुरत है. जब तक भारतीय महिलाए शिक्षित नहीं होगी. देश का विकास नहीं हो सकता देश की साक्षरता नहीं बढ़ सकती है.

एक छोटे बच्चे के भविष्य और उसकी शिक्षा का सबसे अधिक ख्याल उसकी माँ का होता है. माँ बच्चे को बचपन से ही शिक्षा का पाठ पढ़ाती और उन्हें शिक्षित बनाने में माँ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है.

इसलिए जब माँ खुद शिक्षा से परिपूर्ण होगी, तो वह अपनी संतान को अच्छा ज्ञान देने में समर्थ रहेगी. और एक शिक्षित माँ की संतान हमेशा संस्कारवान और शिक्षित ही होती है. क्योकि माँ उसे हमेशा अच्छा ज्ञान और संस्कार देती है.

जो जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होते है. इसलिए आज की युवा पीढ़ी को शिक्षित बनाने में महिलाओ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है.माँ अपनी शिक्षा और ज्ञान से संतान को अच्छी काबिलयत देती है.

आज हमारे देश में महिलाओ की साक्षरता दर 60% से अधिक है. जो पिछले दशको से काफी बढ़ा है. पर कुछ राज्यों में आज भी अशिक्षित महिलाए देखने को मिलती है. महिलाओ की साक्षरता दर गाँवों में बहुत कम है. 

क्योकि वहा के लोग महिलाओ को अवसर नहीं देते है. और महिलाओ को केवल बच्चो का जन्म और उनका पालन पोषण करने तक ही मान्य माना जाता है. भारत के सबसे साक्षर राज्य केरल में केवल पुरुष शिक्षित नहीं है. वहा महिलाए भी शिक्षित है.

कुछ लोग ,महिलाओ की शिक्षा का कोई महत्व नहीं समझाते है. आज हमारे देश में महिलाओ के साथ हो रहे अपराध बलात्कार, लूटमार,भ्रूण हत्या तथा लिंग भेद आदि अनेक समस्याए महिलाओ के शिक्षित होने से कम होगी.

आज हम जो अपराध महिलाओ के साथ होते देख रहे है. कल यदि ये महिलाए शिक्षित बनी तो हमें इन अपराधो में कमी होती नजर आएगी. आज शहरी इलाको में अपराध कम हो रहे और और ग्रामीण इलाको में बढ़ रहे है. इसका प्रमुख कारण महिलाओ की शिक्षा की कमी ही है.

एक शिक्षित महिला आत्मनिर्भर होती है. जो अपना जीवन खुद के बल पर व्यतीत कर सकती है. इसलिए तलाक जैसे अपराध यहाँ से खत्म हो जायेंगे. आज जिन कार्यो में महिलाओ को स्वीकार नहीं किया जाता है.

कल शिक्षित महिलाए उसी कार्य का नेतृत्व करती नजर आएगी. जिससे घर और राष्ट्र की आर्थिक स्थिति में काफी सुधर आएगा. इसलिए महिला शिक्षा की ओर ध्यान देना जरुरी है.

महिला शिक्षा के प्रभाव
  • यदि महिलाए शिक्षित होती है, तो महिलाओ के साथ होने वाले अपराध कम होंगे.
  • महिलाओ को सामाजिक रूप से उत्पीडित नहीं किया जाएगा.
  • एक शिक्षित महिलाए आत्मनिर्भर होती है. इसलिए वे घर की आर्थिक स्थिति में सुधार ला सकती है.
  • सामाजिक कुप्रथाओ से छुटकारा पाया जा सकता है.
  • दहेज प्रथा जैसे अपराध पर रोक लगाना.
  • शिक्षित महिला अपने कार्यो से महिलाओ के महत्व को दर्शा सकती है.
  • एक उच्च शिक्षित महिला नौकरी प्राप्त कर घर चला सकती है.
  • महिला शिक्षित होकर समाज को शिक्षा से परिपूर्ण बना सकती है.
उपयुक्त आर्टिकल से हम इस निष्कर्ष पर पहुँच जाते है. कि महिलाओ की शिक्षा से ही एक राष्ट्र ओर एक समाज का विकास किया जा सकता है. आज हम महिलाओ की शिक्षा पर जोर देकर उनकी स्थिति में सुधार ला सकते है.

महिला शिक्षा पर निबंध Women Education Essay In Hindi

महिला शिक्षा पर निबंध Women Education Essay In Hindi
आज किसी भी देश को विकसित बनना है. तो उस देश में शिक्षा का प्रचार सबसे ज्यादा होना जरुरी है. शिक्षा ही आज के ज़माने में सबकुछ होती है. शिक्षा के बिना हमारा जीवन व्यर्थ है.

शिक्षा एक ऐसी औषधि है. जो व्यक्ति के जीवन में हर समय काम आती है. शिक्षा से ही एक व्यक्ति सुखी जीवन व्यतीत कर सकता है. देश को शिक्षित बनाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका महिलाओ की होती है.

जिस देश में महिला साक्षरता अधिक है. वहा शिक्षित लोग भी अधिक होते है.आप कनाडा का उदहारण ले सकते है. आज का सबसे शिक्षित देश कनाडा है. और इसका कारण कनाडा के महिला साक्षरता का अधिक होना.

भारतीय सरकार भी महिला साक्षरता पर बहुत ध्यान दे रही है. और इसके लिए अनेक नई-नई योजनाए चला रही है. जिसमे-बालिका शिक्षा,बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना आदि अनेक योजनाए चलाई जा रही है. जिससे भारतीय महिला साक्षरता में काफी वद्धि भी हुई है. 

किसी भी व्यक्ति का प्रथम  शिक्षक उसकी माता होती है. बच्चे को शुरुआती संस्कार माता द्वारा मिलते है. यदि बच्चे की माता शिक्षित हुई तो वह अपने बच्चे को बचपन से ही ज्ञान का पढ़ाने में सक्षम होगी.

शिक्षित महिला का सकरात्मक तथा नकारात्मक प्रभाव उसकी संतान पर पड़ता है. इसी कारण महिला में शिक्षा हुई तो उसके बच्चे पर बचपन से ही सकारत्मक प्रभाव देखने को मिलेगा. 

भारत में महिला शिक्षा का महत्व

किसी भी बच्चे का प्रथम शिक्षक उसकी शिक्षा पर निर्भर करता है. बच्चे का प्रथम शिक्षक यानि उसकी माता ही अपने बच्चे को मान-मर्यादा के बारे मी सिखाती है. यही कारण है. कि शिक्षित परिवार के बच्चे बचपन से संस्कारवान होते है.

कई लोग सोचते है. शिक्षित परिवार में बच्चे शिक्षित ही जन्म लेते है. जो कि शरासर गलत है. कोई भी शिक्षित पैदा नहीं होता है. जो बच्चे अपने माता-पिता से बचपन से संस्कार लेने में सक्षम रहते है. वे अपने भविष्य को सवांरने में भी सक्षम होते है.

महिला शिक्षा के स्तर में वद्धि नहीं हो सकी तो हमारे भविष्य के लिए ये चिंता का विषय हो सकता है. एक अशिक्षित महिला से अनेक बच्चो पर उसका असर पड़ता है.

अशिक्षित महिला के पास अपने बच्चो को संस्कार वान बनाने तथा बच्चे की क्षमता को पहचानने की क्षमता नहीं होती है. इसी कारण उसकी संतान भी समय पर संस्कार प्राप्त नहीं कर पाने के कारण कमजोर रह जाता है.

महिला शिक्षा से समाज में होने वाले अनेक अपराधो से छुटकारा पाया जा सकता है.  महिला शिक्षा से हमें सामाजिक तथा आर्थिक लाभ भी होते है. एक शिक्षित महिला अपने परिवार अपने बच्चो तथा अपनी समाज को संभाल सकती है.

वे अपनी समाज में हो रहे अनगिनत अपराधो की निवारण कर सभी को ज्ञान वर्धक बना सकती है.तथा लोगो के आपसी विवाद को सुलझाने में लगने वाले समय तथा आर्थिक पैसो की बचत की जा सकती है. शिक्षित महिला से हमारी सामाजिक प्रगति भी होती है.

महिला शिक्षा के कारण

एक शिक्षित महिला अपने परिवार ही नहीं बल्कि पुरे राष्ट्र को शिक्षित बनाने में अपना अहम योगदान दे सकती है. एक महिला से एक राष्ट्र को शिक्षित बनाया जा सकता है.

देश को शिक्षित बनाने के लिए महिला शिक्षा एक महत्वपूर्ण संसाधन है. हमारे देश की महिला साक्षरता बहुत कम होने के कारण हमारा देश प्रगति नहीं कर पा रहा है.

शिक्षा ही देश के विकास की कुंजी है.हालाँकि हमारे देश में महिला शिक्षा पर बहुत ध्यान दिया जा रहा है. पर देश के विकास में पुरुषो की शिक्षा भी अनिवार्य है. महिला और पुरुष दोनों एक ही सिक्के के पहलू है.

हमारे देश में महिला तथा पुरुष दोनों को सामान अवसर मिल रहे है. जब तक दोनों पक्ष शिक्षित नहीं होंगे, तब तक देश का विकास नहीं हो सकता तथा शिक्षा के स्तर में वद्धि नहीं हो सकती है. इसलिए महिला पुरुष दोनों को सामान अवसर मिले. तथा आने वाले कुछ ही सालो में हमारा देश पूर्ण रूप से शिक्षित हो.

हमारे देश को महिला साक्षरता का स्तर बहुत कम है. इसलिए हमारे देश में महिलाओ की शिक्षा पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है. हमारे देश के उज्जवल भविष्य के लिए महिलाओ का शिक्षित होना सबसे महत्वपूर्ण है.

महिलाओ को शिक्षित बनाकर पूरा देश शिक्षित बनाया जा सकता है. हर व्यक्ति अपनी प्रथम सिख अपनी माता से ही प्राप्त करता है. इसलिए जो माता के संस्कार होंगे. वही संस्कार उसके बच्चे में निखरते है.

बच्चे का बचपन से ही बड़ा टारगेट बनाया जाता है. बचपन से ही बच्चे को माता बड़े बनने को सिखाती है. एक महिला शिक्षित होकर पुरे समाज को  शिक्षित बना सकती है. महिला दो घरो  को संभालती है.

आज शिक्षा के लिए जो अधिकार पुरुषो को दिए जा रहे है. वह सभी अधिकार महिलाओ को मिलने चाहिए. महिला पुरुष देश के विकास के लिए साइकल के पहियों की तरह कार्य करते है. एक पहिया कुछ भी नहीं कर सकता है. उसी प्रकार देश के विकास में महिला पुरुष दोनों का शिक्षित होना जरुरी है. 

शिक्षा प्राप्त करने का उद्देश्य नौकरी प्राप्त करना ही नहीं होता है. शिक्षित व्यक्ति हर क्षेत्र में कार्य करने में सक्षम होता है. शिक्षित व्यक्ति देश के अधिकारों के बारे में जानकारी विचार कर सकते है. उस पर टिप्पणी कर सकते है. 

समाज के लोगो को उसके बारे में समझा सकते है. आज के ज़माने में लोगो को बेटियों बोझ लगती है. और कल इन्ही बेटियों को शिक्षित बनाये जाये तो सभी को अपनी बेटियों पर गर्व होगा. तथा बेटियों को बोझ समझने वाले व्यक्तियों की आँखे खुल जाती है. महिलाओ की शिक्षा देश को विकास के पथ पर ला खड़ा करती है.

ये भी पढ़ें
उम्मीद करता हूँ, दोस्तों आज का हमारा लेख,निबंध,अनुच्छेद,पैराग्राफ  भारत में महिला शिक्षा पर निबंध Women Education In India Essay In Hindi आपको पसंद आया होगा. आज का हमारा लेख आपको अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. तथा नारी शिक्षा को बढ़ावा देने में अपना योगदान देवे.